edvertise

edvertise
barmer

बाड़मेर विधानसभा सत्र के लिए नियंत्रण कक्ष स्थापित
बाड़मेर, 23 फरवरी। राजस्थान विधानसभा का आठवां सत्र शुरू होने के कारण जिला मुख्यालय पर नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गई है। नियंत्रण कक्ष का दूरभाष नम्बर 02982-222226 एवं फैक्स नंबर 02982-221074 है। नियंत्रण कक्ष 24 घंटे कार्यरत रहेगा।
जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने बताया कि विधानसभा संबंधी कार्यों के लिये विभागवार कन्ट्रोल रूम का गठन करने के निर्देश दिए गए है। जो प्रातः 8 बजे से रात्रि 10 बजे तक कार्यरत रहेगा। विधानसभा सत्र के इस सत्र काल के लिए प्रभारी अधिकारी सामान्य शाखा को विधानसभा प्रकोष्ठ का प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया गया है। सत्रकाल मंे प्राप्त होने वाले प्रत्येक विधानसभा प्रश्न, ध्यानाकर्षण, लोकहित प्रस्ताव, आश्वासन आदि के उत्तर समय पर प्रेषित करने के लिए प्रभारी अधिकारी एवं समस्त अधिकारियांे को आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए है। उन्हांेने बताया कि विधानसभा सत्र के दौरान राज्य सरकार की ओर से गठित विभिन्न समितियांे जिनमंे विधानसभा सदस्य मनोनीत हो, बैठकें नहीं बुलाने के लिए निर्देशित किया गया है। निर्देशांे की अहवेलना पाए जाने पर इसको गंभीरता से लेते हुए अनुशासनात्मक कार्यवाही अमल मंे लाई जाएगी।
बाड़मेर मंे औद्योगिक विकास पर हुआ विचार-विमर्शबाड़मेर, 23 फरवरी। जिले मंे विभिन्न स्थानांे पर औद्योगिक क्षेत्र विकसित करने एवं उद्योग से जुड़े विभिन्न मामलांे पर जिला कलक्टर सुधीर शर्मा की अध्यक्षता मंे गुरूवार को आयोजित हुई जिला स्तरीय औद्योगिक समिति की बैठक के दौरान विचार-विमर्श किया गया।
बैठक के दौरान जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने शिव मंे औद्योगिक क्षेत्र के लिए पेयजल व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए जलदाय विभाग को तकमीना तैयार करने के निर्देश दिए। इस दौरान गुड़ामालानी मंे औद्योगिक भूमि पर उद्योग स्थापित नहीं करने वाले उद्यमियांे को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए गए। इस अवसर पर बालोतरा मंे औद्योगिक क्षेत्र चतुर्थ के पक्षकारांे के तामिरों के अवार्ड भुगतान के संबंध मंे क्षेत्रीय प्रबंधक रीको ने अवगत कराया कि इस प्रकरण से संबंधित दस्तावेज उपखंड अधिकारी को उपलब्ध करवा दिए गए है। आगामी एक-दो दिन मंे विज्ञप्ति प्रकाशित कर अवार्ड भुगतान की कार्यवाही की जाएगी। जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक घनश्याम गुप्ता ने बताया कि चौहटन एवं गुड़ामालानी मंे रीको औद्योगिक क्षेत्र विकसित करने के लिए 100 एकड़ राजकीय भूमि आवंटन का प्रस्ताव जिला कलक्टर कार्यालय को भिजवाया गया है। बालोतरा मंे नए औद्योगिक क्षेत्र की स्थापना के लिए सर्वे एवं चारदीवारी का कार्य प्रगति पर है। सीमाज्ञान के लिए राजस्व निरीक्षक एवं पटवारियांे की कमेटी गठित की गई है। इसके अलावा बालोतरा औद्योगिक क्षेत्र मंे सीमा विवाद संबंधित प्रकरण के निस्तारण के लिए भी टीम गठित की गई है।
इस अवसर पर बाड़मेर जिले मंे उपलब्ध खनिज पदार्थाें के उपयोग के संबंध मंे खान विभाग के वैज्ञानिक दिनेश कुमार ने बताया कि दो खानांे से नमूने लेकर जांच के लिए भिजवाए गए है। इसी तरह औद्योगिक क्षेत्र बालोतरा के चतुर्थ चरण मंे शिफिटग के लिए भूखंड आवंटन संबंधित प्रकरण मंे बताया गया कि मौका रिपोर्ट तैयार कर ली गई है। बैठक के दौरान लघु उद्योग भारती के अध्यक्ष कैलाश कोटडि़या ने जिला कलक्टर से रीको क्षेत्र का अवलोकन करने का अनुरोध किया। रीको क्षेत्र की समस्याआंे के संबंध मंे बताया गया कि सड़क मरम्मत का कार्य प्रारंभ करने के साथ सफाई कार्य का कार्यादेश जारी किया गया है। इस दौरान नगरीय उपकर से संबंधित प्रकरण मंे आवश्यक कार्यवाही के लिए जिला कलक्टर शर्मा ने रीको मुख्यालय को पत्र लिखने के निर्देश दिए। जिला स्तरीय औद्योगिक समिति की बैठक मंे लघु उद्योग भारती के अध्यक्ष कैलाश कोटडि़या, जलदाय विभाग के अधिशाषी अभियंता हजारीराम बालवा समेत विभिन्न विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।
पे पाइंट के लिए आवेदन पत्र तैयार करवाने के निर्देशबाड़मेर, 23 फरवरी। जिला मुख्यालय पर गुरूवार को आयोजित भामाशाह योजना की वीडियो कान्फ्रेंस में अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी.बिश्नोई ने उपखण्ड अधिकारियों एवं विकास अधिकारियों को निर्देशित किया कि पे-पॉइन्ट बनाने के लिए प्रत्येक ग्राम में कम से कम एक आवेदन-पत्र आवश्यक रूप से भरकर तैयार करवाए।
इस दौरान बिश्नोई ने बताया कि आवेदन-पत्र के साथ आधार कार्ड, बैंक चालू खाता, पैन नं., पुलिस सत्यापन, शैक्षणिक योग्यता आदि के प्रपत्र आवश्यक रूप से संलग्न किए जाए। साथ ही आवेदन पत्र तैयार करवाकर क्षेत्र की सबंधित नजदीकी बैंक में जमा कराएं। यह कार्य 5 मार्च 2017 तक पूर्ण कर लिया जाए। उन्हांेने कहा कि वर्तमान मे चल रहे भामाशाह सुविधा शिविरों की प्रगति धीमी हैं। ऐसे मंे संबंधित अधिकारी शिविरांे मे किए जाने वाले कार्य यथा आधार, भामाशाह नामांकन,सीडिंग,भामाषाह कार्ड वितरण,डी.बी.टी. के लिए पर्याप्त प्रचार-प्रसार करें। भामाशाह नामांकन से शेष रहे परिवारों,सदस्यों एवं पेंशन एन.एफ.एस.ए. के शेष रहे लाभार्थियों की सूची ग्रामसेवक के पास आवश्यक रूप से उपलब्ध रहे।
जिला कलक्टर ने किया रोजगार से संबंधित पोस्टर का विमोचनबाड़मेर, 23 फरवरी। केयर्न उद्यमिता केन्द्र, बाडमेर के तत्वावधान में चलाये जा रहे 20 से भी अधिक रोजगारपरक प्रशिक्षण एवं अन्य गतिविधियांे से संबंधित पोस्टर का विमोचन जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने किया।
सीईसी मैनेजर संयोग यादव ने बताया कि पोस्टर विमोचन का उद्देश्य प्रत्येक ग्राम पंचायत तक केयर्न द्वारा राज्य सरकार के सहयोग से चलायी जा रही रोजगार की मुहिम को आगे बढ़ाना है, जिससे विशेषकर मनरेगा में 100 दिन का रोजगार पूरा कर चुके परिवार के सदस्य, दीनदयालउपाध्याय कौशल योजना में पंजीकृत युवा और 18 से 35 वर्ष के बेरोजगार युवा रोजगार से जुड़कर लाभ प्राप्त कर सके। पोस्टर विमोचन के अवसर पर अतिरिक्त जिला कार्यक्रम समन्वयक सुरेश कुमार दाधीच, आरएसएलडीसी जिला समन्वयक मुकेश राठौड़, केयर्न सीएसआर मैनेजर हेमंत शर्मा उपस्थित रहे।
रात्रि चौपाल मंे हुआ कई समस्याआंे का समाधानबाड़मेर, 23 फरवरी। अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी.बिश्नोई ने बुधवार को आकोड़ा ग्राम पंचायत मुख्यालय पर आयोजित रात्रि चौपाल के दौरान आमजन की समस्याआंे का सुनकर संबंधित अधिकारियांे को समाधान के निर्देश दिए। इस दौरान कई समस्याआंे का मौके पर ही निस्तारण किया गया।
अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी.बिश्नोई ने बताया कि रात्रि चौपाल के दौरान ग्रामीणांे ने अवगत कराया कि ग्राम पंचायत को जोड़ने वाली मुख्य सड़क पिछले पांच साल से क्षतिग्रस्त है। इस पर पेच वर्क भी नहीं कराया गया है। अतिरिक्त जिला कलक्टर बिश्नोई ने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता को इस सड़क की मरम्मत कराने के निर्देश दिए। साथ ही पेचवर्क क्यों नहीं किया गया, इस संबंध मंे वस्तुस्थिति से अवगत कराए। रात्रि चौपाल के दौरान विद्युत व्यवस्था की समीक्षा के दौरान बताया गया कि जलदाय विभाग के हैडवर्क्स पर विद्युतापूर्ति कम करने से पेयजल संकट उत्पन्न हो गया है। अतिरिक्त जिला कलक्टर ने डिस्काम के अधिकारियांे को सुचारू विद्युतापूर्ति करने के निर्देश दिए। आकोड़ा ग्राम पंचायत मंे जल स्त्रोतांे पर बूस्टर की व्यवस्था कर जलापूर्ति सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए गए। ग्रामीणांे ने बताया कि ग्राम पंचायत मुख्यालय पर एएनएम का पद काफी समय से रिक्त हैं इस पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को एएनएम की नियुक्ति करने के निर्देश दिए गए। रात्रि चौपाल मंे जन कल्याणकारी योजनाआंे की जानकारी देने के साथ समीक्षा की गई। इस दौरान उपखंड अधिकारी समेत विभिन्न विभागीय अधिकारी एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top