edvertise

edvertise
barmer



एक्सक्लूसिव : इस शख्स को कैसे पता था कि दो घंटे बाद होगा आनंदपाल का एनकाउंटर ?




राजस्थान के गृह मंत्री ने गुलाबचंद कटारिया ने आनंदपाल एनकाउंटर को लेकर बयान दिया था कि मुझे मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने रात में फोन कर बधाई दी तब पता चला की कुख्यात अपराधी आनंदपाल पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में मारा गया है.

जब जनता को आनंदपाल एनकाउंटर का पता चला तो चर्चा चली की आनंदपाल पुलिस मुठभेड़ में नही मारा गया बल्कि पुलिस ने आत्मसमर्पण के बाद मार दिया है. हालाँकि पुलिस ने कहा आनंदपाल को आत्मसमर्पण के लिए कहा गया लेकिन उसने आत्मसमर्पण करने की बजाय पुलिस पर गोलियां चलने लगा. तब आत्मरक्षा में चलाई गई गोलियों से आनंदपाल मारा गया.




राजस्थान में एक शख्स को इस घटना से पहले ही पता की आज आनंदपाल या तो पकड़ा जाएगा या मारा जाएगा. मशहूर सोशल साईट फेसबुक में एक शख्स ने 24 जून को रात 8:57pm को पोस्ट डाली कि ‘आज हो सकती है आनन्दपाल की गिरफ्तारी। या एनकाउंटर!’




राजस्थान पुलिस कह रही है कि 9:30 बजे SOG ने चुरू पुलिस अधीक्षक को सूचना दी इसके बाद वो राहुल बारोट, संजीव भटनागर व करण शर्मा के नेतृत्व में तीन टीमें बनाई गई व मालासर की तरफ रवाना हुई.




इसी वीर इंद्र सारण नाम के आदमी ने रात 10:22 पर पोस्ट डाली कुछ ही देर में होगा आनंदपाल खाक।

तैयारीया पूरी। पुलिस का भी दावा है कि साढ़े दस बजे आनंदपाल मारा गया.


जब एक आम आदमी को इस ऑपरेशन की इतनी जानकारी थी और गृहमंत्री कह रहे है कि उनको मुख्यमंत्री ने इस एनकाउंटर की सूचना दी. अगर वाकई ऐसा है तो कटारिया को खुद को आत्ममंथन करना चाहिए कि वो राजस्थान के गृह मंत्री के लायक है?

1 टिप्पणियाँ:

  1. बहुत ही दुःखद है माटी का सपूत आज फिर राजनीति की भेंट चढ़ गया। इस पूरे घटनाक्रम से एक बात तो स्पष्ट है कि सरकार के आला मंत्रियों ने एक दबंग को अपने राजनैतिक वर्चस्व बनाने के लिए इस्तेमाल किया और मौका मिलते ही एनकोउन्टर करवा कर मरवा दिया। इसके दुष्परिणाम सरकार को चुनाव में दिखेंगे।

    ReplyDelete

 
Top