edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर अधूरे कार्याें को प्राथमिकता से पूर्ण करवाएंःनेहरा

-प्रगतिरत कार्याें के उपयोगिता एवं पूर्ण कार्याें के पूर्णता प्रमाण पत्र भिजवाने के निर्देष


बाड़मेर, 20 दिसंबर।
अधूरे कार्याें को प्राथमिकता पूर्ण करवाएं। प्रगतिरत कार्याें के उपयोगिता एवं पूर्ण कार्याें के पूर्णता प्रमाण पर समय पर भिजवाना सुनिष्चित करें। जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने सोमवार को कलेक्ट्रेट कांफ्रेस हाल मंे ग्रामीण विकास योजनाआंे की समीक्षा बैठक के दौरान यह बात कही।


समीक्षा बैठक के दौरान जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने कहा कि समस्त विकास कार्याें के लंबित तकनीकी स्वीकृति के प्रस्ताव आवष्यक रूप से 31 दिसंबर तक भिजवाए जाए। उन्हांेने कहा कि समस्त कार्याें को शुरू करने से पूर्व जीयो टेंिगग की जाए। नेहरा ने कहा कि स्वच्छ भारत मिषन के तहत दिसंबर माह तक समस्त ग्राम पंचायतांे की 25 फीसदी, मार्च 2017 तक 50 फीसदी ग्राम पंचायतांे को खुले मंे शौच से मुक्त करवाना सुनिष्चित करें। उन्हांेने कहा कि ग्राम पंचायतांे को खुले मंे शौच से मुक्त कराने के लिए रूपरेखा तैयार करने के साथ विकास अधिकारी नियमित रूप से समीक्षा करें। इस दौरान उन्हांेने विभाग एवं पंचायत समितिवार विकास कार्याें की समीक्षा करते हुए इनकी नियमित मोनेटरिंग कर निर्धारित समयावधि मंे पूर्ण करवाने के निर्देष दिए। इस अवसर पर सीमांत क्षेत्र विकास कार्यक्रम के तहत डिस्काम, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, वन विभाग, सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियांे को प्रगतिरत कार्याें को प्राथमिकता से पूर्ण करवाने के निर्देष दिए। समीक्षा बैठक के दौरान महात्मा गांधी नरेगा, सांसद एवं विधायक स्थानीय क्षेत्र विकास कार्यक्रम, इंदिरा, प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री बीपीएल आवास योजना, गुरू गोलवलकर योजना, स्व विवेक, अन्य चिन्हित वर्ग आवास योजना की प्रगति की समीक्षा की गई।

जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आज
बाड़मेर, 20 दिसंबर। जिला ग्रामीण स्वास्थ्य समिति की मासिक बैठक मंगलवार 21 दिसंबर को कलेक्ट्रेट कांफ्रेस हाल मंे जिला कलक्टर की अध्यक्षता मंे रखी गई है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा.एस.के.एस.बिष्ट ने बताया कि संबंधित अधिकारियांे को आवष्यक सूचनाआंे के साथ उपस्थित होने के निर्देष दिए गए है।

संबंधित विभाग जनवरी माह तक आवंटित लक्ष्य प्राप्त करेंः मालू
बाड़मेर, 20 दिसंबर। बीस सूत्री कार्यक्रम के तहत संबंधित विभाग उनको आवंटित किए गए लक्ष्य जनवरी माह तक प्राप्त करने का प्रयास करें। इसके लिए निष्चित कार्य योजना बनाकर नियमित रूप से मोनेटरिंग की जाए। आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग के सहायक निदेषक हीरालाल मालू ने सोमवार को कलेक्ट्रेट कांफ्रेस हाल मंे बीस सूत्री कार्यक्रम की समीक्षा बैठक के दौरान यह बात कही।

सहायक निदेषक हीरालाल मालू ने कहा कि जिन विभागांे को लक्ष्य आवंटित नहीं हुए है अथवा पूर्ण होने की संभावना नहीं है वे इस बारे मंे संबंधित विभाग के उच्चाधिकारियांे को अवगत करवाएं। ताकि लक्ष्य संषोधित किए जा सके। उन्हांेने कहा कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग टीकाकरण मंे अपेक्षित प्रगति प्राप्त करें। इस दौरान डिस्काम के सहायक अभियंता अष्विनी कुमार जैन ने बताया कि पंपसेट कनेक्षन पर लगे प्रतिबंध को कुछ दिन पहले हटा दिया गया था, अब जल्दी लक्ष्य प्राप्ति कर ली जाएगी। बैठक के दौरान महात्मा गांधी नरेगा, श्रमिक कल्याण, खाद्य सुरक्षा, सबके लिए आवास, ग्रामीण जलापूर्ति कार्यक्रम, बाल प्रतिरक्षण, संस्थानिक प्रसव, अनुसूचित जाति परिवारांे को ऋण, छात्रवृति वितरण, बाल कल्याण, बस्ती सुधार कार्यक्रम, वन संरक्षण एवं वन वृद्वि,ग्रामीण सड़क तथा ग्रामीण ऊर्जा समेत विभिन्न बिन्दूआंे की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियांे को आवष्यक निर्देष दिए गए।

अन्नपूर्णा भंडार से खाद्य सामग्री खरीदने के निर्देषः बीस सूत्री कार्यक्रम की समीक्षा बैठक के दौरान जिला रसद अधिकारी कंवराराम चौधरी ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देषानुसार विद्यालयांे मंे मिड डे मील एवं महिला एवं बाल विभाग की ओर से संचालित आंगनबाड़ी केन्द्रों पर मिलने वाले पोषाहार की खरीद अन्नपूर्णा भंडार से की जाए।

’’सुराज रथ’’ से हो रहा है लोक कल्याणकारी योजनाओं का प्रचार-प्रसार
बाड़मेर, 20 दिसंबर। मोबाइल वेन ’’सुराज रथ’’के जरिए राज्य सरकार के विभिन्न विभागों की लोक कल्याणकारी योजनाओं का प्रचार-प्रसार बाड़मेर जिले के ग्रामीण अंचल में किया जा रहा है।

सुराज रथ के साथ कला जत्था के सदस्य भी रोचक ढंग से सरकारी योजनाओं की जानकारी ग्रामीणजन तक पहुंचाई जा रही हैं। वर्तमान राज्य सरकार के 3 वर्ष पूर्ण होने पर बाड़मेर जिले में 2 मोबाइल वेन ’’सुराज रथ’’ प्रतिदिन जिले की 2-2 ग्राम पंचायतों में ढाई से तीन घण्टे का कला जत्था कार्यक्रम प्रस्तुत कर विभिन्न योजनाओं की विस्तार से जानकारी देने के साथ ही ग्रामीणजनों में जागरुकता पैदा करने का कार्य भी कर रहे हैं। इस दौरान वे विभिन्न योजनाओं में जन भागीदारी बढाने तथा ग्रामीणजनों को सजग और जागरुक रहकर योजनाओं का लाभ उठाने का संदेश भी दे रहे हैं।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top