edvertise

edvertise
barmer



शिक्षा मंत्राी ने की शिक्षकों व समाज से दान की अपील

अजमेर में मात्रा तीन दिन में एकत्रा हुआ 12.48 लाख रुपए से अधिक विद्या दान

राजस्थान शिक्षक संघ राधाकृष्णन ने की 11 लाख रुपए दान की घोषणा

जारी रहेगा विद्या दान अभियान, राज्य के स्कूलों की बदलेगी सूरत

अजमेर, 29 जुलाई। शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्य मंत्राी श्री वासुदेव देवनानी ने राज्य के शिक्षकों एवं समाज के भामाशाहों से विद्या के लिए दिल खोलकर दान देने की अपील की है। शिक्षा में सामाजिक सहभागिता के तहत चलाए जा रहे इस अभियान से प्राप्त राशि सरकारी स्कूलों में सुविधाओं के विकास में ही खर्च की जाएगी। मुख्यमंत्राी श्रीमती वसुंधरा राजे के आह्वान पर इस अभियान के पहले तीन दिनों में ही जिले में दस लाख रुपए की राशि एकत्रा हुई है। राजस्थान शिक्षक संघ राधाकृष्णन इस अभियान में 11 लाख रुपए का सहयोग देगा। शिक्षा मंत्राी ने शिक्षक समुदाय से अपील की है कि एक दिन का वेतन विद्या के लिए दान करें।

शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्यमंत्राी श्री वासुदेव देवनानी ने आज राजकीय सावित्राी बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में आयोजित कार्यक्रम के दौरान शिक्षक समुदाय को मुख्यमंत्राी विद्यादान कोष एवं ज्ञान संकल्प पोर्टल के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति की विशेषता रही है कि समाज के प्रत्येक वर्ग ने शिक्षा के लिए दिल खोलकर दान दिया है। राजस्थान भी इस क्षेत्रा में अग्रणी रहा है। प्रदेश के हर शहर और गांव में इस तरह के दानदाताओं के किस्से प्रचलित हैं, जिन्होंने भावी पीढ़ी को शिक्षित करने के लिए दान दिया।

उन्होंने कहा कि राजस्थान की मुख्यमंत्राी श्रीमती वसुंधरा राजे के नेतृत्व में भी समाज को शिक्षा से जोडने के लिए ज्ञान संकल्प पोर्टल एवं मुख्यमंत्राी विद्यादान कोष की अभिनव पहल की गई है। मुख्यमंत्राी राजे स्वयं जयपुर में 5 अगस्त को इस योजना का शुभारंभ करेंगी। उन्होंने शिक्षकों से अपील की कि वे भी अपना एक दिन का वेतन विद्या दान कोष को समर्पित करें। शिक्षकों का यह दान भविष्य में राजस्थान के स्कूलों की उन्नति में मील का पत्थर साबित होगाा।

मंत्राी ने की अपील, शिक्षकों ने दिया साथ

शिक्षा राज्यमंत्राी श्री वासुदेव देवनानी की अपील पर शिक्षकों ने पूरा साथ दिया। कार्यक्रम में मौजूद राजस्थान शिक्षक संघ राधाकृष्णन के प्रदेश अध्यक्ष श्री विजय सोनी ने घोषणा की कि राधाकृष्णन संघ व शिक्षिका सेना के सदस्य 11 लाख रुपए का दान देंगे। श्री देवनानी ने अपनी ओर से दान पेटिका में 11 हजार तथा महापौर श्री धर्मेंद्र गहलोत ने 5000 रुपए का दान दिया। श्री देवनानी ने अब तक 33 हजार रुपए दान किए हैं। उन्होंने घोषणा की कि एक महीने की तनख्वाह विद्यादान कोष में दान देंगे।

उनके जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल जिला कलक्टर ने 11,000 हजार, शिक्षा कार्यालय समस्त ने 1,44,250 रूपए, आई.ए.एस.ई. अजमेर ने 41,000 हजार, उपखण्ड कार्यालयों ने 6,66,808 रूपए, विभिन्न भामाशाहों से सहयोग से 1,52,250 रूपए, शहर के संस्था प्रधानों से 2,06,000 रूपए सहित कुल 12 लाख 48 हजार 308 रूपए आज तक प्राप्त हो चुके हंै।

सहायक कर्मचारी ने दिए 8000 रुपए

कार्यक्रम में सावित्राी स्कूल की प्राचार्य ने बताया कि यहां की एक सहायक कर्मचारी ने अपनी बचत में से 8000 रुपए दान दिए हैं। स्कूल की दो अन्य अध्यापिकाओं ने भी 5-5 हजार रुपए दिए।

कार्यक्रम में श्री सीताराम गर्ग उपनिदेशक मा.शि. श्री कैलाशचंद झंवर जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक प्रथम, श्री तेजपाल उपाध्याय जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक शिक्षा द्वितीय, श्री दीपक जौहरी, प्राचार्य टी.टी. काॅलेज श्री सुशील गहलोत, श्री रामनिवास गालव अति. जिला परियोजना समन्वयक रामाशिअ. अजमेर, श्री दिनेश कुमार ओझा अति. जिला परियोजना समन्वयक सर्वशिक्षा अभियान अजमेर, श्री अरूण कुमार जिला शिक्षा अधिकारी प्रारम्भिक शिक्षा उपस्थित थे कार्यक्रम का संचालन श्रीमती दर्शना शर्मा अति. जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक प्रथम ने किया। संस्थाप्रधान श्रीमती लीलामणी गुप्ता ने सभी का आभार व्यक्त किया।




35 लाख अभिभावकों ने किया सरकारी स्कूलों पर भरोसा- श्री देवनानी
शिक्षा राज्यमंत्राी ने किया राजकीय उच्च अध्ययन शिक्षण संस्थान में 36 लाख रुपए के विकास कार्यों का शुभारंभ

पेरेंट-टीचर मीटिंग में जानीं सरकारी स्कूलों की अच्छाइयां, 16. 5 प्रतिशत बढ़ा है परिणाम

अब डिजीटल ट्रेनिंग की ओर कदम बढ़ाएगा शिक्षा विभाग, नई रिसर्च को मिलेगा बढ़ावा

अजमेर, 29 जुलाई। शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्यमंत्राी श्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि राजस्थान की शिक्षा पूरे देश में रोल माॅडल बनती जा रही है। मुख्यमंत्राी श्रीमती वसुंधरा राजे के नेतृत्व में राजस्थान ने शिक्षा के क्षेत्रा में नए आयाम स्थापित किए हैं। पिछले एक साल में पेरेंट-टीचर मीटिंग तथा शिक्षक-अभिभावक समितियों के माध्यम से 35 लाख पेरेंट्स ने सरकारी स्कूलों पर भरोसा किया है। शीघ्र ही शिक्षा विभाग नई रिसर्च तथा डिजीटल ट्रेनिंग को भी अपनाएगा।

शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्यमंत्राी श्री वासदेव देवनानी ने आज जयपुर रोड स्थित राजकीय उच्च अध्ययन शिक्षण संस्थान में 36 लाख रुपए की लागत से नए कक्षा-कक्षों एवं अन्य विकास कार्यों का शुभारंभ किया। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि पिछले तीन सालों में राजस्थान ने शिक्षा के क्षेत्रा में नई ऊंचाइयों को छुआ है। मुख्यमंत्री श्रीमती राजे के नेतृत्व में प्रदेश की शिक्षा नित नए सोपान तय कर रही है। राज्य सरकार और शिक्षकों के साझा प्रयास अब रंग ला रहे हैं। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के परिणामों में 16.5 प्रतिशत की वृद्धि शिक्षा के सकारात्मक परिवर्तन को दर्शाती है। अब केंद्र सरकार के स्तर पर भी राजस्थान को रोल माॅडल के रूप में प्रस्तुत किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के अभिभावकों में भी सरकारी स्कूलों के प्रति सोच बदली है। पिछले एक साल में 35 लाख अभिभावकों ने पेरेंट-टीचर मीटिंग और शिक्षक-अभिभावक समितियों के माध्यम से सरकारी स्कूलों की अच्छाइयों के बारे में नजदीक से जाना और समझा है। हमारे शिक्षक उच्च योग्यताधारी और अनुभवी हैं। ऐसे शिक्षकों के सहयोग से ही हम निरंतर प्रगति कर रहे हैं। प्रदेश का विद्यार्थी हर विषय में देश में शानदार परिणाम हासिल कर रहा है।

श्री देवनानी ने शिक्षक प्रशिक्षण में तकनीक और डिजीटलीकरण के समावेश को समय की मांग बताते हुए कहा कि शिक्षकों के प्रशिक्षण में डिजीटल और आधुनिकतम पद्धतियों के समावेश को बढ़ावा दिया जाएगा। आने वाले दिनों में शिक्षक-प्रशिक्षण संस्थानों के माध्यम से होने वाली ट्रेनिंग में स्मार्ट क्लास में पढ़ाने का प्रशिक्षण भी शामिल किया जाएगा। साथ ही शिक्षण-प्रशिक्षण मेें नई रिसर्च को भी शामिल किया जाएगा।

कार्यक्रम में महापौर श्री धर्मेंद्र गहलोत, श्री अरविंद यादव, टीटी काॅलेज के प्राचार्य श्री दीपक जौहरी, श्री सीताराम शर्मा. श्री अवधेश तिवाड़ी सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी उपस्थित थे।




राज्यपाल श्री कल्याण सिंह का यात्रा कार्यक्रम
अजमेर, 29 जुलाई। राज्यपाल श्री कल्याण सिंह महर्षि दयानन्द सरस्वती विश्वविद्यालय के दीक्षान्त समारोह में भाग लेने के लिए सोमवार को अजमेर की यात्रा पर रहेंगे।

जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल ने बताया कि राज्य के राज्यपाल श्री कल्याण सिंह सोमवार 31 जुलाई को सायं 5.30 बजे सीआरपीएफ गेस्ट हाउस पहुंचेंगे। वे मंगलवार एक अगस्त को सायं 3.40 बजे महर्षि दयानन्द सरस्वती विश्वविद्यालय के 8वें दीक्षान्त समारोह की अध्यक्षता करेंगे। इसके पश्चात उनका जयपुर जाने का कार्यक्रम है।




कार्यपालक मजिस्ट्रेट नियुक्त
अजमेर, 29 जुलाई। जिला मजिस्ट्रेट श्री गौरव गोयल ने आगामी 31 जुलाई व एक अगस्त को राज्यपाल श्री कल्याण सिंह की अजमेर यात्रा के दौरान कानून, शान्ति एवं अन्य व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के लिए कार्यपालक मजिस्ट्रेट नियुक्त किए हैं।

जिला मजिस्ट्रेट श्री गौरव गोयल ने बताया कि अतिरिक्त जिला कलक्टर द्वितीय श्री अबु सूफियान चैहान, अतिरिक्त जिला कलक्टर शहर श्री अरविंद कुमार सेंगवा, जिला परिषद के एसीईओ श्री संजय माथुर, किशनगढ़ उपखण्ड अधिकारी श्री अशोक कुमार, अजमेर उपखण्ड अधिकारी श्री अंकित कुमार, जिला रसद अधिकारी श्रीमती दीप्ति शर्मा, आईएएस प्रशिक्षु सुश्री टीना डाबी, तहसीलदार श्री अरविंद कुमार शर्मा, श्री वीमलेन्द्र राणावत, श्रीमती आदित्य सिंह एवं श्री अनुराग हर्षित को विभिन्न स्थानों पर तैनात कर कार्यपालक मजिस्ट्रेट के दायित्व सौपे गए हैं।




शीघ्र शुरू होगा महर्षि दयानन्द सरस्वती शोधपीठ का कार्य
अजमेर, 29 जुलाई। राज्यपाल एवं कुलाधिपति श्री कल्याण सिंह ने महर्षि दयानन्द सरस्वती विश्वविद्यालय में स्वामी दयानन्द के नाम पर शुरू होने वाली शोधपीठ का कार्य शीघ्र शुरू किए जाने की बात कही है। उन्होंने परोपकारिणी सभा के शिष्ट मण्डल को यह आश्वासन दिया।

परोपकारिणी सभा के मंत्राी श्री ओम मुनि, संयुक्त मंत्राी श्री दिनेश शर्मा, कोषाध्यक्ष श्री सुभाष नुवाल, ट्रस्टी श्री रामगोपाल गर्ग और ज्योत्सना धर्मवीर ने हाल ही जयपुर स्थित राजभवन में राज्यपाल श्री कल्याण सिंह से मुलाकात की। उन्होंने राज्यपाल से आग्रह किया कि विश्वविद्यालय में महर्षि दयानन्द के नाम पर बनने वाली शोधपीठ का कार्य जल्द शुरू किया जाए। राज्यपाल श्री सिंह ने उन्हें इस संबंध में शीघ्र सकारात्मक कार्यवाही का भरोसा दिलाया। परोपकारिणी सभा के प्रतिनिधि मण्डल ने राज्यपाल श्री सिंह का शाॅल ओढ़ाकर अभिनंदन किया तथा साहित्य भेंट किया। इस अवसर पर राजस्थान के लोकायुक्त श्री सज्जन सिंह कोठारी भी उपस्थित थे।




5 अगस्त तक निपटाएं सम्पर्क पोर्टल के बकाया प्रकरण - जिला कलक्टर
अजमेर, 29 जुलाई। जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल ने शनिवार को वीडियो काॅन्फ्रेसिंग के माध्यम से समस्त विभागीय अधिकारियों को निर्देर्शित किया कि सम्पर्क पोर्टल पर 30 दिन से अधिक की अवधि के बकाया प्रकरणों का निस्तारण 5 अगस्त तक पूर्ण रूप से कर दे।

जिला कलक्टर ने कहा कि मुख्यमंत्राी के द्वारा की गई बजट घोषणाओं, बड़ी परियोजनाओं, फ्लेगशिप योजनाओं तथा सम्पर्क समाधान पोर्टल के माध्यम से राहत देना सरकार की मुख्य प्राथमिकता है। इनका अपने कार्य क्षेत्रा में रोजाना रिव्यू किया जाए। इस संबंध में प्रगति की नियमित जानकारी उच्च स्तर पर भिजवायी जानी चाहिए। सम्पर्क समाधान पोर्टल आमजन को राहत देने के लिए है। शीघ्र ही इसको विस्तारित किया जाएगा। इस पोर्टल पर दर्ज पुराने प्रकरण को 5 अगस्त तक निस्तारित करना आवश्यक है। पोर्टल पर दर्ज 30 दिवस से पुराने प्रकरणों को प्राथमिकता से निस्तारित किए जाए।

उन्होंने कहा कि जिले में लगे मोबाइल टावर के नियमन के लिए राज्य सरकार द्वारा नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए है। अजमेर विकास प्राधिकरण के सचिव, नगर पालिका के अधिशाषी अधिकारी नगर निगम के कमिश्नर तथा ग्रामीण क्षेत्रों में उपखण्ड अधिकारी को इसके लिए नोडल बनाया गया है। राजकीय भूमि पर लगे मोबाइल टावर के लिए संबंधित विभाग के उच्चाधिकारी को नोडल नियुक्त किया गया है। इनके द्वारा मोबाइल टावर की अनुमति जारी की जाएगी। पुराने लगे टावरो का अनुज्ञा पत्रा अगस्त माह तक जारी किया जाना आवश्यक है। इसके पश्चात नियमानुसार जुर्माना वसूला जाएगा। नए स्थापित होने वाले मोबाइल टावर के लिए भी नोडल अधिकारी द्वारा अनुमति जारी की जाएगी।

उन्होंने कहा कि राजस्व अधिकारियों की बैठक के संबंध में मासिक मानचित्रा, त्रोमासिक मानचित्रा तथा भूमि अवाप्ति के प्रकरणो का अपडेशन गूगल ड्राइव के माध्यम से किया जाएगा। भू राजस्व अधिनियम 1986 के अन्तर्गत 20 वर्ष तक वनीकरण के लिए आवंटित भूमि की रिपोर्ट समय पर भिजवाना सुनिश्चित किया जाए। विधानसभा के प्रश्नों के जवाब तुरन्त भिजवाया जाना आवश्यक है । जिले में विकास परियोजनाओं के लिए भूमि अवाप्ति के लिए प्रकरणों का निपटारा प्राथमिकता के साथ के किया जाना जनहित में। राष्ट्रीय राजमार्ग 79 के लिए भूमि अवाप्ति के संबंध में अवार्ड राशि का वितरण तथा मिटिशन का कार्य उपखण्ड अधिकारी नसीराबाद एवं किशनगढ़ द्वारा 5 अगस्त तक पूर्ण किया जाएगा। इसी प्रकार रेलवे के विभिन्न एलसी के लिए भूमि अवाप्ति भी समय पर की जानी चाहिए। वृहन मतादात ा पंजीकरण अभियान के अन्तर्गत समस्त पात्रा मतदाताओं का पंजीयन किया जाए। मुख्यमंत्राी विद्युत सुधार अभियान (बिठुर माॅडल) के अन्तर्गत समस्त अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि संबंधित जीएसएस से विद्युत क्षति रोकने के लिए कार्य करेंगे।

इस अवसर पर तिरिक्त जिला कलक्टर श्री किशोर कुमार, श्री अबु सूफियान चैहान, जिला परिषद के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री संजय माथुर, सहायक कलक्टर श्रीमती श्वेता यादव, उपख्ण्ड अधिकारी श्री अंकित कुमार सिंह, , प्रशिक्षु आईएएस टीना डाबी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top