edvertise

edvertise
barmer

जासूसी प्रकरण बाड़मेर*तीन साल लग गए सतनाम को पकड़ने में।।*

बाड़मेर जिले के सरहदी थाना क्षेत्र में गत दिनों पकडे गए आई एस आई के जासूस सतनाम माहेश्वरी पर खुफिया एजेंसिय तीन साल से नजर रख रही थी।तीन साल से सतनाम के फोन पर एजेंसितो की निगाहें थी।पहली बार 2014 में चौहटन से एजेंसी के एक कार्मिक ने सतनाम की संदिगध गतिविधियों की रिपोर्ट मुख्यालय को भेजी थी।जिसके बाद से उच्च स्तर से एजेंसियां सतनाम की हरकतों पर नजर रख रही थी।पुख्ता सबूत मिलने के बाद कार्यवाही अम्ल में लाई गई।।सूत्रों की माने तो बाड़मेर जिले में कोई दो दर्जन लोग एजेंसियो की नजर में हे जो पाक एजेंसी के लिए काम करते हैं। एजेंसियां सरहदी क्षेत्रो में इसकी अपने स्तर पर तहकीकात में जुटी हैं।जासूसों के पूरे नेटवर्क पर नजर रखे हे।रामसर,गागरिया,गडरा,सेड़वा,सहित कई इलाकों की रेकी की जा रही हैं।।कई तस्कर दायरे में हैं।जिनके नेटवर्क गुजरात के सरहदी इलाको के तस्करों और हवाला कारोबारियों से जुड़ा है।कच्छ,गांधीधाम,सीतपुर,पालनपुर ,में डेरा डाले बैठे बाड़मेर के तस्करों तक उनकी नजर हैं।।

बाड़मेर जिले से जासूसी प्रकरण में और प्रभावी कार्यवाही की संभावना को बल मिला हैं।।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top