जैसलमेर, जिला कलक्टर मीना ने ग्राम पंचायत भुर्जगढ में रात्रि चैपाल में सुनी ग्रामीणों की परिवेदनाएं
शत प्रतिषत गर्भवती महिलाओं की ए.एन.सी व बचों के टीकाकरण करने के निर्देष

प्रतिदिन चार टैंकरों से होगा पेयजल परिवहन

जैसलमेर, 17 मार्च। जिला मुख्यालय से 180 किलोमीटर दूर सांकडा पंचायत समिति के ग्राम पंचायत भुर्जगढ में आयोजित रात्रि चैपाल में जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना ने ग्रामीणों की परिवेदनाएं सुनी एवं उनके समाधान के निर्देष दिए। उन्होंनंे ग्रामीणों से क्षेत्र के पेयजल, चिकित्सा, षिक्षा के साथ अन्य व्यवस्थाओं की जानकारी ली तो ग्रामीणों ने बताया कि भुर्जगढ एएनएम नियमित रूप से नहीं आती है। जिला कलक्टर ने इसे गंभीरता से लिया एवं मौके पर एएनएम सैनी देवी को सख्त हिदायत दी कि वे अब नियमित रूप से उप स्वास्थ्य केन्द्र में उपस्थित रहेगी एवं 4 दिवस मे आंगनवाडी कार्यकर्ता के सहयोग से घर-घर जाकर जितनी भी गर्भवती महिलाएं है उनकी एएनसी चैकअप करेगी वहीं शत प्रतिषत बच्चों का टीकाकरण करेगी।

4 टैंकरों से होगा पेयजल परिवहन

रात्रि चैपाल के दौरान सरपंच श्रीमती अनिता देवी के साथ ही अन्य ग्रामीणों ने बताया कि पंचायत में पेयजल की समस्या है। इस संबंध में जिला कलक्टर ने अधिषाषी अभियंता लदाय दिनेष नागौरी से जानकारी ली तो बताया कि पानी की आपूर्ति कलाउ से होती है वहां पानी का स्तर नीचे जा रहा है तथा पानी की समस्या है। इसके साथ ही बताया कि 3 टैंकरों से पेयजल परिवहन कर 5 राउण्ड किए जाते है। जिला कलक्टर ने 3 की जगह अब 4 टैंकरों से पेयजल परिवहन नियमित कर लोगों को पीने का पानी उपलब्ध कराने के निर्देष दिए वहीं ग्रामीणों ने कहा कि वे आपसी सहमति से पेयजल वितरण की व्यवस्था सुनिष्चित करेगें। चैपाल में मुख्य कार्यकारी अधिकारी अनुराग भार्गव, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी रामेष्वरलाल मीणा, विकास अधिकारी नारायण लाल सुथार, सरपंच भुर्जगढ श्रीमती अनिता देवी, नीति आयेग की प्रतिनिधि सौम्या के साथ ही जिला अधिकारी अच्छी संख्या में उपस्थित थें।

तीन दिवस में विद्युत समस्याओं का हो समाधान

चैपाल के दौरान जिला कलक्टर के समक्ष ग्रामीणों ने बिजली के अधिक बिल आने, बिना कलेक्षन के बिल आने के साथ ही पण्डित दीनदयाल उपाध्याय योजना में जिन ढाणियों की विद्युतीकृत किया उनके तार पोल से जमीन पर गिर गए है कि षिकायत की तो जिला कलक्टर ने इसे गंभीरता से लिया एवं अधिषाषी अभियंता विद्युत को सख्त निर्देष दिए कि शनिवार से तीन दिन तक भुर्जगढ मे रहकर आवेर बिलिंग के साथ ही विद्युत तारो को सही करा दें एवं सरपंच को कहा कि वे इसकी रिपोर्ट भेजेगें।

बालिकाओं को उच्च षिक्षा अर्जित करने की दी सीख

जिला कलक्टर मीना ने चैपाल में षिक्षा की स्थिति की जानकारी ली तो ज्ञात हुआ कि 8 वीं कक्षा के बाद से कम लडकियों को उच्च षिक्षा के लिए भेजते है। इस संबंध में उन्होंनंे ग्रामीणों को सीख दी कि वे अपनी बालिकाओं को उच्च षिक्षा अर्जित करावें। जिला कलक्टर की सीख पर ग्रामीणों ने विष्वास दिलाया कि वे बालिकाओं को उच्च षिक्षा के लिए अवष्य ही विद्यालय भेजेगंे।

कृषि अनुदान राषि का 5 दिवस में होगा भुगतान

ग्रामीणों ने बताया कि भुर्जगढ मे पटवारी का पद रिक्त है जिससे पैमाईष या अन्रू कार्य के लिए समस्या आती है वहीं कृषि अनुदान राषि का भी भुगतान नहीं मिला है। जिला कलक्टर ने इसे गंभीरता से लिया एवं भू-अतिलेख निरीक्षक को निर्देष दिए कि वे 5 दिवस में कृषि अनुदान राषि का भुगतान करवा दें। साथ ही यह भी विष्वास दिलाया कि एक माह में भुर्जगढ में पटवारी लगा दिया जायेगा। इसके साथ ही जिन किसानों को कृषि अनुदान राषि का भुगतान हुआ उसकी सूत्री का पठन कर ग्रामीणों को बतायेगें।

अधिक से अधिक बनाएं सदस्य

चैपाल में जिला कलक्टर ने ग्रामीणों से केसीसी के साथ ही सहकारी समिति द्वारा ऋण वितरण की जानकारी ली। इस संबंध में ग्रामीणों ने बताया कि कम लोगों को केसीसी का लाभ मिला है। जिला कलक्टर ने इस संबंध में प्रबंध निदेषक सहकारी बैंक सुजानाराम को निर्देष दिए कि वे व्यवस्थापक को पाबंद कर अधिक से अधिक समिति के सदस्रू बनावंे एवं किसानांे को केसीसी का लाभ दिलावंे।

ग्राम पंचायत की बैठक हो प्रभावी

चैपाल में ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम पंचायत की बैठक में विभागों के अधिकारी उपस्थित नहीं होते है। जिला कलक्टर ने सरपंच को कहा कि प्रतिमाह 5 व 20 तारीख को पंचायत की बैठक प्रभावी ढंग से करावें साथ ही वार्ड पंचों एवं ग्रामीणांे को इसमें अधिक संख्या में उपस्थित होने की बता कही वहीं सभी विभागों के अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे आगामी 20 तारीख को होने वाली पंचायत की बैठक में उपस्थित रहेगें।

सुकुन व राहतदायी रही चैपाल

चैपाल में ग्रामीणों ने खुले मन से अपनी व्यक्तिगत व सार्वजनिक समस्याओं को रखा वहीं पेयजल व विद्युत समस्या के साथ ही कृषि अनुदान की राषि दिलाने की समस्या का समाधान कराने पर जिला कलक्टर का आभार जताया। इस प्रकार ग्रामीणों के लिए जिला कलक्टर की रात्रि चैपाल राहतदायी रही।

योजनाओं की दी जानकारी

चैपाल का संचालन सहायक निदेषक सांख्यिकी डाॅ.बृजलाल मीणा ने किया वहीं जिला अधिकारियों ने राज्य सराकर द्वारा संचालित फ्लेगषिप व अन्य योजनाओं की ग्रामीणों को जानकारी दी एवं उसका लाभ उठाने का आग्रह किया।

-----000-----



राजस्थान दिवस समारोह-2018

जिला मुख्यालय पर परम्परागत ग्रामीण खेलों का आयोजन 18 व 19 मार्च को
जैसलमेर, 17 मार्च। राजस्थान दिवस समारोह 2018 के कार्यक्रमों का आगाज परम्परागत खेल-कूद प्रतियोगिताओं से होगा। जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना ने एक आदेष जारी कर बताया कि 18 व 19 मार्च को शहीद पूनमसिंह स्टेडियम में प्रातः 7 बजे से 9ः30 बजे एवं सांय 5 बजे से 7 बजे तक परम्परागत खेलों का आयोजन रखा गया है राजस्थान राज्य क्रीड़ा परिषद द्वारा जारी संषोधित कार्यक्रम के अनुसार 18 मार्च को पुरूष वर्ग में कबड्डी, रस्साकषी व सतोलिया खेल का आयोजन होगा। जिसमें 18 से 25 वर्ष आयुवर्ग के पुरुष भाग ले सकेगें। रस्साकषी प्रतियोगिता में कोई आयु सीमा नहीं रखी गई है।

इसी प्रकार 19 मार्च को शहीद पूनमसिंह स्टेडियम में महिला वर्ग में प्रातः 7 बजे से 9ः30 बजे एवं सांय 5 बजे से 7 बजे तक परम्परागत खेलों का आयोजन रखा गया है जिसमें महिला वर्ग में कबड्डी, रस्साकषी ,सतोलिया व रूमाल झप्पटा खेल का आयोजन होगा। महिला वर्ग में 15 से 25 वर्ष आयु की महिलाएॅ भाग ले सकेगी तथा रस्साकषी खेल प्रतियोगिता में कोई आयु सीमा नहीं होगी।

जिला कलक्टर मीना ने बताया कि राजस्थान दिवस आयोजन कार्यक्रमों की गरिमा को दृष्टिगत रखते हुए संबंधित विभाग के विभागाध्यक्ष व संस्था प्रधान अपनी टीमों को आवष्यक रुप से भाग लेने के लिए प्रेेरित करावें।

खेल अधिकारी लक्ष्मणसिंह तंवर ने इस संबंध में बताया कि इन परम्परागत खेलों में पुरूष वर्ग में पुलिस, राजकीय महाविद्यालय छात्र, डाईट, खेल क्लब भाग ले सकते है। इसी प्रकार महिला वर्ग में पुलिस, नर्सिंग महिला, राजकीय बालिका महाविद्यालय, डाईट,, समाज कल्याण महिला छात्रावास की छात्राएं भाग ले सकती है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top