edvertise

edvertise
barmer



योग की निरन्तरता से ही मिलेगा स्वास्थ्य लाभ -श्री देवनानी

सूचना केन्द्र मंे योग दिवस पर कार्यशाला का आयोजन


अजमेर, 21 जून। शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्यमंत्राी श्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि जिस तरह जीवन के लिए भोजन और पानी की आवश्यकता है, उसी तरह स्वास्थ्य के लिए निरन्तर व्यायाम जरूरी है। व्यायाम के सभी प्रचलित तरीकों में योग सर्वाधिक गुणकारी और लाभदायक है। यह अपनी निरन्तरता मंे व्यक्ति को शारीरिक के साथ ही मानसिक रूप से भी इतना सशक्त कर देता है कि वह कैसी भी परिस्थितियों का सामना आसानी से कर सकता है।

शिक्षा राज्यमंत्राी श्री देवनानी ने आज सूचना केन्द्र में योग दिवस पर आयोजित कार्यशाला को सम्बोधित किया। उन्होंने कहा कि विश्व में आज योग सर्वाधिक प्रचलित है। पूरी दुनियां के लोग यह मान रहे है कि हमारा योग मानसिक और शारीरिक सबलता के लिए सर्वाधिक उपयोगी विधि है। हजारों सालों से योग भारतीय जीवन पद्धति का एक अंग रहा है । वर्तमान में इसे पूरी दुनियां में एक नई पहचान दिलाने का श्रेय प्रधानमंत्राी श्री नरेन्द्र मोदी को जाता है।

श्री देवनानी ने कहा कि योग के साथ ही उससे संबंधित उपाय एवं जीवन शैली को भी जिया जाए तो मनुष्य को वांछित स्वास्थ्य फल प्राप्त होगा। योग रोग को तो दूर भगाता ही है, इससे तनाव एवं अन्य कमजोरियों से भी राहत मिलती है। योग के साथ आहार नियंत्राण और योग नियमों का पालन करना भी अति आवश्यक है।

कार्यक्रम के अध्यक्ष महापौर श्री धर्मेन्द्र गहलोत ने कहा कि योग आज हर घर तक पहुंच चुका है। लेकिन अभी भी इसे और अधिक प्रचारित व प्रसारित करने की आवश्यकता है। इसके लिए समय समय पर विविध कार्यक्रम आयोजित किए जाए। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता डाॅ सत्यजीत आचार्य, डाॅ. हरिओम शर्मा, डाॅ. अनुराग शर्मा, श्री मधुसूदन शर्मा ने भी विचार व्यक्त किए।

आमजन को मिलेगा नगर वन उद्यान एवं हर्बल गार्डन का तोहफा

अजमेर में नगर वन उद्यान का शिलान्यास एवं पुष्कर मेें हर्बल गार्डन का लोकार्पण कल

अजमेर, 21 जून। जयपुर और अन्य शहरों में पहाड़ी तथा हरे-भरे वन क्षेत्रों की तर्ज पर अब अजमेर शहर के लोग भी प्रकृति के मनोरम नजारों के बीच वाॅक कर सकेंगे। शहर के शास्त्राी नगर, लोहागल क्षेत्रा में शीघ्र ही नगर वन उद्यान(वन खण्ड महुआ बीड) में आमजन को यह सुविधा उपलब्ध होगी। प्रदेश के वन एवं पर्यावरण मंत्राी श्री गजेन्द्र सिंह खींवसर कल इसका शिलान्यास करंेगे। इसके साथ ही पुष्कर में भी कल हर्बल गार्डन का लोकार्पण किया जाएगा।

वन विभाग के अनुसार कार्यक्रम के मुख्य अतिथि वन एवं पर्यावरण मंत्राी श्री गजेन्द्र सिंह खींवसर, अध्यक्ष शिक्ष़्ाा राज्य मंत्राी श्री वासुदेव देवनानी एवं महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्राी श्रीमती अनिता भदेल एवं विशिष्ट अतिथि संसदीय सचिव श्री सुरेश सिंह रावत, महापौर श्री धर्मेन्द्र गहलोत तथा अजमेर विकास प्राधिकरण अध्यक्ष श्री शिवशंकर हेड़ा होंगे। कार्यक्रम दोपहर 12 बजे आयोजित किया जाएगा।

इसके पश्चात वन मंत्राी श्री खींवसर दोपहर एक बजे वन खण्ड कानस नेडलियां पर हर्बल गार्डन का लोकार्पण करेंगे। कार्यक्रम के अध्यक्ष शिक्ष़्ाा राज्य मंत्राी श्री वासुदेव देवनानी एवं महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्राी श्रीमती अनिता भदेल एवं विशिष्ट अतिथि संसदीय सचिव श्री सुरेश सिंह रावत तथा पुष्कर नगर पालिकाध्यक्ष श्री कमल पाठक होंगे।




बड़े शहरों की तर्ज पर बनेगा नगर वन उद्यान - श्री देवनानी

शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्यमंत्राी श्री वासुदेव देवनानी ने बताया कि शास्त्राीनगर लोहागल क्षेत्रा में बनने वाला यह नगर वन उद्यान मुख्यमंत्राी श्रीमती वसुन्धरा राजे का शहरवासियों को तोहफा है। अब तक शहर में इस तरह के उद्यान की कमी महसूस की जा रही थी। राज्य सरकार ने आमजन की भावनाओं को समझा। इस उद्यान के विकसित होने से शहर के लोगों को प्रकृति के बीच में वाॅक करने एवं भ्रमण करने का मौका मिलेगा। इस वन क्षेत्रा में कई फलदार, छायादार एवं औषधिय महत्व के पौधे एवं वृक्ष रोपित किए जाएंगे।

हर्बल गार्डन में मिलेगी दुर्लभ जड़ीबूटियां -श्री रावत

संसदीय सचिव श्री सुरेश सिंह रावत ने जानकारी दी कि मुख्यमंत्राी श्रीमती वसुन्धरा राजे ने बजट में घोषणा कर पुष्कर में यह हर्बल गार्डन तैयार करवाया है। करीब 62 लाख रूपये की राशि से 20 हैक्टयर क्षेत्रा में हर्बल गार्डन विकसित किया गया है। यहां विभिन्न प्रजातियों की दुर्लभ जड़ीबूटियां तो विकसित होगी ही साथ ही सैलानियों के लिए भी आकर्षण का केन्द्र बनेगा।










भामाशाह सम्मान समारोह 28 जून को होगा बिड़ला सभागार में

इस बार 140 भामाशाह एवं प्रेरकों का होगा सम्मान

अजमेर, 21 जून। आगामी 28 जून को स्थानीय बिड़ला सभागार में 23 वें राज्य स्तरीय भामाशाह सम्मान समारोह का आयोजन किया जाएगा।

शिक्षा राज्य मंत्राी श्री वासुदेव देवनानी ने बताया कि इस बार सम्मान समारोह में 140 भामाशाहों और प्रेरकों को शैक्षिक क्षेत्रा में दिए जाने वाले उनके योगदान के लिए सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि सम्मान समारोह का आयोजन स्थानीय बिड़ला सभागार में मुख्यमंत्राी श्रीमती वसुन्धरा राजे के मुख्य आतिथ्य में किया जाएगा। इसमें 10 लाख या इससे अधिक की सहायता प्रदान करने वाले भामाषाह व्यक्तियों अथवा संस्थाओं और प्रेरकों को सम्मानित किया जाएगा।

श्री देवनानी ने बताया कि वर्ष 1995 से प्रदेश में शिक्षा विभाग द्वारा भामाशाह सम्मान समारोह का आयोजन किया जा रहा है। राज्य में शैक्षिक सहयोग के लिए 1302 भामाशाहों को विभाग ने सम्मानित किया है। इसके अलावा प्रेरकों के रूप में भी 245 व्यक्तियों को विभाग द्वारा सम्मानित किया गया है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top