BNT

BNT

प्रदेश में 1 अप्रैल से बंद हो जाएगी डोडा पोस्त की बिक्री


जयपुर। प्रदेशभर में कल यानि 1 अप्रैल से डोडा पोस्त की बिक्री बंद हो जाएगी। इसके बाद किसी भी दुकान पर डोडा पोस्त नहीं मिलेगा। विधानसभा में शून्यकाल के दौरान कांग्रेस विधायक भंवर सिंह भाटी ने स्थगन के जरिए मामला उठाते हुए कहा कि प्रदेश में अब भी बड़ी संख्या में डोडा पोस्त का सेवन करने वाले लोग हैं। ये ऐसे व्यसनी हैं, जिन्हें डोडा पोस्त नहीं मिलने पर मौत भी हो सकती है। सरकार ने नशा मुक्ति कैंप लगाए, लेकिन सबको नशा नहीं छुड़ा सके, जब तक सबको नशामुक्त नहीं कर दिया जाता, तब तक डोडा पोस्त की बिक्री पर रोक हटाई जाए।

poppy-of-doda-saling-will-stop-from-april-1-in-the-state-54568

निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल ने कहा कि कई बुजुर्ग सालों से डोडा पोस्त का सेवन कर रहे हैं, अब बिक्री पर पाबंदी लगने से डोडा पोस्त की तस्करी बढ़ेगी। मंत्री राजपाल सिंह शेखावत ने सदन में माना कि प्रदेश में अब भी बड़ी संख्या में डोडा पोस्त के व्यसनी हैं, डोडा पोस्त पर पाबंदी केंद्र सरकार ने लगाई है, राज्य सरकार प्रतिबंध की अवधि में छूट देने का केंद्र से आग्रह करेगी, लेकिन यह फैसला केंद्र के हाथ में ही है। पूरे देश में पाबंदी लग रही है।



राजपाल सिंह ने कहा कि नया सवेरा योजना में 800 कैंप लगाने थे, लेकिन उतने कैंप नहीं लग पाए। 2014 में 198 और 2015 में 398 कैंप लगाए गए, जिनमें 60 हजार लोगों को डोडा पोस्त छुड़वाया गया।



स्वास्थ्य मंत्री राजेंद्र सिंह राठौड़ ने कहा कि प्रदेश में 19 हजार 296 परमिट धारी डोडा पोस्त सेवन करने वाले हैं। अब भी दो लाख से ज्यादा लोग ऐसे हैं, जिनके पास परमिट नहीं है, लेकिन डोडा पोस्त का सेवन करते हैं। डोडा पोस्त पर पाबंदी लगने से इसके व्यसनियों का तुरंत उपचार करने के लिए सभी अस्पतालों में व्यवस्था की गई है। इसके लिए 2.99 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

 
Top