edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर, इन्द्रधनुष अभियान के तहत 90 फीसदी टीकाकरण सुनिश्चित करेंः सोनी
बाड़मेर, 01 अगस्त। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से शिशु मृत्यु दर को कम करने के लिए सघन मिशन इन्द्रधनुष टीकाकरण कार्यक्रम चलाया जाएगा। इस अभियान के तहत वर्ष 2018 तक 90 प्रतिशत टीकाकरण लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिला स्वास्थ्य भवन मंे मंगलवार को इन्द्रधनुष अभियान के सफल क्रियान्वयन के लिए आयोजित एक दिवसीय कार्यशाला के दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी हेमराज सोनी ने यह बात कही।

इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. हेमराज सोनी ने कहा कि प्रदेश के 11 जिलों में चलने वाले इस अभियान के तहत बाडमेर जिले में विभाग की ओर से व्यापक स्तर पर तैयारियां की जा रही है। इस दौरान जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. प्रीत मोहिन्द्र सिंह ने बताया ककि यह अभियान 7 अक्टूबर 2017 से शुरू होगा। यह अभियान अक्टूबर, नवंबर,दिसंबर एवं जनवरी माह की 7 तारीख से शुरू कर सप्ताह के अंत तक चलेगा। इस दौरान नियमित टीकाकरण से वंचित रहे 2 वर्ष तक के बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं को टीके लगाए जाएंगे। इसकी प्रधानमंत्री स्तर से समीक्षा की जाएगी और कार्यक्रम की माॅनिटरिंग हर स्तर से की जाएगी। कार्यक्रम की सफलता के लिए शिक्षा, महिला एवं बाल विकास विभाग, यूथ अफेयर मत्रालय, सेना मत्रांलय के माध्यम से एनसीसी कैडेट्स व एनएसएस के स्वयंसेवकों का भी सहयोग लिया जाएगा। इस संबध में सभी बीसीएमओ, चिकित्सा अधिकारी प्रभारियों को भी निर्देश दिए गए है। जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. प्रीत मोहिन्द्र सिंह ने कहा कि नियमित टीकाकरण कार्यक्रम को प्राथमिकता देकर प्रत्येक लाभार्थी को टीकाकरण शामिल करने के शत-प्रतिशत प्रयास करने होंगे। उन्होेनें कहा कि सघन मिशन इन्द्रधनुष कार्यक्रम ब्लाॅकवार जनसंख्या के हिसाब से कार्यक्रम की माईको्रप्लानिंग बनाई जाएगी। उन्हांेने हैडकांउट सर्वे के अनुसार कवरेज बढाने की गतिविधियों की जानकारी दी। जिला आशा समन्वयक राकेश भाटी ने कहा कि इस अभियान को सफल बनाने के लिए आशाआंे एवं एएनएम की अहम भागीदारी रहेगी। अभियान के बारे में आम जन को जागरूक करने के लिए विभाग की ओर से होर्डिग्स, बैनर, रेली एवं नुकड नाटक के माध्यम से व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाएगा। ताकि आम जन को अभियान की जानकारी देकर अधिक से अधिक बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं को अभियान से जोडा जा सके। कार्यशाला में उप मुख्य एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. पी.सी.दीपन, जिला कार्यक्रम प्रबधंक सचिन भार्गव, अनिल स्वामी, डाॅ. अकुंर डाॅ. अपूर्वा आदित्य अग्निहोत्री डाॅ. मुकेश गर्ग खण्ड स्तर से बीसीएमओ, बीएनओ, बीएचएस उपस्थित रहे।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top