बाड़मेर खरतरगच्छाधिपति आचार्य भगवंत श्री जिन मणिप्रभसूरीश्वर जी म.सा. का कुर्जा मंे हुआ प्रवेश
आज आचार्य श्री का कुशल वाटिका में होगा प्रवेश

बाडमेर 6 फरवरी। परम पूज्य खरतरगच्छाधिपति आचार्य भगवन्त श्री जिन मणिप्रभसूरीश्वर जी म.सा. के आचार्य पदारोहण के बाद प्रथम बार मालू भाईपा समाज संस्थान द्वारा निर्मित कुलदेवी श्री संच्चियाय माता मन्दिर कुर्जा में बुधवार को भव्य सौमेया के साथ स्वागत किया गया।मालू भाईपा समाज के कोषाध्यक्ष बाबूलाल मालू कगाउ ने बताया कि आचार्य भगवन्त आदि ठाणा-मांडवला से विहार कर चितलवाना,सांचोर,रामजी का गोल,धोरीमन्ना,चोहटन, होते हुए बुधवार को राणीगांव पहुचे जहां पर मालू भाईपा समाज द्वारा कुर्जा पधारने की विनती की गई और गुरूदेव की सुखशाता पुछी गई। मालू ने बताया कि विनती के बाद गुरूदेव द्वारा कुर्जा आने की आज्ञा प्रदान की गई ,इसके पश्चात गुरूदेव ने राणींगांव से विहार कर 14 किलोमीटर पर स्थित श्री संच्च्यिाय माता मन्दिर कुर्जा पहुचे जहा पर मालू भाईपा समाज द्वारा ढोल-ढमाके के साथ स्वागत किया गया,स्वागत के बाद गुरूदेव ने मन्दिर में विराजित माता जी के दर्शन कर मन्दिर व परिसर का अवलोकन किया और मालू भाईपा समाज को साधुवाद दिया।इसके बाद गुरूदेव का रात्रि विश्राम कुर्जा में हुआ।राणीगांव विनती के दौरान मोहनलाल मालू दाडी,बी.डी. मालू,मांगीलाल मालू सूरत,बाबूलाल कगाउ,प्रकाश मालू आर आर,भगवानदास मालू,रतनलाल मालू,कैलाश मालू झाख,नेमीचन्द मालू,पवन पटूडा,कपिल मालू,कल्पेश माणक,विक्रम मेहता, आदि कई मालू भाई उपस्थित थे।

आचार्य श्री का कुशल वाटिका प्रवेश आज-परम पूज्य खरतरगच्छाधिपति आचार्य भगवन्त श्री जिन मणिप्रभसूरीश्वर जी म.सा. के आचार्य पदारोहण के बाद प्रथम बार चार साल बाद कुशल वाटिका मे भव्य प्रवेश आज गुरूवार को होगा।कुशल वाटिका ट्रस्ट के अध्यक्ष भंवरलाल छाजेड ने बताया कि आचार्य भगवन्त मणिप्रभसुरिश्वर जी म.सा. के पावन निश्रा में 2013 में कुशल वाटिका की भव्य प्रतिष्ठा के बाद चार साल बाद वापस कुशल वाटिका में प्रवेश गुरूवार को प्रातः 9 बजे होगा, जहा सामैया के साथा स्वागत किया जायेगा।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top