edvertise

edvertise
barmer



जालोर केन्द्रीय दल ने क्षतिग्रस्त सडकों का किया निरीक्षण,

ग्रामीणजनों से रूबरू होकर जल प्लावन से जानी समस्यायें



जालोर 11 जनवरी - डाॅ.एच.आर. खन्ना के नेतृत्व में तीन सदस्यी केन्द्रीय दल ने बुधवार को जिले में विभिन्न स्थानों का दौरा कर बाढ से क्षतिग्रस्त सडकों एवं परिसम्पतियों का जायजा लिया तथा ग्रामीणजनो से रूबरू होते हुए जल प्लावन के कारण ग्राम में उत्पन्न हुई स्थितियों के सम्बन्ध में पूछताछ भी की।

जालोर जिले में वर्षाकाल 2016 में बाढ से हुए नुक्सान का जायजा लेने के लिए नई दिल्ली से आये अन्तर मंत्रालयिक केन्द्रीय दल ने बुधवार को जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता एवं आहोर विधायक शंकरसिंह राजपुरोहित के साथ नौसरा, सुगालिया जोधा, वागुन्दा, निम्बला, भाद्राजून, मोहीवाडा एवं किशनगढ आदि ग्रामों का सघन दौरा किया तथा क्षतिग्रस्त सडकों का निरीक्षण करने के अतिरिक्त विभिन्न स्थानों पर वर्तमान में पडे वर्षा के पानी को देखते हुए उपस्थित ग्रामीणजनों से भी पूछताछ की । केन्द्रीय दल सर्वप्रथम नौसरा ग्राम में नहर के किनारें रूका तथा वहां पर खेतों में पडे पानी को देखते हुए उपस्थित ग्रामीणजनों से ग्राम में पीने के पानी की व्यवस्था एवं फसल के सम्बन्ध में पूछा जिस पर ग्रामीणजनों ने बताया कि फ्लोराईड्स की समस्या होने के साथ ही दलदल के कारण इस बार समय पर बुवाई नही कर पायें है ।

केन्द्रीय दल ने उसके बाद नोसरा-सुगालिया जोधा की क्षतिग्रस्त सडक मार्ग का निरीक्षण करने के उपरान्त सुगालिया ग्राम में स्थित अटल सेवा केन्द्र के आगे एकत्रित ग्रामीणजन परबतसिंह, मांगीलाल व दानाजी से रूबरू होते हुए ग्राम में अतिवृष्टि के कारण फसल की बुवाई एवं पशु क्षति के सम्बन्ध में जानकारी ली। केन्द्रीय दल उसके बाद वागुन्दा होते हुए निम्बला ग्राम पहुचा जहाॅ मध्य में क्षतिग्रस्त सडक मार्ग को भी देखा तथा भाद्राजून के आगे मालगढ-रूढमाल की ढाणी तथा वलदरा कवराडा जाने वाली टूट हुई सडक का भी अवलोेेकन किया जहां पर नोारवा सरपंच ममता सुथार एवं ग्रामीणजन पाताराम,दलपतसिंह एवं हीरसिंह आदि ने टूटी हुई सडक के कारण हो रही परेशानी से अवगत करवाया जहां पर केन्द्रीय दल ने ग्रामीणजनों से पशुओं के यथासमय पर टीके आदि लगवाये जाने के भी निर्देश दिये। केन्द्रीय दल उसके बाद मोहीवाडा ग्राम पहुचा जहां पर ग्रामीणजन शंकर भारती व ईश्वरसिंह थूम्बा ने ग्राम में वर्षा के पानी के कारण हो रही समस्याओं के सम्बन्ध में बताया वही केन्द्रीय दल ने इसके बाद किशनगढ की टूटी हुई सडक को देखा।

निरीक्षण के दौरान जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता एवं आहोर विधायक शंकरसिंह राजपुरोहित ने क्षेत्रा में वर्षा के कारण क्षतिग्रस्त सडकों एवं अनेक स्थानों पर वर्तमान में फैले हुए पानी की जानकारी देने के अतिरिक्त की गई व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में बताया। इस अवसर पर अतिरिक्त कलेक्टर पी.एस.नागा, सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियन्ता एन.के. माथुर, आहोर उपखण्ड अधिकारी प्रकाशचन्द्र अग्रवाल, आहोर तहसीलदार पंकज कुमार, समाजसेवी राजवीरसिंह सहित विभिन्न अधिकारी एवं गणमान्य नागरिक साथ थें।

-----000---




केन्द्रीय दल ने जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों से जानी प्रमुख समस्याएँ
जालोर 11 जनवरी - केन्द्रीय दल के डा. एच.आर. खन्ना की अध्यक्षता में बुधवार को कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में बैठक सम्पन्न हुई जिसमें जिले में बाढ व अतिवृष्टि से उत्पन्न हुई विभिन्न जन समस्याओं के सम्बन्ध में प्रमुख जन प्रतिनिधियों एवं सम्बन्धित अधिकारियों से आवश्यक जानकारियाॅ प्राप्त करते हुए आवश्यक निर्देश भी दिए।

तीन सदस्यी केन्द्रीय दल के प्रमुख अधिकारी डा. एच.आर. खन्ना की अध्यक्षता में बुधवार को कलेक्टेªट सभा कक्ष में आयोजित बैठक में जालोर सिरोही सांसद देवजी पटेल, जिलाप्रमुख डा. वन्नेसिंह गोहिल, आहोर विधायक शंकरसिंह राजपुरोहित, रानीवाडा विधायक नारायणसिंह देवल, जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता एवं पुलिस अधीक्षक कल्याणमल मीना सहित अनेक जनप्रतिनिधि उपस्थित थें।

बैठक में स्थानीय सांसद देवजी पटेल ने कहा कि वर्षा के कारण सामान्य रूप से नेहड क्षेत्रा में पानी भर जाता है जिसका स्थायी समाधान किया जाना चाहिए वही रिंग रोड बनाई जाये जबकि होथी ग्राम जोकि आदर्श ग्राम के रूप में चयनित है वहा पर वर्षा के दौरान टापू की स्थिति बन जाती है जिसके लिए भी आवश्यक प्रबंधन किये जाने चाहिए । उन्होनें सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा सडकों की मरम्मत एवं निर्माण के लिए वर्तमान मापदण्डों में भी बदलाव की आवश्यकता जताई । बैठक में जिलाप्रमुख डा. वन्नेसिंह गोहिल ने सांचैर व चितलवाना क्षेत्रा में नेहड की प्रमुख समस्या का स्थायी निदान किये जाने की आवश्यकता जताई वही बैठक में आहोर विधायक शंकरसिंह राजपुरोहित ने कहा कि आहोर क्षेत्रा के अनेक ग्रामों में भूमि के नीचे जिप्सम की अधिकता है जिसके कारण वर्षा का पानी लम्बे समय तक सूख नही पाता है तथा आवागमन बाधित हो जाता है वही रानीवाडा विधायक नारायणसिंह देवल ने क्षैत्रा में क्षतिग्रस्त सडकों एवं पुलियों की मरम्मत के लिए आवश्यक राशि देने की मांग की।

बैठक के प्रारभ्भ में जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता ने पाॅवर पोईन्ट प्रजेटेशन के माध्यम से जिले में वर्षा से क्षतिग्रस्त सडकें एवं लूणी एवं जवाई नदी में आये पानी से उत्पन्न समस्याओं के सम्बन्ध में बताते हुए कहा कि जिले में 383 ग्राम अभाव ग्रस्त घोषित किये गये है जिसमें आहोर क्षेत्रा के 55 ग्राम शामिल है जहां पर अत्यधिक वर्षा हुई वही चितलवाना एवं सांचैर क्षेत्रा में कम वर्षा होने बावजूद लूणी नदी में आये पानी से नेहड क्षेत्रा के कुछ क्षेत्रों में वर्तमान में भी पानी भरा हुआ है तथा जनप्रतिनिधियों के सहयोग से क्षेत्रा में आवश्यक व्यवस्थाओं को सुनिश्चित किया गया है। बैठक में नर्मदा नहर परियोजना के अधीक्षण अभियन्ता सुरेश माथुर एवं सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियन्ता एन.के. माथुर ने वर्षा के कारण उत्पन्न समस्याओं के सम्बन्ध में बताया।

बैठक में केन्द्रीय दल के प्रमुख सदस्य डा. एच.के. खन्ना ने आवश्यक जानकारी प्राप्त करने के उपरान्त कहा कि केन्द्रीय दल वर्षा के कारण क्षतिग्रस्त सडकों एवं परिसम्पतियों का जायजा लेने के लिए आया है तथापि जिले की प्रमुख जन समस्याओं के सम्बन्ध में आवश्यक टिप्पणी अवश्य ही की जायेगी। बैठक में सदस्य देवांश नुवाल ने कहा कि क्षेत्रा में डामर की सडकों के स्थान पर सीसी सडके बनवाई जानी चाहिए।

बैठक में चितलवाना प्रधान हनुमानप्रसाद भादू ने भी क्षेत्रा की समस्यायें रखी। इस अवसर पर जालोर प्रधान संतोष राणा, आहोर प्रधान श्रीमती राजेश्वरी कंवर, सांचैर प्रधान टाबाराम, अतिरिक्त कलेक्टर पी.एस.नागा, मुख्य कार्यकारी अधिकारी हरिराम मीना, जालोर उपखण्ड अधिकारी दौलतराम, आहोर उपखण्ड अधिकारी प्रकाशचन्द्र अग्रवाल, जालोर तहसीलदार ममता लहुआ सहित विभिन्न प्रमुख विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी आदि उपस्थित थें।

----000---

अधिकारी जिले के सर्वागीण विकास के लिए कार्य करे- गोहिल
जालोर जिला परिषद की सामान्य बैठक सम्पन्न

जालोर 11 जनवरी - जिला प्रमुख डाॅ. वन्नेसिंह गोहिल ने कहा कि जिले में पानी, बिजली, चिकित्सा एवं अन्य विभागीय कार्यो सहित विकास कार्यो में अधिकारी क्षेत्रा के जनप्रतिनिधियों के साथ टीम भावना से कार्य करते हुए क्षेत्रा का सर्वागीण विकास करवायें तथा नकारात्मकता से बचते हुए जरूरत मंद लोगों को लाभाविन्त करें।

जिला प्रमुख डा. गोहिल जिला परिषद की सामान्य बैठक में उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित कर रहे थें। बैठक में रानीवाडा विधायक नारायणसिंह देवल, जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता, पुलिस अधीक्षक कल्याणमल मीना एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हरिराम मीना भी उपस्थित थें। बैठक के प्रारभ्भ में गत बैठक में लिये गये निर्णयों पर हुई प्रगति पर विस्तार से चर्चा की गई तथा नवीन प्रस्तावों को पारित किया गया।

बैठक मे जिला प्रमुख डाॅ. वन्नेसिंह गोहिल ने कहा कि जिला परिषद की बैठक में सदस्यों द्वारा रखें गये प्रश्नों एवं समस्याओं को प्राथमिकता देते हुए सम्बन्धित अधिकारी उनका तत्काल निराकरण करते हुए उसकी पालना रिपोर्ट परिषद को भिजवाई जानी सुनिश्चित करें। उन्होनें जलदाय विभाग द्वारा सम्बन्धित ग्राम पंचायतों द्वारा पानी से सम्बन्धित बकाया एनओसी में विलम्ब की प्रवृत्ति को गंभीरता से लेते हुए कहा कि भविष्य में इसमेें किसी भी प्रकार की आनाकानी नही होनी चाहिए तथा राज्य सरकार द्वारा जारी निर्देशों की सुनिश्चितता की जायें। उन्होंने विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियन्ता को ग्रामीण क्षेत्रों मंे रात्रिकाल के दौरान बिजली कटौती नहीं करने तथा ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली के खम्भे 45 मीटर की दूरी पर लगाये जाकर सर्वे में चिन्हित परिवारों को बिजली कनेक्शन देने के निर्देश दिये।

बैठक में सांसद देवजी पटेल ने प्रधानमंत्राी आवास योजना में पात्रा परिवारों का सही ढंग से चयन करने के लिए ग्रामसेवक एवं सरपंच से सत्यापित प्रमाण पत्रा लेने के पश्चात् ही उनका चयन किया जाये । उन्होने परिवहन विभाग को जिले में चल रही अवैध रूप से चल रही निजी बसों को बन्द कर उनके स्थान पर परिवहन सेवा से जुडी बसों को शुरू कर राजस्व ग्रामों को बस सेवा से लाभान्वित करने के निर्देश दिये। उन्होंने सांसद निधि मद से जालोर जिले के सभी नगर निकाय क्षेत्रों में चोरी की रोकथाम के लिए सीसीटीवी कैमरों के लिए 10-10 लाख रूपयों की राशि की घोषणा की।

बैठक में भीनमाल विधायक पूराराम चैधरी ने कहा कि विद्युत विभाग के अधीक्षण अभियन्ता को बिजली की रिडिंग सही ढंग से लेने के लिए सम्बन्धित कार्मिकों को पाबन्द करने के निर्देश दिये। रानीवाडा विधायक नारायणसिंह देवल ने कहा कि प्रमुख मार्गो पर बिछाई जा रही पानी की पाईप लाईनों से तोडी गई सडक के मरम्मत के लिए सम्बन्धित फर्म व कम्पनी से वसूली की जाये तथा गढवाली से सिलू घाट तक सडक बनाये जाने की आवश्यकता जताई। जालोर विधायक श्रीमती अमृता मेघवाल ने क्षेत्रा की विभिन्न समस्याओं के बारे में बताते हुए उनका समय पर निस्तारण करने के निर्देश दिये। बैठक में जिला कलेक्टर अनिल गुप्ता ने महिला एवं बाल विकास विभाग की उप निदेशक श्रीमती सती चैधरी को चितलवाना पंचायत समिति में कार्यरत कार्मिक के विरूद्व आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिये। बैठक में पुलिस अधीक्षक कल्याणमल मीना ने सदन द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में अवैध रूप से चल रही शराब की दुकानों पर अंकुश लगाने की मांग पर तत्काल कार्यवाही करने का आश्वासन दिया । उन्होंने जिले के सभी माध्यमिक विद्यालयों में गरिमा शिकायत पेटी लगाये जाने की आवश्यकता जताई ।

बैठक में उप जिला प्रमुख श्रीमती गिरधर कंवर ने ग्रामीण क्षेत्रों में आदर्श तालाब पर हो रहे अतिक्रमण शीघ्र हटाने तथा बन्द पडे आरओ प्लान्टों को ठीक करवाकर शुरू करवाने के निर्र्देश दिये। बैठक में मुख्य कार्यकारी अधिकारी हरिराम मीना ने गत बैठक की कार्यवाही व प्रगति तथा जिला परिषद एवं ग्रामीण विकास प्रकोष्ठ द्वारा संचालित योजनाओं के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी। बैठक में महात्मा गांधी नरेगा योजना, मुख्य मंत्राी जल स्वावलम्बन अभियान, मुख्य मंत्राी आवास योजना, स्थानीय सांसद एवं विधायक क्षेत्रा विकास योजना आदि की विस्तार से समीक्षा भी की गई। बैठक में महात्मा गांधी नरेगा योजना वर्ष 2017-18 के श्रम बजट एवं वार्षिक कार्य योजना का अनुमोदन किया गया।

बैठक में सायला प्रधान जबरसिंह, जालोर प्रधान सुश्री संतोष, चितलवाना प्रधान हनुमान प्रसाद भादु, जसवन्तपुरा प्रधान पिंकी पुरोहित, सांचैर प्रधान टाबाराम, रानीवाडा प्रधान रमीला, जिला परिषद सदस्य मंगलसिंह सिराणा, खेंमराज देसाई, माधोसिंह, भूपेन्द्रसिंह, श्रीमती अरूणा कंवर, ओंबाराम, वचनाराम, मीरा देवी एवं पवनी देवी ने भी अपने-अपने क्षेत्रा की जन समस्याओं को रखा। इस अवसर पर सहित विभिन्न सदस्य एवं जिला स्तरीय अधिकारी आदि उपस्थित थें।

जिला परिषद की बैठक के पश्चात् आयोजित समिति की बैठक में मुख्य कार्यकारी अधिकारी हरिराम मीना ने समस्त विकास अधिकारियों को आयोजना समिति का वार्षिक प्रतिवेदन 2016-17 को 20 जनवरी तक भिजवाने हुए प्लान प्लस साॅफ्टवेयर में भी अपलोड करने के निर्देश दिये। ---000---

जिला स्तरीय पेंशन निस्तारण समिति में 18 प्रकरणों का निस्तारण

जालोर 11 जनवरी- जिला स्तरीय पेंशन निस्तारण समिति की त्रौमासिक बैठक जिला कलक्टर अनिल गुप्ता की अध्यक्षता में आयोजित हुई जिसमंे 18 पेंशन प्रकरणों का निस्तारण किया गया।

बैठक में जिला कलक्टर अनिल गुप्ता ने सभी अधिकारियों को अपने विभाग से सम्बन्धित बकाया पेंशन प्रकरणों का शीघ्र ही निस्तारण करने के निर्देश दिये। पेंशन विभाग जोधपुर की अतिरिक्त निदेशक कीर्ति कच्छवाहा ने पेंशन विभाग द्वारा आक्षेप किये जाकर लौटाये गये पेंशन प्रकरणों की कार्यालय स्तर पर तत्काल समीक्षा कर आक्षेप निरस्त किया जाकर पुनः पेंशन स्वीकृति के लिए पेंशन विभाग को भिजवाने के निर्देश दिये। कोषाधिकारी कानाराम प्रजापत ने बताया कि बैठक में पेंशन प्रकरणों की समीक्षा कर 18 प्रकरण निस्तारित किये गये।

इस अवसर पर जालोर तहसीलदार ममता लहुआ, ेभीनमाल तहसीलदार शंकराराम, परियोजना अधिकारी (वित्त एवं लेखा) ललित कुमार दवे, जिला परिषद के लेखाधिकारी चम्पालाल जीनगर, पेंशनर समाज के अध्यक्ष धनराज दवे एवं पेंशन हैल्पलाईन संयोजक ईश्वरलाल शर्मा सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी व कार्मिक उपस्थित थे।

----000--

़70 ग्राम पंचायतों में गुरूवार को होगा सामाजिक अंकेक्षण कार्य
जालोर 11 जनवरी - महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गांरटी योजना एवं इन्दिरा आवास योजना अन्तर्गत द्वितीय चरण में 12 जनवरी गुरूवार को जिले की 70 ग्राम पंचायतों में ग्राम सभाओं का आयोजन किया जाएगा जिसमें गठित दलों की ओर से सामाजिक अंकेक्षण की रिपोर्ट को पढकर सुनाये जाने के साथ आपत्तियाॅ आदि भी प्राप्त की जाएगी।

जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी हरिराम मीना ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार महात्मा गांधी नरेगा योजना एवं इन्दिरा आवास योजनान्तर्गत वित्तीय वर्ष 2016-17 के 01 अप्रेल, 2016 से 30 सितम्बर, 2016 तक पूर्ण, अपूर्ण एवं प्रगतिरत समस्त कार्यो का सामाजिक अंकेक्षण कार्य जिला स्तर व ब्लाॅक स्तर पर गठित दलों द्वारा किया जाएगा जिसके तहत द्वितीय चरण में 12 जनवरी को जिले की 70 ग्राम पंचायतों में ग्राम सभाओं का आयोजन किया जाएगा जिसमें जिला कलक्टर द्वारा नियुक्त पर्यवेक्षक ग्राम सभा में उपस्थित रहकर सामाजिक अंकेक्षण का पर्यवेक्षण करेंगे तथा अपनी रिपोर्ट प्रपत्रा-10 में तैयार कर प्रस्तुत करेंगे।

उन्होने बताया कि निर्धारित कार्यक्रम के तहत द्वितीय चरण में जिले की 70 ग्राम पंचायतों में जालोर पंचायत समिति के डूडसी, चांदणा, दीगांव, ऊण, बागरा, चूरा व नून में, सायला पंचायत समिति के तिलोडा, कोमता, आंवलोज, पांथेडी, मेंगलवा, खेतलावास, बावतरा, जीवाणा, वालेरा व तेजा की बेरी में, आहोर पंचायत समिति के भैंसवाडा, काम्बा, अजीतपुरा, निम्बला, चान्दराई, रामा, नोरवा, भोरडा, बांकली, थांवला व चवरछा में, भीनमाल पंचायत समिति के जुंजाणी, राउता, थोबाऊ, नरसाणा, लूणावास, नरता, लाखणी, दांतीवास व फागोतरा में, जसवंतपुरा पंचायत समिति के धानसा, पूरण, थूर, तातोल, कलापुरा, पंसेरी, सावीधर व बूगांव में, रानीवाडा पंचायत समिति के सेवाडा, मालवाडा, आलडी, आजोदर, चाटवाडा, रतनपुर, मेडा व सुरजवाडा में, सांचैर पंचायत समिति के धमाणा, जाखल, दाता, हरियाली, चैरा, भादरूणा, पमाणा, पालडी एस. व सरनाऊ में तथा चितलवाना पंचायत समिति के केरिया, सेसावा, टांपी, भीमगुडा, सुंथडी, डावल, जोरादर व ईटादा ग्राम पंचायतों में रिकाॅर्ड की जाॅच की जाएगी।

---000----








0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top