edvertise

edvertise
barmer



जोधपुर  JNVU शिक्षक भर्ती घोटाला: पूर्व विधायक को एयरपोर्ट तो पीआरओ को कैफेटेरिया से लिया हिरासत में


जेएनवीयू शिक्षक भर्ती घोटाले की जांच कर रही एसीबी ने शुक्रवार को बड़ी कार्रवाई कर चार लोगों को गिरफ्तार किया। एसीबी ने शिक्षक भर्ती घोटाले से जुड़े पूर्व विधायक जुगल काबरा और पीआरओ रामनिवास ग्वाला को काफी नाटकीय और फिल्मी अंदाज में हिरासत में लिया गया। काबरा दिल्ली से जोधपुर पहुंचे ही थे और एसीबी की टीम ने वहीं से उन्हें हिरासत में लिया जबकि युनिवर्सिटी पीआरओ ग्वाला को कैफेटेरिया में कॉफी पी रहे थे, जब टीम वहां पहुंची। दो बार पुलिस और एसीबी की टीम उन्हें पकडऩे में नाकाम रही, लेकिन पीआरओ को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया गया।जेएनवीयू के तत्कालीन कुलपति बीएस राजपुरोहित, जेएनवीयू शिक्षक डी एस. खींची और एक लिपिक को भी इस मामले में गिरफ्तार किया। इस कार्रवाई के लिये एसीबी के आईजी वीके सिंह स्वयं जोधपुर आए। नाटकीय घटनाक्रम से एसीबी ने इन आरोपियों को गिरफ्तार किया और इन्हें पुलिस गेस्ट हाउस लाया गया। एसीबी आईजी वीके सिंह ने इनकी गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए बताया कि इनके खिलाफ एसीबी के पास पर्याप्त सबूत हैं। वहीं शिकायत कर्ता ओमप्रकाश भाटी ने भावुक होते हुए इसे सत्य की जीत बताया। गौरतलब है कि जेएनवीयू शिक्षक भर्ती घोटाले की गूंज पूरे देश में सुनाई दी थी। जेएनवीयू शिक्षक भर्ती घोटाले का मामला विधानसभा में भी उठ चुका है। राज्य की वसुन्धरा सरकार ने इस मामले की निष्पक्ष जांच करवाने के लिए ये मामला एसीबी को सौंपा था। एसीबी लम्बे समय से इस मामले की जांच कर रही है। इसमें तत्कालीन कुलपति बीएस राजपुरोहित से भी पूछताछ की जा चुकी है।
 

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top