अब बाड़मेर जिला अस्पताल में आईवीएफ की सुविधा शीघ्र होगी शुरू*

*वसुन्धरा हॉस्पिटल जोधपुर के साथ हुए एमओयू**निःसन्तान दम्पति सुविधा से होंगें लाभान्वित*

बाड़मेर। निजी जन सहभागिता पीपीडी मोड से जिला चिकित्सालय बाड़मेर में नवीन आईवीएफ सेन्टर स्थापित करने को लेकर वसुन्धरा हाॅस्पीटल लिमिटेड जोधपुर के मैनेजर बजरंग गुर्जर एवं राजकीय चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्साधिकारी डा. बी.एल. मसुरिया द्वारा एमओयू पर आज शनिवार को हस्ताक्षर हो गये है। बाड़मेर जिले में अब शीघ्र ही निःसन्तान दम्पति इस सुविधा का लाभ सकेंगें।

राजकीय चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्साधिकारी डा. बी.एल. मसुरिया ने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री बजट घोषणा 2016-17 की अनुपालना में निजी जन सहभागिता से जिला चिकित्सालय में नवीन आईवीएफ सेन्टर स्थापित करने को लेकर वसुन्धरा होस्पीटल जोधपुर से अनुबंध हो गया है। बाड़मेर जिले के अस्पताल में अब शीघ्र ही निःसन्तान दम्पति आईवीएफ पद्धति से इस सुविधा का लाभ ले सकंेगें। उन्होंने बताया कि वर्तमान समय में निःसन्तानता की समस्या बढ़ती जा रही है। जिसको लेकर राज्य सरकार अत्यन्त गंभीर है। हाल ही मुख्यमंत्री बजट घोषणा के अन्तर्गत कई जिलों में निजी जन सहभागिता के तहत् आईवीएफ की सुविधा शुरू करने को लेकर एमओयू हुआ है। जिसके अन्तर्गत बाड़मेर जिला अस्पताल का भी चयन किया गया है। डा. मसुरिया ने बताया कि आईवीएफ सेन्टर शुरू करने को लेकर चिकित्सालय द्वारा मात्र स्थान मुहैया करवाया जायेगा। शेष सेटअप वसुन्धरा होस्पीटल जोधपुर अपने स्तर पर वहन करेगा। राज्य सरकार द्वारा मरीजों के हितों को ध्यान मंे रखते हुये आईवीएफ की न्युनतम निर्धारित दरें स्वीकृत की जा चुकी है। वहीं सुविधा के तहत् 20 प्रतिशत लाभ राजकीय चिकित्सालय को मिलेगा शेष 80 प्रतिशत वसुन्धरा होस्पीटल जोधपुर का रहेगा।

ये मिलेगी सुविधाएं:* डा. मसुरिया ने बताया कि आईवीएफ सुविधा के तहत् पुरूष निःसन्तानता के लिये आईवीएफ इक्सी, एमसी सर्जिकल, स्पर्म रिट्रीवल, निल शुक्राणु वाले मरीजों के लिये स्पर्म बैंक व स्त्री निःसन्तानता के लिये परखनली शिशु चिकित्सा निःसन्तान दम्पतियों के लिये लाभदायी साबित होगी।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top