बाड़मेर से भारत माला बचपन यात्रा की शुरूआत

-राजस्थान राज्य बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष मनन चतुर्वेदी पश्चिमी सीमा के दौरे पर।

बाड़मेर, 09 फरवरी। राजस्थान राज्य बाल संरक्षण आयोग अध्यक्ष श्रीमती मनन चतुर्वेदी ने शुक्रवार को बाड़मेर से भारत माला बचपन यात्रा की शुरुआत की। इस दौरान चतुर्वेदी चौहटन क्षेत्र के विभिन्न सरहदी इलाकांे मंे पहुंचकर सरकारी योजनाआंे की क्रियान्विति, शिक्षा एवं बाल विकास सेवाआंे की स्थिति से रूबरू हुई। उन्हांेने आंगनबाड़ी केन्द्रांे, विद्यालयांे, पुलिस थानांे मंे पहुंचकर वास्तविकता जानी। साथ ही जनप्रतिनिधियांे एवं विभागीय अधिकारियों को सरकारी योजनाओं का लाभ रुट लेवल तक पहुंचाने के निर्देश दिए।

बाड़मेर जिला मुख्यालय पर पत्रकारांे से रूबरू होने के बाद राजस्थान राज्य बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष श्रीमती मनन चतुर्वेदी ने वीरातरा माता मंदिर पहुँच कर पूजा अर्चना की। उन्होंने इस दौरान विरात्रा माता मंदिर ट्रस्ट के सचिव भेर सिंह सोढा से मंदिर के इतिहास की जानकारी प्राप्त की। इस दौरान ट्रस्ट के पदाधिकारियों की और से चतुर्वेदी का स्वागत किया गया। इसके उपरांत उन्होंने केलनोर ग्राम पंचायत परिसर में ग्रामीण महिलाओं एवं आमजन से सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन के संबंध में जानकारी प्राप्त की। इस दौरान महिलाओं ने आबादी भूमि के पट्टे दिलवाने , प्रधानमंत्री आवास योजना, चिकित्सा सुविधा दिलवाने संबंधी समस्याओं से अवगत करवाया। श्रीमती मनन ने सीमावर्ती इलाकों की समस्याओं को राज्य सरकार तक पहुंचाने का भरोसा दिलाया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की और से राजश्री योजना, उजज्वला गैस योजना, आवास योजना, मनरेगा समेत कई योजनाएं संचालित की जा रही है। उन्होंने ग्रामीणों से जागृत होकर योजनाओं से लाभन्वित होने का अनुरोध किया । उन्होंने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे सरकारी योजनाओं से अधिक से अधिक लोगों को लांभवित करवाए। साथ ही आमजन को योजनाओ के बारे में जानकारी दें। उन्होंने इस दौरान आंगनवाड़ी में पोषाहार एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सीय सेवाओ की जानकारी ली। उन्होंने आंगनवाड़ी केंद्र पर बच्चों से पोषाहार एवं शिक्षा की स्थिति के बारे में विस्तार से जानकारी ली । यहां उन्होंने बालिकाओं कर साथ फोटो खिंचवाने के साथ उनसे गीत एवं कविता भी सुनी। इससे पहले उन्होंने केलनोर ग्राम पंचायत में ई-मित्र परआधार कार्ड,भामाशाह कार्ड एवं स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माण एवं भुगतान की जानकारी ली। इसके उपरांत राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय की केलनोर में बालिकाओं से रूबरू होकर शिक्षा के साथ हुनर भी सीखने की बात कही । उन्होंने कहा कि बालिकाएं किसी भी क्षेत्र में कम नहीं है। उन्होंने उपस्थित अभिभावकों से अधिकाधिक बलिकाओं को शिक्षा से जोड़ने की अपील की। इस दौरान उन्होंने टांके में बारिश के पानी का संग्रहण एवं इसके उपयोग के बारे में जानकारी ली । उन्होंने विद्यार्थियों के साथ राष्ट्रगान गाकर सरहद पर देशभक्ति की भावना का संचार किया। केलनोर के हॉस्पिटल में महिलाओं से चिकित्सीय सेवाओं की जानकारी ली। इस दौरान उपस्थित कार्मिक ने बताया कि प्रत्येक शुक्रवार को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व दिवस मना कर गर्भवती महिलाओं को चिकित्सक परामर्श व उपचार उपलब्ध करवया जाता है ।यात्रा के दौरान श्रीमती चतुर्वेदी सीमा सुरक्षा बल के जवानों से भी रूबरू हुई । इसके उपरांत उन्होंने राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय मिठडाउ मंे आयोजित कार्यक्रम में शिरकत कर जनकल्याणकारी योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी।उन्होंने आंगनवाड़ी केंद्र एवं विद्यालयों में बच्चों के लिए संचालित किये जा रहे योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने बाल संरक्षण आयोग के गठन एवं ग्राम स्तर पर बाल संरक्षण इकाइयों के गठन एवं उनको प्रभावी रूप से संचालित करने की जानकारी ली। उन्होंने पालनहार योजना , राजश्री योजना तथा सीआरसी कर बारे में विस्तार से जानकारी दी। इसके उपरांत बीजराड़ पुलिस थाने का अवलोकन किया। उन्हांेने बच्चांे के लिए हैल्प डेस्क लगाने के निर्देश दिए। श्रीमती चतुर्वेदी ने शुक्रवार शाम को पंचायत समिति मुख्यालय पर आयोजित बैठक मंे विकास एवं बाल विकास योजनाआंे की प्रगति की समीक्षा की। इस दौरान महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक जितेंद्र सिंह नरुका , विकास अधिकारी हनुवीर सिंह , सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के सहायक निदेशक नानकचंद चंद्रोदय , महिला अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक प्रह्लाद सिंह राजपुरोहित समेत विभिन्न विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे। उल्लेखनीय है कि आगामी 21 फरवरी तक चलने वाले इस यात्रा के तहत श्रीमती चतुर्वेदी सरहदी इलाकों में पहुंच कर राज्य सरकार की योजनओं की क्रियांवति एवं बच्चों के शिक्षा की स्थिति से रूबरू हो रही है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top