BNT

BNT



जोधपुर.भंवरी अपहरण मामले में सीबीआई ने कांग्रेस के नेताओं से पूछताछ आरंभ कर दी है। रविवार को पीसीसी के पूर्व सदस्य परसराम विश्नोई को सर्किट हाउस बुला कर दो घंटे तक पूछताछ की। परसराम लूणी विधायक मलखानसिंह विश्नोई के भाई तथा बिलाड़ा की प्रधान कुसुम विश्नोई के पति हैं। सीबीआई ने इस मामले में सरेंडर करने वाले मुख्य सूत्रधार शहाबुद्दीन से दिल्ली मुख्यालय में गहन पूछताछ की थी।

सूत्रों के अनुसार इंटेरोगेशन और लाई डिटेक्टर टेस्ट में उसने कांग्रेस के तीन नेताओं के नाम बताए थे। परसराम से पूछताछ के दौरान भी वह मौजूद था। शहाबुद्दीन ने बताया कि भंवरी पिछले काफी समय से लूणी विधायक मलखानसिंह के लिए परेशानी बनी हुई थी। विधायक का भाई परसराम और पीएचईडी ठेकेदार सोहनलाल इस परेशानी को खत्म करना चाहते थे। भंवरी के मोबाइल की कॉल डिटेल में भी परसराम के दो मोबाइल नंबरों पर अगस्त माह और 1 सितंबर तक कुल 22 कॉल मिली थी।

अपहरण के दिन भी शाम करीब चार बजे भंवरी और परसराम की मोबाइल पर दो बार बातें हुई थी। इन तथ्यों की पुष्टि करने के लिए सीबीआई ने रविवार को परसराम विश्नोई को पूछताछ के लिए सर्किट हाउस बुलाया। वहां उससे शाम करीब साढ़े चार बजे तक पूछताछ की गई। इसके बाद परसराम सीधे अपने भाई विधायक मलखानसिंह के घर चले गए।

,आज कोर्ट में पेश करेंगे


शहाबुद्दीन ने 22 अक्टूबर को सीबीआई की विशेष अदालत में समर्पण किया था। पहले उसे दो दिन के रिमांड पर भेजा गया। 25 अक्टूबर को उसे 31 अक्टूबर तक के रिमांड पर लिया गया। सीबीआई उसे उसी दिन फ्लाइट से दिल्ली मुख्यालय ले गई और तीन दिन तक गहन पूछताछ की।


पूछताछ में कई राज उगलवाने के बाद शनिवार शाम को उसे जोधपुर लाया गया। कोर्ट ने हर 48 घंटे बाद उसका मेडिकल कराने के आदेश दे रखे थे, इसलिए रविवार को उसे एमजीएच लाया गया और मेडिकल जांच कराई गई। सीबीआई सोमवार को उसे फिर से कोर्ट में पेश कर कुछ दिन और रिमांड मांग सकती है।


भंवरी के परिजनों से फिर पूछताछ

सीबीआई की एक टीम भंवरी के परिजनों से पूछताछ करने रविवार को फिर से बोरुंदा गई। करीब चार घंटे तक भंवरी के पति अमरचंद, सास और जयपुर में पढ़ने वाली बेटी से पूछताछ की गई। बेटी की शिक्षा और उसके खर्च के संबंध में जानकारी ली तथा भंवरी के संपर्क में रहे नेताओं, आरोपी सोहनलाल, सहीराम व शहाबुद्दीन के बारे में और पिछले एक साल में हुई घटनाओं के संबंध में भी पूछताछ की गई।

अब इनकी बारी?

मलखानसिंह विश्नोई

भंवरी की पोस्टिंग और तबादलों में इनका दखल रहा है। सोहनलाल उनका फुफेरा भाई है। मलखान की पुत्री के विवाह में भंवरी का हंगामा और फिर एसपी से शिकायत की चर्चाओं के चलते इनसे पूछताछ हो सकती है।

महिपाल मदेरणा

भंवरी के अपहरण के पीछे कथित सीडी को कारण माना जा रहा है। चर्चा है कि इसमें पूर्व कैबिनेट मंत्री महिपाल मदेरणा भी दिखाई दे रहे हैं। आरोपी सहीराम विश्नोई उनका नजदीकी है। शहाबुद्दीन की पुत्री के विवाह में मदेरणा के परिजन शामिल हुए थे।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

 
Top