edvertise

edvertise
barmer

जोधपुर शादी के 2 दिन बाद ही ससुर-जेठ ने की गलत हरकतें, अब हुआ जानलेवा हमला


जोधपुर. डिफेंस लैब में कार्यरत लेडी साइंटिस्ट पर उनके ही पति, सास और ससुरालवालों ने जानलेवा हमला कर मारने कोशिश की। गंभीर रूप से जख्मी महिला किसी तरह वहां से बचकर निकलीं, लेकिन ससुरालवालों ने उसका पीछा नहीं छोड़ा। उसके ससुराल से कुछ दूरी पर चौराहे के पास एक लेडी ने उनकी जान बचाई। शादी के 2 दिन बाद ही ससुर और जेठ ने की गलत हरकतें...
शादी के 2 दिन बाद ही ससुर-जेठ ने की गलत हरकतें, अब हुआ जानलेवा हमला


- संजीता ने रातानाडा पुलिस को बताया कि संजीता की शादी फरवरी 2015 में प्रशांत जायसवाल पुत्र लक्ष्मणसिंह के साथ हुई थी। पति रेलवे के समदड़ी सब डिविजन में सीनियर सेक्शन इंजीनियर हैं।

- शादी के अगले दिन से ही पति और ससुरालवालों ने दहेज के लिए उसे परेशान करना शुरू कर दिया। शादी के दो दिन बाद ही ससुर और जेठ ने उसके साथ गलत हरकतें की, तो उसने अपने पति और सास को इस बारे में बताया, लेकिन उन्होंने घरवालों का ही पक्ष लिया।

- शादी के वक्त संजीता की पोस्टिंग पुणे में थी और पति प्रशांत भी कभी-कभी उसके पास आता था। किसी तरह कोशिश करके संजीता ने अपनी पोस्टिंग जोधपुर कराई और 2-3 माह पहले डिफेंस लैब कैंपस में स्थित ट्रांजिट हॉस्टल में रहने लगीं। इस बीच पति की तरफ से दो बार लीगल नोटिस भेजे, तब संजीता ने पति से कहा कि वह तो ससुराल में रहना चाहती है।

घर से बाहर भाग लोगों से मदद मांगी, सिर्फ एक महिला बचाने आई

- शनिवार सुबह पति से बात करके संजीता सुबह करीब साढ़े 10 बजे अपने ससुराल रातानाडा पहुंची, तो सबने गाली-गलौच की और कागजों पर जबरन दस्तखत कराने की कोशिश की।

- जब उसने बिना पढ़े साइन करने से मना किया तो ससुरालवालों ने पकड़ लिया। ससुर और जेठ ने गलत हरकतें की और पति और सास ने जान से मारने की कोशिश करते हुए कांच का गिलास तोड़ उसकी गर्दन पर वार किया, लेकिन वह बच गई। साथ ही उसकी हाथ की नसें काटने की कोशिश की, जिससे हाथ में गहरी चोट आई।

- खुद को बचाने के लिए वह भागी, तो ससुरालवालों ने घसीटकर अंदर ले जाने की कोशिश की। किसी तरह वह घर से कुछ दूर चौराहे तक पहुंची। वहां मदद के लिए लोगों से गुहार की, लेकिन कोई बचाने नहीं आया। इसी बीच पास ही रहने वाली महिला मुस्कान वहां पहुंची और उसे बचाया। इसके बाद भी ससुराल वालों ने उसका पीछा नहीं छोड़ा और जबरन प्राइवेट हॉस्पिटल ले जाने लगे, तो मुस्कान भी साथ हो ली।

- हॉस्पिटल में उसकी हालत देख रेफर किया ताे मुस्कान उसे लेकर एमडीएमएच पहुंची। वहां उसके हाथ पर 8-9 टांके लगे, तब तक ससुरालवाले पीछे लगे रहे। बाद में मुस्कान उसे अपने घर ले गई। इसके बाद वह लेडी थाने गई, तो उसे थाने भेज दिया गया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top