edvertise

edvertise
barmer



जैसलमेर, जिला कलक्टर मीणा ने खुईयाला

रात्रि चैपाल में सुनी ग्रामीणों की परिवेदनाएं

खुब जमीं पहली रात्रि चैपाल, लोगों को पीने का पानी


समय पर उपलब्ध कराने के दिए निर्देष
जैसलमेर, 13 मई। जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीणा ने ग्राम पंचायत खुईयाला के अटल सेवा केन्द्र में आयोजित रात्रि चैपाल के दौरान संवेदनषीलता के साथ ग्रामीणों की परिवेदनाएं सुनी एवं उनको विष्वास दिलाया कि उनकी समस्याआंे का समाधान होगा। उन्होंनें अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे चैपाल में प्रस्तुत परिवेदनाओं के त्वरित कार्यवाही कर उनका निस्तारण करावें। रात्रि चैपाल में मुख्य कार्यकारी अधिकारी नारायणसिंह चारण, उपखंड अधिकारी कैलाष चन्द्र शर्मा, विकास अधिकारी सुखराम विष्नोई, सरपंच श्रीमती पठानी के साथ ही जिला स्तरीय अधिकारी एवं अच्छी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थें।

गर्मी में समय पर उपलब्ध करावें पीने का पानी

रात्रि चैपाल के दौरान खुईयाला के आस-पास के राजस्व गांव एवं ढाणियों के वाषिंदों ने पानी की समस्या से अवगत कराया। जिला कलक्टर मीणा ने इसे गंभीरता से लिया एवं अधिषाषी अभियंता एवं सहायक अभियंता जलदाय को निर्देष दिये कि टैंकरों से पेयजल परिवहन कर एकांतरे हर हाल में इस भीषण गर्मी में लोगों को पीने का पानी उपलब्ध करावें। उन्होंनें नहर में बदबूदार आ रहें पानी का सेम्पल जांच करने एवं सही ढंग से फिल्टर कर पानी आपूर्ति के निर्देष दिये। उन्होंनें कडी हिदायत दी कि पेयजल आपूर्ति में कोताही को बर्दाष्त नहीं किया जाएगा।

महानरेगा में इच्छुक लोगों को लगाएं कार्य पर

जिला कलक्टर मीणा ने ग्रामीणों से पेयजल, विद्युत, चिकित्सा, षिक्षा इत्यादि व्यवस्थाओं की जानकारी ली तो ग्रामीणों ने बताया कि महानरेगा में लोगों को रोजगार नहीं मिल रहा है। जिला कलक्टर ने मौके पर विकास अधिकारी एवं ग्राम सेवक को सख्त हिदायत दी कि वे कल ही लोगों से फाॅर्म नम्बर 6 भरवाकर महानरेगा में कार्य स्वीकृत करवाकर अधिक से अधिक लोगों को रोजगार उपलब्ध करावें। उन्होंनंे ग्रामीणों से कहा कि वे फाॅर्म नम्बर 6 भरकर उसकी रसीद प्राप्त कर लें।

योजनाओं की दें जानकारी

जिला कलक्टर ने ग्राम सेवक को कडे निर्देष दिए कि वे विभिन्न विभागों द्वारा संचालित राज्य सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं की ग्राम सभा के दौरान ग्रामीणों को अवगत करावें वहीं विभागों से योजना से संबंधित पेम्पलेट प्राप्त कर लोगों को प्रदान करें ताकि अधिक से अधिक लोग इन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लें सकंे। उन्होंनंे श्रम कल्याण द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ लेने पर भी विषेष जोर दिया। उन्होंनें सहकारी समिति के व्यवस्थापक को निर्देष दिए कि वे कल अटल सेवा केन्द्र में समिति के सदस्यों को बुलाकर उन्हें विभिन्न योजनाओं की जानकारी प्रदान करें। इसके साथ ही कृषि पर्यवेक्षक को निर्देष दिए कि वे भी कल ही ग्रामीणों को बुलाकर कृषि अनुदान योजना के आवेदन पत्र तैयार करावें।

खाद्य सुरक्षा योजना में पात्र वंचित के नाम जुडवावें

उन्होंनें ग्रामीणों से राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के अन्तर्गत वितरण की जा रही खाद्य सामग्री की जानकारी ली तो कुछ लोगों ने बताया कि वे वास्तव में गरीब है लेकिन उनके नाम सूची में जुडने से रह गए है। इस संबंध में जिला कलक्टर ने मौके पर निर्देष दिए कि यदि गलत व्यक्ति का नाम सूची में जुड गया है तो उनको हटाने की कार्यवाही करें वहीं पात्र व्यक्ति है लेकिन नाम नहीं जुडें है उनको उपखंड अधिकारी जांच कर अपील के माध्यम से ऐसे लोगों के नाम इस योजना में जोडें।

बेटी बचाओं-बेटी पढाओं का दिया संदेष

जिला कलक्टर ने ग्रामीणों को बेटों की तरह बेटियों की परवरिष करने एवं उनको अच्छी षिक्षा दिलाने की सीख दी ताकि वे भी आगे बढकर परिवार व समाज का विकास सही ढंग से करें।

वंचित परिवारों के शौचालय हो स्वीकृत

उन्होंनंे स्वच्छ भारत मिषन की चर्चा की तो विकास अधिकारी ने बताया कि यह पंचायत ओडीएफ हो गई है। चर्चा के दौरान कुछ ग्रामीणांे ने बताया कि उनके घर में शौचालय नहीं है एवं उनकी स्वीकृति करावें। इस संबंध में जिला कलक्टर ने विकास अधिकारी को निर्देष दिए कि वे ग्राम सेवक से वंचित परिवारों की सूची बनाकर महानरेगा में शौचालय की स्वीकृति करावें। इसके साथ ही प्रधानमंत्री आवास निर्माण के जो कार्य स्वीकृत है उनको शीघ्र ही पूरा कराने के निर्देष दिए। उन्होंनें यह भी हिदायत दी कि बेस लाईन सर्वे में नाम नहीं था लेकिन उनके शौचालय की स्वीकृति निकल गई है एवं उसका भुगतान हुआ है तो उसकी जांच विकास अधिकारी को करने के निर्देष दिए।

एक सप्ताह में कमाल की ढाणी में लगेगा ट्रांसफाॅर्मर

चैपाल के दौरान कमाल की ढाणी के वाषिंदों ने विद्युत ट्रांसफाॅर्मर लगाने के संबंध में प्रार्थना पत्र दिया। इस संबंध मंे जिला कलक्टर ने अधीक्षण अभियंता विद्युत से जानकारी ली तो उन्होंनंे बताया कि एक सप्ताह में विद्युत ट्रांसफॅार्मर लगा दिया जाएगा। इस प्रकार कमाल की ढाणी के वाषिदों को रात्रि चैपाल का लाभ मिला है।



समय पर दें सूचना अधिकार की सूचना

रात्रि चैपाल के दौरान ग्रामीण ने षिकायत कि की उन्हें ग्रामसेवक द्वारा सूचना अधिकार के तहत मांगी गई सूचना प्रदान नहीं की गई है। जिला कलक्टर ने इसको बहुत गंभीरता से लिया एवं ग्रामसेवक को सख्त निर्देष दिए कि वे तत्काल ही संबंधित व्यक्ति को सूचना प्रदान करावें। उन्होंनें विकास अधिकारी को निर्देष दिए कि वे सभी ग्राम सेवकों को पाबंद कर दें कि जो भी व्यक्ति सूचना के अधिकार के तहत सूचना मांगंे उनको समयसीमा में उपलब्ध करावें। इसके साथ ही यह भी निर्देष दिए कि इस प्रकार का प्रकरण उनके स्तर पर आया तो संबंधित के खिलाफ कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

राहत का पेगाम महसूस हो ग्रामीणों को

जिला कलक्टर ने कहा कि राज्य सरकार रात्रि चैपालों को गंभीरता से ले रही है एवं इसका मकसद भी यही है कि जिला अधिकारी एवं ग्रामीण एक मंच पर बैठकर ग्रामीणों की समस्याओं को सुनें एवं उनके स्तर से निस्तारण योग्य समस्याओं का समाधान मौके पर करें। रात्रि चैपाल ग्रामीणों के लिए राहतदायी हो उसी भावना से अधिकारियों को कार्य करने के निर्देष दिए।

महिला जनप्रतिनिधि झिझक को त्याग कर करें विकास कार्य

जिला कलक्टर ने कहा कि राज्य सरकार ने महिलाओं को जो अवसर पंचायतीराज में प्रदान किया है उसका वे स्वयं अधिकार के साथ उपयोग करें वहीं विकास की धारा में अपनी अहम् भूमिका अदा करें। रात्रि चैपाल में जिला कलक्टर के इस संदेष पर महिला सरपंच पठानी ने अपनी झिझक त्यागकर विकास कार्य स्वयं के स्तर से करने की बात कहीं।





-----000-----

राजस्व लोक अदालत-न्याय आपके द्वार में अच्छी उपलब्धि अर्जित करावें-जिला कलक्टर

जिला कलक्टर ने समीक्षा की अभियानों की प्रगति, योजनाओं के षिविर में लगाएं फ्लेक्स

जैसलमेर, 13 मई। जिला कलक्टर कैलाषचन्द मीणा ने जिले में संचालित किए जा रहें राजस्व लोक अदालत अभियान-न्याय आपके द्वार षिविर 2017 की साप्ताहिक प्रगति की समीक्षा करते हुए कहा कि अभी तक इन षिविरों में राज्य सरकार की मंषा के अनुरूप उपलब्धि अर्जित नहीं हुई है इसलिए संबंधित विभागों के अधिकारी विषेष रूचि लेकर जो कार्य उनकें विभाग से संबंधित किए जाने है उन्हें अच्छी संख्या में करवाकर अच्छी उपलब्धि अर्जित करावें। उन्होंनंे कहा कि इन अभियान के माध्यम से राजस्व के साथ ही जिन 15 विभागों के कार्य किए जाने है उसमें किसी प्रकार की कोताही नहीं बरतें एवं ग्रामीणों को महसूस होना चाहिए कि अभियान के माध्यम से उनकी समस्या का समाधान हो रहा है एवं राहत मिल रही है।

जिला कलक्टर मीणा ने शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित राजस्व लोक अदालत अभियान-न्याय आपके द्वार षिविर 2017 की साप्ताहिक प्रगति की समीक्षा बैठक में यह निर्देष दिए। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर के.एल.स्वामी, मुख्य कार्यकारी अधिकारी नारायणसिंह चारण, उपखण्ड अधिकारी पोकरण मूलसिंह राजावत, जैसलमेर कैलाषचन्द्र शर्मा, फतेहगढ रणसिंह के साथ ही अन्य विभागों के अधिकारी एवं तहसीलदार एवं विकास अधिकारी उपस्थित थें। जिला कलक्टर ने संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे षिविर के दौरान उनके विभाग के द्वारा किए जाने वाले कार्यो एवं राज्य सरकार की फ्लेगषिप व जन कल्याणकारी योजनाओं से संबंधित फ्लेक्स तैयार कर सहज दृष्य स्थल पर डिस्प्ले करावें वहीं पेम्पलेट तैयार कर लोगों को उपलब्ध करावें जिससे वे कल्याणकारी योजनाओं का भरपूर लाभ ले सकें।

उन्होंनें विकास अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे विभिन्न प्रकार की पेंषनों एवं पालनहार योजनाओं से संबंधित आवेदन पत्र तैयार करने की कार्यवाही करें इसके साथ ही ग्रामसेवक को पाबंद कर विषेष योग्यजनों का चिन्ह्किरण करावें। उन्होंनें उपखंड अधिकारियों को केम्प के दौरान आधार मषीन की सुविधा उपलब्ध करानें के निर्देष दिए। उन्होंनें संयुक्त निदेषक पषुपालन को निर्देष दिए कि वे भामाषाह पषु स्वास्थ्य बीमा योजना से अधिक से अधिक पषुपालकों को लाभान्वित करावें एवं उनके आवेदन पत्र तैयार करावें।

उन्होंनंे मुख्य कार्यकारी अधिकारी को कहा कि जो 5 नोडल विभाग उनके अधीन आते है उनको पाबंद कर दें कि वे योजनाओं के फ्लेक्स अनिवार्य रूप से डिस्प्ले करें। उन्होंनें इसके साथ ही षिविरों के दौरान 15 विभागों द्वारा जो कार्य किए जा रहें है उसके बारे में सरपंचों, जिला परिषद सदस्यों एवं पंचायत समिति सदस्यांे को भी पत्र प्रेषित कर अवगत करावें। उन्होंनंे विकास अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे पट्टा वितरण अभियान के दौरान ग्रामसेवक को पाबंद करें कि वे अधिक से अधिक लोगों के पट्टे आवेदन तैयार कर षिविर में पट्टा प्रदान करने की कार्यवाही करें।

जिला कलक्टर ने उप निदेषक महिला एवं बाल विकास को निर्देष दिए कि वे इन षिविरों के दौरान 0 से 6 वर्ष तक आयु के जो बच्चे आंगनवाडी केन्द्रों में पंजीकृत होने से वंचित रहे है उनका पंजीकरण करवाना सुनिष्चित करें वहीं आयरन फोलिक एसिड की गोलियां वितरित करावें साथ ही महिला पर्यवेक्षक को पाबंद करें कि केम्प में वे अनिवार्य रूप से उपस्थित होवें। उन्होंनंे विकास अधिकारियों को इन षिविरों के दौरान भामाषाह पंजीयन एवं भामाषाह सीडिंग का कार्य भी सुनिष्चित करावें।

उन्होंनंे उपखंड अधिकारियों को निर्देष दिए कि खाद्य सुरक्षा कार्यक्रम के अन्तर्गत चयनित होने के लिए उनके वहां अपील की है उनको सात दिवस में निस्तारण कर शून्य की स्थिति में लावें साथ ही जो गलत नाम जुड गए है उनकों हटाने की कार्यवाही करें। उन्होंनें राजस्व अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे इस भावना से कार्य करें कि उनके वहां अधिक से अधिक इस अभियान के तहत वाद रहित गांव हों। उन्होंनें राजस्व न्यायालय में विचाराधीन प्रकरणों को गंभीरता से इन केम्पों के दौरान निस्तारित करने पर जोर दिया। उन्होंनें उप निवेषन के अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे इन केम्पों के दौरान जिन आवंटियांे ने पूरी किष्तें जमा करा दी है या बहुत कम किष्तें बाकी है उनसे संपर्क कर बकाया किष्तों को जमा करवाकर खातेदारी अधिकारी प्रदान करावें।

अतिरिक्त जिला कलक्टर स्वामी ने तहसीलदारों को निर्देष दिए कि वे प्रत्येक केम्प में कम से कम 5 खाता विभाजन के प्रकरणों का निस्तारण करें एवं इसके लिए वे केम्प से पूर्व होमवर्क कर ऐसे प्रस्तावों को तैयार कर निराकरण करावें। उन्होंनंे केम्प से पूर्व जमाबंदी का पठन करानें पर विषेष जोर दिया।

-----000-----



बकाया राजस्व वसूली को प्राथमिकता से करें राजस्व अधिकारी-जिला कलक्टर
जैसलमेर, 13 मई। जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीणा ने राजस्व अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे बकाया राजस्व वसूली को प्राथमिकता से करें वहीं उनके न्यायालयों में जो राजस्व प्रकरण विचाराधीन है उनको गंभीरता से निस्तारित करावें। उन्होंने तहसीलदारों को जमा बन्दी सेग्रीगेषन प्रमाणिकरण व नक्षे अपडेट सत्यापन का कार्य शीघ्र कराने के निर्देष दिए। उन्होंने राजस्व अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे क्षेत्र की प्रत्येक घटना के प्रति चैकस रहे एवं समय रहते आवष्यक कार्यवाही अमल में लावे।

उन्होंनें ईजी-1 व ईजी-2 की समीक्षा करते हुए निर्देष दिए कि ईजी-1 की सूचना ग्राम प्रभारियों से शीघ्र ही प्रपत्र में पूर्ति करवाकर अपलोड करने की कार्यवाही करें। उन्होंनंे शीघ्र ही ईजी-2 की सूचना का आॅनलाईन अपडेषन करवाने पर विषेष जोर दिया।

उन्होंनंे राजस्थान सम्पर्क पोर्टल में उनके स्तर से बकाया प्रकरणों एवं एडोप्टर्स के रूप में जो प्रकरण सत्यापन करने शेष है उनको समय पर निस्तारित करने के निर्देष दिए। उन्होंनंे फीडिंग से बकाया रही जमाबंदी एवं नामान्तरकरण को शीघ्र आॅनलाईन फीडिंग कराने के निर्देष दिए एवं साथ ही जमाबंदियों के पटवारी व गिरदावर स्तर से प्रमाणीकरण कराने के निर्देष दिए।

जिला कलक्टर ने तहसीलदारों एवं नायाब तहसीलदारों को निर्देष दिए कि वे प्रमाण पत्र दें कि उनके क्षेत्र में कोई भी राजस्व रिकाॅर्ड में अमलदरामद होने से वंचित है। उन्होंने तहसीलदारों को आॅनलाईन मूलनिवास एवं जाति प्रमाण पत्र समय पर जारी करने के निर्देष दिए। उन्होंनें राजस्व अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे जोड, पायतन, तालाब के आगौर में जो अतिक्रमण रिपोर्ट किए गए है उनको हटाने की कार्यवाही प्राथमिकता से करावें। उन्होंनंे निर्देष दिये कि वे मुख्यमंत्री प्रकोष्ठ, राजस्व बोर्ड, अन्य आयोगांे से प्राप्त प्रकरणों को भी प्राथमिकता से समय पर निस्तारण करने के निर्देष दिये।

अतिरिक्त जिला कलक्टर ने राजस्व अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे रोडा एक्ट वसूली में बैकर्स को पूरा सहयोग दे एवं इसके लिए प्रतिमाह तारीख निर्धारित कर बैकर्स को बुलाकर वसूली में प्रगति लावे।

बैठक में उपखंड अधिकारी पोकरण मूल सिंह राजावत, फतेहगढ़ रण सिंह, जैसलमेर कैलाषचन्द्र शर्मा, सहायक आयुक्त उप निवेषन मोहनगढ मणीलाल तीरगर, तहसीलदार जैसलमेर वीरेन्द्र सिंह, पोकरण नारायणगिरी, फतेहगढ़ तुलछाराम विष्नोई, भणियाणा पुखराज भार्गव, उप निदेषक सूचना एवं प्रौद्योगिकी हरीषंकर, अतिरिक्त सूचना आविज्ञान अधिकारी चन्द्रेष कुमार के साथ ही अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top