edvertise

edvertise
barmer


बाड़मेर ग्रुप फॉर पीपल की महिलाओ को आत्मनिर्भर बनाने की अनूठी पहल


महिलाओं ने लघु कुटीर उद्योग स्थापना में दिखाई रूचि।।जल्द स्थापित होगा महिला समूह द्वारा कुटीर उद्योग।

बाड़मेर ग्रुप फॉर पीपल बाड़मेर द्वारा राष्ट्रिय शहरी आजीविका मिशन के तत्वाधान में बाड़मेर में स्वयं सहायता समूह के माध्यम से घरेलू लघु कुटीर उद्योग की स्थापना को लेकर रविवार को आश्रय स्थल में आजीविका मिशन प्रभारी भवर खान ,ग्रुप फॉर पीपल के संयोजक चन्दन सिंह भाटी,महेश पनपालिया,संजय शर्मा ,दुर्जन सिंह गुडिसर,रमेश सिंह इंदा,स्वरुप सिंह भाटी,जमाल खान,इस्लाम खान ,छगन सिंह चौहान की उपस्थिति में प्रगतिशील महिलाओं के साथ बैठक का आयोजन किया गया।बैठक में विभिन जगहों से चालीस से अधिक महिलाओं ने बैठक में भाग लिया।




बैठक में महिलाओं ने लघु उद्योग की स्थापना में गहरी रुचि दिखाते हुए इसकी जल्द स्थापना की मांग रखी।महिला समूह में श्रीमती ने कहा कि इसके माध्यम से महिलाओं को घर बैठे रोजगार मिलेगा।उन्होंने कहा कि घरेलू खान पान के आयटम बना कर महिलाएं रोजगार प्राप्त कर आत्म निर्भर होगी।।उन्होंने और महिलाओं को मिशन से जोड़ने के लिए समय माँगा।महिलाओं की मांग पर अगले सप्ताह सोमवार को पुनः बैठक रखी गयी।।

बैठक में भवर खान ने कहा कि स्वयं सहायता समूह को सशक्त बनाने का मुख्य उद्देश्य हैं।।सिर्फ समूह बनाने से महिलाओं को कोई लाभ नही मिलना।समूह के माध्यम से महिलाओं को घर बैठे रोजगार मिले ताकि महिलाएं आत्म निर्भर बने साथ ही समाज में प्रेरणा स्रोत बने।लघु कुटीर उद्योग की स्थापना बेहतरीन प्रयास हैं। ग्रुप फॉर पीपल के संयोजक चन्दन सिंह भाटी ने कहा कि आज महिलाओं का त्यौहार होने के बावजूद इतनी तादाद में उद्योग की स्थापना के प्रति रूचि लेकर बैठक में आना महत्वपूर्ण हैं।उन्होंने कहा कि सहायता समूह के नाम से कुटीर उद्योग की ब्रांड होगी।।महिलाओं की मेहनत से इसे आगे बढ़ाया जाएगा।।चालीस महिलाओं ने आज इस कुटीर उद्योग की स्थापना के साथ जुड़ एक नया अध्याय लिखा हैं। उन्होंने कहा कि ग्रुप का उद्देश्य महिलाओं को रोजगार के माध्यम से सशक्त और आत्म निर्भर बनाया जाए।महेश पनपालिया ने कहा कि ग्रुप फॉर पीपल का सकारात्मक कदम हैं।।महिलाएं घर बैठकर घरेलू खाद्य सामग्री बना कर रोजगार से जुड़ेगी।।यह एक नवाचार होगा।।उन्होंने कहा कि जिस तरह से समूह द्वारा स्थापित लिज्जत पापड ने सफलता हासिल कर यह साबित किया कि महिलाएं बेहतर कर सकती हैं।।महिलाओं को यह परियोजना पसंद आई यह बड़ी बात हैं।




ग्रुप फॉर पीपल के अध्यक्ष आज़ाद सिंह राठौड़ ने बताया कि ग्रुप सामाजिक सरोकार के साथ इस बार महिलाओं को उद्योग से जोड़ उन्हें अवसर प्रदान करेगा।।बैठक में महिलाओं ने भी अपनी बात और सुझाव रखे।महिलाओं की मांग पर अगले सोमवार को पुनः लघु कुटीर उद्योग स्थापन को लेकर बैठक राखी हे जिसमे और अधिक महिलाएं परियोजना से जुड़ेगी।। परियोजना को शीघ्र स्थापित करने की दिशा में कार्य आरम्भ हैं ,

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top