edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर,गुड़ामालानी के तीन गांव खाली कराएं,जिला प्रशासन राहत प्रबंधन मंे जुटा
-जिला कलक्टर स्वयं मौके पर पहुंचकर प्रभावित ग्रामीणांे को राहत पहुंचाने मंे जुटे है।
बाड़मेर, 29 जुलाई। बाड़मेर जिले मंे लगातार बारिश के चलते गुड़ामालानी के तीन गांवांे को खाली करवाकर सुरक्षित स्थानांे पर पहुंचाया गया है। वहीं, गांधव मंे फंसे दस लोगांे को निकालने के लिए शनिवार शाम को एनडीआरएफ की टीम को बुलाया गया। जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते पिछले एक सप्ताह से लगातार पानी से प्रभावित इलाकांे मंे पहुंचकर ग्रामीणांे को राहत पहुंचाने मंे जुटे है।

जिले के गुड़ामालानी क्षेत्र के तीन गांवांे मंे पानी के भराव से अनहोनी की आशंका के मददेनजर खाली करवाया। इन गांवांे के ग्रामीणांे को सुरक्षित स्थानांे पर ठहराने के साथ जिला प्रशासन की ओर से इनके खाने-पीने की व्यवस्था की गई है। जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते की अगुवाई मंे शनिवार को विभिन्न स्थानांे पर पानी से घिरे लोगांे को सुरक्षित निकाला गया। जिला कलक्टर नकाते शनिवार देर शाम टेंट एवं खाने-पीने का सामान लेकर अरणियाली एवं आलेटी पहुंचे। बारिश से प्रभावित धोरीमन्ना, गुड़ामालानी, बाड़मेर एवं अन्य इलाकांे के गांवांे मंे जिला प्रशासन की ओर से आपदा प्रबंधन किया जा रहा है। प्रभावित ग्रामीणांे को सुरक्षित स्थानांे पर ठहराने के साथ उनके खाने-पीने की समुचित व्यवस्था की जा रही है। जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते एवं पुलिस अधीक्षक डा.गगनदीप सिंगला की अगुवाई मंे जिला एवं पुलिस प्रशासन की टीमांे के साथ एनडीआरएफ, एनडीआरएफएस, आरएसी, होमगार्ड एवं अन्य विभिन्न संगठनांे के सहयोग से राहत प्रबंधन सुनिश्चित किया जा रहा है। जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते पिछले एक सप्ताह से लगातार जिले के विभिन्न क्षेत्रांे मंे पहुंचकर प्रशासनिक अमले के साथ प्रभावित लोगांे को राहत पहुंचाने मंे जुटे है। इधर, उप महानिरीक्षक स्टाम्प एवं महिला एवं बाल विकास विभाग के उप निदेशक जीतेन्द्रसिंह नरूका ने अरणियाली एवं आलेटी पहुंचकर रसद एवं खाद्य सामग्री की जानकारी ली। उन्हांेने ग्रामीणांे से बातचीत कर तिरपाल एवं अन्य हरसंभव सहायता करने का भरोसा दिलाया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top