edvertise

edvertise
barmer



जैसलमेर,प्रभारी मंत्री  चौधरी  ने की योजनाओं की समीक्षा

अकाल राहत प्रबंधों मे  लापरवाही बर्दास्त नहीं


जैसलमेर, 14 जून। जिले के प्रभारी मंत्री तथा राजस्व, उपनिवेषन, पुर्नवास एवं देवस्थान राज्य मंत्री एवं जिले के अमराराम चैधरी ने जिले में संचालित राज्य सरकार की फ्लेगषिप योजनाओं की बुधवार प्रातः कलेक्ट्रेट सभागार में समीक्षा की। उन्होंनें जिले में अकालग्रस्त घोषित गांवों में राहत प्रबंधों की पुख्ता माॅनेटरिंग करने के कडे निर्देष दिये तथा इसमें लापरवाही बरतने पर कडी कार्यवाही की चेतावनी दी।

इस मौके पर जिले के प्रभारी मंत्री चैधरी ने गर्मीयों के दौरान जिले के सभी गांवों में पेयजल आपूर्ति को सर्वोच्च प्राथमिकता देने के निर्देष देते हुए कहा कि हर हाल में लोगों को पीने का पानी मुहैया होना चाहिए तथा पषुधन पेयजल के अभाव में तडपना नहीं चाहिए। उन्होनंे कहा कि आवष्यकता अनुसार गांवों में टैंकरों के जरिए पेयजल का परिवहन करवाया जाए तथा इसे सार्वजनिक टांकों अथवा पेयजल भण्डारांे में डाला जाए तथा पषु खेलियों में पानी भरा जाए। उन्हांेनंे बताया कि 38 टैंकरों के अलावा भी आवष्यकतानुसार टैंकर नियोजित कर हर हाल में लोगों को पेयजल परिवहन के जरिए पीने का पानी मुहैया करवाया जाए तथा कोई भी गांव इस भीषण गर्मी में प्यासा नहीं रह पाएं। उन्हांेनें जिले के अकालग्रस्त घोषित 726 गांवों में राहत प्रबंधों के जरिए ग्रामीण जनता तथा पषुधन की सहायता के निर्देष दिए। उन्होंनें कहा कि गांवों में पेयजल परिवहन के अलावा गौषालाओं को अनुदान तथा आवष्यकतानुसार आवारा पषुओं के लिए पषु षिविर खोलने के कार्य में ढिलाई नहीं बरती जाएं। उन्होंनें प्रभावित गांवों में पंचायतों के जरिए पषु षिविरों के प्रस्ताव मंगानें को कहा।

चैधरी ने पेयजल स्त्रोतों पर अबाध बिजली आपूर्ति करने के लिए बिजली विभाग को पाबंद किया। साथ ही पेयजल विभाग को उनके पेयजल स्त्रोतों पर पृथक से डेडीकेटेट बिजली की लाइने लगवाने के लिए प्रस्ताव भेजने तथा इसे क्रियान्वित करने के निर्देष दिये ताकि इन लाइनों में नियमित तथा पूरे वोल्टेज के साथ बिजली की आपूर्ति हो सके। चैधरी ने जिले में बिजली आपूर्ति की समीक्षा की तथा आंधी से वोल्टेज में उतार चडाव की समस्या को दुरस्त करने के निर्देष दिए। साथ ही आंधी से क्षतिग्रस्त विद्युत तंत्र को तुरन्त बहाल करने एवं बकाया बिजली तथा कृषि कनेक्षनों को जारी करने के निर्देष दिए। प्रभारी मंत्री ने ग्रामीण गौरव पथ, पोकरण-जैसलमेर राष्ट्रीय राजमार्ग का कार्य तीव्र गति से बेहतर ढंग से शीघ्र सुसम्पादित करने पर विषेष जोर दिया। प्रभारी मंत्री ने पोकरण-फलसूण्ड लिफ्ट परियोजना का कार्य युद्व स्तर पर चलवाकर निर्धारित समय पर पूर्ण करने के निर्देष दिये। उन्होंनें इसके विभिन्न चरणों के कार्यो में पेयजल पाईपलाईन के अलावा अन्य सिविल कार्य भी समानान्तर रूप से पूर्ण करवाने को कहा ताकि इसका लाभ गांवों को मिल पाए।

उन्हांेनंे राजस्थान सम्पर्क पोर्टल की प्रगति की जानकारी ली एवं निर्देष दिए कि इस पोर्टल मंे दर्ज सभी प्रकरणों को समय पर निस्तारित कर आमजन को राहत पंहुचावें। उन्होंनें कहा कि आमजन की समस्या के निदान करना भी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है इसलिए सभी अधिकारी आमजन की समस्या को संवेदनषीलता के साथ सुनकर उसका निदान करें वहीं प्रभावी ढंग से जनसुनवाई भी कर लोगों को राहत दें।

प्रभारी मंत्री कहा कि राज्य सरकार 14 अप्रैल से ग्रामीण क्षेत्रों में पट्टा दिए जाने का अभियान चालू कर रहीं है इसलिए जिले में इस अभियान का प्रभावी ढंग से संचालन कर आबादी क्षेत्र में जो भी मकान बने हुए है उनको प्राथमिकता से पट्टे जारी कराने की कार्यवाही करावें वहीं सिवाय चक भूमि में बसें लोगों को भी नियमित करने की कार्यवाही करें। उन्होंनें जिला कलक्टर को कहा कि वे अभियान से पूर्व तहसीलदारों को भेजकर उस ग्राम की आबादी भूमि की पेमाईष कर सीमाज्ञान की कार्यवाही अनिवार्य रूप से करावें ताकि इस अभियान में अधिक से अधिक आवासी पट्टे से लाभान्वित हो सकंे।

इस मौके पर विधायक छोटूसिंह भाटी ने जैसलमेर शहर में आरयूआईडीपी के प्रोजेक्ट के अन्तर्गत सीवरेज तथा पेयजल तंत्र से संबंधित कार्य निर्धारित समय गुजर जाने के बावजूद पूर्ण नहीं होने का मुद्दा उठाया। उन्होंनें संबंधित ठेकेदार द्वारा कार्य नहीं करने पर उसे ब्लेक लिस्टेड कर धरोहर राषि जब्त करने तथा अन्य एजेन्सी से समय पर कार्य करवाने को कहा।

बैठक में प्रभारी मंत्री ने स्वच्छ भारत मिषन, मुख्यमंत्री शहरी जन कल्याण षिविर, राजस्व लोक अदालत अभियान के अलावा राज्य सरकार की विभिन्न फ्लेगषिप योजना की प्रगति की विस्तृत समीक्षा की एवं मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के अन्तर्गत द्वितीय चरण के कार्य 30 जून तक पूर्ण करवाने करने के निर्देष दिए।

इससे पूर्व जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना ने योजनाओं की प्रगति की विस्तृत जानकारी दी। बैठक में जिला प्रमुख अंजना मेघवाल, नगर परिषद सभापति श्रीमती कविता खत्री, नगर विकास न्यास के अध्यक्ष डाॅ.जितेन्द्रसिंह, पुलिस अधीक्ष गौरव यादव, अतिरिक्त जिला कलक्टर के.एल.स्वामी तथा जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी नारायण सिंह चारण समेत अन्य जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top