edvertise

edvertise
barmer


जैसलमेर, नवगठित सीमावर्ती तनोट ग्राम पंचायत में जिला कलक्टर की पहली रात्रि चैपाल खुब जमीं


सीमा वासियों की समस्याओं का होगा प्राथमिकता से निस्तारण


पेयजल व्यवस्था में अतिषीघ्र सुधारने के दिए निर्देष


जैसलमेर, 02 अगस्त। नवगठित सीमावर्ती ग्राम पंचायत तनोट में मंगलवार को जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना की पहली रात्रि चैपाल खुब जमीं एवं उन्होंने सीमावासियों की समस्याओं को धैर्य से सुना एवं विष्वास दिलाया कि उनका निराकरण प्राथमिकता से किया जाएगा। उन्होंनंे विभागीय अधिकारियों को निर्देष दिये कि जो भी परिवेदनाएं पेष हुई है उन सभी का निराकरण तत्परता से करें। पहली रात्रि चैपाल में जिला कलक्टर एवं जिला प्रषासन को अपने मध्य पाकर ग्रामीणजन प्रसन्नचित हुए एवं खुले मन से उन्होंने अपनी समस्याओं को रखा।




जिला कलक्टर ने ग्रामीणों को विष्वास दिलाया कि जो समस्याएं उन्होंने रात्रि चैपाल में रखी है उनको राजस्थान सम्पर्क पोर्टल में दर्ज किया जाकर जब तक वे निस्तारित नहीं होती है तब तक उनकी प्रभावी माॅनेटरिंग की जाएगी। रात्रि चैपाल में उपखण्ड अधिकारी जैसलमेर हंसमुख कुमार, तहसीलदार वीरेन्द्रसिंह, विकास अधिकारी सम सुखराम विष्नोई, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.एन.आर.नायक, सहायक निदेषक सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग हिम्मतसिंह कविया, सरपंच तनोट अषोक कुमार समेत अन्य विभागीय अधिकारी एवं अच्छी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थें।




रात्रि चैपाल के दौरान जिला कलक्टर ने महानरेगा कार्यो, प्रधानमंत्री आवास योजना, बालिका षिक्षा, पालनहार योजना, पेंषन योजना, बेटी बचाओ-बेटी पढाओं, स्वच्छ भारत मिषन, सघन वृक्षारोपण कार्यो की बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त की। उन्होंने ग्रामीणों को राज्य एवं केन्द्र सरकार की विभिन्न विकास एवं कल्याणकारी योजनाओं का अधिकाधिक लाभ लेने का आह्वान किया।




चैपाल में जिला कलक्टर ने तनोट क्षेत्र में प्रभावित हुई पेयजल व्यवस्थाओं को अत्यन्त गंभीरता से लिया और जलदाय विभाग के अभियंता को सख्त निर्देष दिए कि जहां कही पर भी ट्यूबवेल, जीएलआर, हैण्डपंप इत्यादि खराब हो वहां पर तत्काल जलापूर्ति व्यवस्था सुचारू करें। उन्होंने तनोट, रणाउ, घंटियाली, किषनगढ, कुरीया इत्यादि में सूखी पडी पषु खेलियों को जीएलआर से पानी से भरवाने के भी कडे निर्देष दिए ताकि पषुधन को पीने का पानी उपलब्ध हो। उन्होंने ग्रामीणों की सामुहिक मांग पर खारिया एवं साधेवाला में मीठे पानी का एक और ट्यूबवेल खोदने के जलदाय विभाग को निर्देष दिये।




चैपाल के दौरान सीमान्त तनोट वाषिंदों ने जिला कलक्टर के समक्ष स्वास्थ्य सेवाओं को गतिषील बनाने को लेकर तनोट में ए.एन.एम लगाने की बात कही तो उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को सप्ताह में दो बार रामगढ से तनोट में एएनएम की व्यवस्था करवाकर लोगों को स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ प्रदान करावें। उन्होंने विद्यालयों में तथा आंगनवाडी केन्द्रों में गुणवतापूर्ण पोषाहार वितरण करवाने पर विषेष जोर दिया एवं उप निदेषक महिला एवं बाल विकास विभाग जैसलमेर को आंगनवाडी केन्द्र के बेहतरीन ढंग से संचालन करने के निर्देष दिये।




उन्होंने संबंधित सरपंच, ग्रामसेवक, पटवारी को सख्त निर्देष दिए कि वे पालनहार योजना, विषेष योग्यजनों, दिव्यांगो, विकलांगो को सरकार की और से प्रदान की जा रही विविधि योजनाओं की जानकारी प्रदान कर उन्हें लाभान्वित करावें। उन्होंने यह भी निर्देष दिये कि क्षेत्र में एक भी विषेष योग्यजन पंजीयन से वंचित नहीं रहें इसलिए ईमित्र केन्द्रों पर उनका अनिवार्य रूप से पंजीयन करावें।




जिला कलक्टर ने कहा कि शक्तिपीठ तनोट माता का स्थान सीमा क्षेत्र में है एवं पूरे देष के लोग तनोट माता के दर्षन करने के लिए आते है इसलिए स्थानीय लोगों का दायित्व है कि वे हर समय सहयोग प्रदान करावें। उन्होंने इसके साथ ही लोगों को सीमान्त क्षेत्र होने के करण अतिसंवेदनषील होकर जागरूक रहने पर जोर दिया एवं कहा कि कोई भी अवांछनीय गतिविधि उनके ध्यान में आवे तो तत्काल ही सीमा सुरक्षा बल के साथ ही पुलिस एवं प्रषासन को सूचित करें।




उन्होंने तनोट से लेकर घंटियाली क्षेत्र तक सडक मार्ग के दोनो तरफ सघन वृक्षारोपण करने का आह्वान किया तो सरपंच एवं सभी ग्रामीणजनों ने जिला कलक्टर को इस पुनीत कार्य में पूरे मन से सहयोग करने का विष्वास दिलाया। उन्होंने ग्रामीणों से प्रत्येक घर के आगे एक पेड लगाने की अपील की। जिला कलक्टर ने तनोट धार्मिक सीमान्त को दृष्टिगत रखते हुए रसद अधिकारी को अन्नपूर्णा भण्डार एवं बडी दुकान खोलने का कहा।




चैपाल के दौरान सरपंच अषोक कुमार एवं अन्य गांव के लोगों ने जिला कलक्टर के समक्ष तनोट में प्राथमिक विद्यालय को उच्च प्राथमिक विद्यालय में क्रमोन्नत करने की मांग की इस संबंध में जिला कलक्टर ने जिला षिक्षा अधिकारी को प्रस्ताव तैयार कर राज्य सरकार को भिजवाने के निर्देष दिए तथा रणाउ, तनोट, खारिया, सादेवाला जहां कहीं पर भी अध्यापको की कमी हो वहां पर अध्यापक लगावें।




उन्होनंे सीमावती क्षेत्र में पषुओं में वर्तमान फैल रही बीमारी इत्यादि की जानकारी प्राप्त की एवं पषुपालन विभाग को कडे निर्देष दिये कि वे केम्प आयोजित कर बीमार पषुओं का समुचित उपचार करावें। रात्रि चैपाल के दौरान उपस्थित विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने अपने-अपने विभाग में संचालित जन कल्याणकारी योजनाओं की विस्तार से जानकारी दी एवं ग्रामीणों से आह्वान किया कि वे अधिक से अधिक योजनाओं का लाभ उठावें। चैपाल का संचालन विकास अधिकारी सुखराम विष्नोई ने किया।


संभागीय आयुक्त श्री लाहौटी रामदेवरा मेला व्यवस्थाआंे की गुरूवार को बैठक लेगें

जैसलमेर 02 अगस्त। संभागीय आयुक्त जोधपुर रतन लाहौटी की अध्यक्षता में रामदेवरा मेला-2017 की पूर्व तैयारी एवं व्यवस्थाओं के संबंध में बैठक 27 जुलाई, गुरूवार को प्रातः 11ः30 बजे पंचायत सभाभवन रामदेवरा में रखी गई है। मेला अधिकारी एवं उपखण्ड मजिस्टेªट पोकरण ने यह जानकारी दी एवं मेला व्यवस्थाओं से जुडे सभी अधिकारियों से कहा कि वे मेले के संबंध में अब तक उनके विभाग द्वारा की गई तैयारी की सूचना सहित स्वयं अनिवार्य रूप से बैठक में उपस्थित होवें।




------000-----

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top