बाड़मेर बोर्डर टयूरिज्म एवं मेलांे के जरिए मिलेगा पर्यटन को बढावा
बाड़मेर, 22 दिसंबर। बोर्डर टयूरिज्म को विकसित करने के साथ जिले में समय-समय पर आयोजित होने वाले मेलांे के जरिए पर्यटन को बढावा दिया जाएगा। मुनाबाव के बाद अब रेडाणा मंे बाहरी लोगांे के प्रवेश संबंधित रियायत दिलाने के लिए उच्च स्तर पर लिखा जाएगा। इस संबंध मंे गुरूवार को जिला कलक्टर सुधीर शर्मा की अध्यक्षता मंे हुई जिला पर्यटन समिति की बैठक के दौरान यह निर्णय लिए गए।

जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने पर्यटन को बढावा देने के लिए जिले मंे आयोजित होने वाले मेलांे मंे लगातार विभिन्न प्रकार के आयोजन करने के लिए कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए। इसकी शुरूआत चौहटन कस्बे मंे आगामी कुछ समय मंे लगने वाले सुंइया मेले के दौरान होगी। पर्यटन समिति की बैठक के दौरान बाड़मेर के प्रमुख पर्यटक स्थलांे को विकसित करने, पेट्रो टयूरिज्म के लिए केयर्न इंडिया को कार्ययोजना बनाने, एडवेचर टूरिज्म को बढावा देने, गढ़ मंदिर का रास्ता बड़े वाहनांे के लिए खोलने, मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत सोननाडी को टयूरिज्म पाइंट एवं पार्क को विकसित करने पर चर्चा हुई। बैठक के दौरान सहायक पर्यटन अधिकारी खमेन्द्रसिंह ने पर्यटन को बढ़ावा देने संबंधित कार्य योजना के बारे मंे विस्तार से जानकारी दी। इस दौरान व्यवसायी पुरूषोतम खत्री, इंटेक चेप्टर के यशोवर्धन शर्मा,धनराज जोशी ने पर्यटन को बढावा देने के संबंध मंे सुझाव दिए। जिला कलक्टर सुधीर शर्मा ने सोननाडी को टयूरिज्म पाइंट के रूप मंे विकसित करने के लिए संपर्क मार्ग संबंधित मौका मुआयना करने के निर्देश नगरपरिषद के अधिशाषी अभियंता ओमप्रकाश ढीढवाल को दिए। बैठक के दौरान थार महोत्सव का आयोजन करवाने, जिले मंे पर्यटन के लिहाज से धोरों को चिन्हित करने समेत विभिन्न मुददांे पर विस्तार से विचार-विमर्श किया गया। बैठक मंे केयर्न इंडिया के सुंदरराज, सेवानिवृत कमांडेट जोरसिंह, जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक घनश्याम गुप्ता समेत कई गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top