अजमेर।हिस्ट्रीशटर रामकेश मीणा का पोस्टमार्टम, अस्पताल के बाहर जुटे नेताओं की तरह समर्थक

हिस्ट्रीशटर रामकेश मीणा का पोस्टमार्टम, अस्पताल के बाहर जुटे नेताओं की तरह समर्थक
अलवर गेट थाने के हिस्ट्रीशीटर रामकेश मीणा का बुधवार को जवाहरलाल नेहरू अस्पताल में पोस्टमार्टम किया गया। मेडिकल बोर्ड ने कड़ी सुरक्षा के बीच पोस्टमार्टम किया।

उधर अस्पताल के बाहर नेताओं की तरह हिस्ट्रीशीटर के समर्थकों की भीड़ जुट गई। पुलिस ने पूरे इलाके को छावनी बना दिया। उधर गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया राज्य में लॉ एन्ड ऑर्डर से जुड़े सवाल पर उखड़ गए। वे मीडियाकर्मियों से बिना बात करे चले गए।

श्रीनगर रोड पर मंगलवार शाम कार में आए हमलावरों ने गोली मार कर हत्या कर दीथी। ताबड़तोड़ फायरिंग में रामकेश के आठ गोलियां लगी। हमले में कार में सवार उसका बचपन का दोस्त जख्मी हो गया। उसने उसको अस्पताल पहुंचाया लेकिन चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटनास्थल व रामकेश की कार से पुलिस को आधा दर्जन जिन्दा कारतूस व खाली खोल मिले।

प्रॉपर्टी व्यवसाय में पनपी प्रतिस्पद्र्धा को लेकर रामकेश पर यह पन्द्रह दिन में दूसरा हमला था। वारदात के बाद पुलिस जिलेभर में नाकाबंदी कर संदिग्ध कार की तलाश में जुटी है। बुधवार को रामकेश के शव का पुलिस ने जवाहरलाल नेहरू अस्पताल में पोस्टमार्टम कराया। मेडिकल बोर्ड में शामिल डॉक्टरों ने उसका विसरा और अन्य चीजें संग्रहित की।

यूं हुई थी हत्या

अलवर गेट थाने का हिस्ट्रीशीटर विष्णु हिल टाउन कालू की ढाणी निवासी रामकेश मीणा शाम करीब 6 बजे श्रीनगर रोड निवासी अपने दोस्त अनिल महावर के साथ कार में घर लौट रहा था। वह श्रीनगर रोड स्थित श्रीधूनी वाले हनुमान मंदिर में दर्शन के लिए ठहरा। इस दौरान उनका पीछा करते हुए आई सफेद रंग की अजमेर नंबर की कार से उतरे 3-4 बदमाशों ने रामकेश की कार पर ताबड़तोड़ देशी कट्टे से फायरिंग कर दी।

रामकेश कार से बाहर गिर गया। फायरिंग के बाद हमलावर मौके से भाग गए। दिनदहाड़े हुई वारदात से सनसनी फैल गई। अनिल ने रामकेश को जवाहरलाल नेहरू अस्पताल पहुंचाया। चिकित्सकों के उसकी हालत गंभीर बताने पर रिश्तेदार व साथी पुष्कर रोड स्थित निजी अस्पताल ले गए जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top