edvertise

edvertise
barmer



जैसलमेर फर्जी सिम विक्रय करने वालों की खेर नहीं, फर्जी सिम विक्रय करने वालों के विरूद्ध की जायेगी कार्यवाही

सिम का गलत उपयोग होने पर मूल सिम धारक के खिलाफ की जावेगी कार्यवाही
जिला जैसलमेर जोकि भारत-पाक अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर स्थित है। जहाॅ पर संदिग्ध व्यक्तियों द्वारा संदिग्ध गतिविधियों को अंजाम देने से भी नहीं नकारा जा सकता है। जिला पुलिस द्वारा लगातार विभिन्न तरिकों से लगातार पैनी नजर रखे हुए है। दौराने निगरानी एवं पुलिस के विभिन्न अनुसंधानों में उजागर हुआ है कि विभिन्न वारदाताओं में संदिग्धों द्वारा फर्जी सिम का उपयोग करके वारदातों को अंजाम दिया जाता है। जोकि पुलिस अनुसंधान के लिए सिरदर्द होने के साथ-साथ जिला जैसलमेर जोकि सीमावर्ती जिला है के लिए भी चिन्ता का विषय है।

फर्जी सिम का उपयोग घातक कैसे ?

ज्ञात रहे कि जिले में मोबाईल धारकों द्वारा विभिन्न कम्पनियाॅ जैसे एयरटेल, वोडाफोन, जियों, आईडियाॅ, एयरसेल, बीएसएनएल, रिलाईंस, एमटीएस एवं टाटा की सिमों का उपयोग किया जाता है। इन सभी कम्पनियों के रिटेलरों द्वारा जिले के शहरों, कस्बों एवं गाॅव में स्थित दूकानों पर सिम विक्रय करने के लिए दिये गये है। प्रायः देखने में आया है कि पुलिस द्वारा किसी भी वारदात या घटना का अनुसंधान या जाॅच की जाती है तो उक्त घटना को अंजाम देने वालों के द्वारा उपयोग की जाने वाली सिम फर्जी आईडी से क्रय की हुई मिलती है। जिससें उक्त सिम के आधार पर पुलिस को जाॅच करने में दिक्कत आती है तथा जिला जैसलमेर सिमांत जिला है यहाॅ पर किसी संदिग्ध व्यक्ति द्वारा फर्जी सिम का उपयोग करके बडी वारदात को अंजाम दे सकते है। इसलिए फर्जी सिम विक्रय जिले, राज्य एवं देश के लिए बहुत ही घातक सि़द्ध हो सकती है।




फर्जी सिम विक्रय करने वालों के विरूद्ध की जायेगी कार्यवाही

ज्ञात रहे कि फर्जी सिम का विक्रय कर अपनी जेब भरने वाले दूकानदार ज्यादा खुश ना हो क्योकि किसी भी दूकान द्वारा सिम का विक्रय करने पर उक्त सिम के साथ फार्म भरा जाता है जिस पर संबंधित दूकान की सम्पूर्ण प्रकार की जानकारी होती है वह किसी भी समय फर्जी सिम के विक्रय करने पर जाॅच ऐजेन्सियों के घेरे में फस सकता है। जिले के समस्त रिटेलर, दूकानदारों को निर्देशित किया जाता है कि कोई भी फर्जी सिम का विक्रय नहीं करे तथा सिम खरीदने वाले की आईडी की सम्पूर्ण जाॅच कर सिम विक्रय करे। यदि कोई संदिग्ध व्यक्ति फर्जी सिम क्रय करने की नियत से आता है तो उसकी सुचना तुरंत अपने नजदीकी थाना/चैकी या पुलिस कंट्रोल रूम को देवे। अगर कोई फर्जी सिम किसी दूकानदार एवं रिटेलर की मिली भगत से बैची जाती है, तो उक्त दूकानदार एवं रिटेलर के खिलाफ सख्त से सख्त कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जावेगी।




सिम का गलत उपयोग होने पर मूल सिम धारक के खिलाफ की जावेगी कार्यवाही

प्रायः देखने में आया है कि अंजाने मंे ही सही किसी व्यक्ति के नाम की सिम किसी अन्य व्यक्ति को उपयोग करने हेतु दी जाती है, उक्त व्यक्ति द्वारा उक्त सिम का उपयोग गम्भीर प्रकरणों को अंजाम देेने में किया जाता है तो उस उपयोगकर्ता के साथ-साथ मूल सिम धारक के खिलाफ भी कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जावेगी। अतः अपने नाम की सिम किसी भी व्यक्ति को ना देवे।




पुलिस अधीक्षक द्वारा आमजन से अपील

भारत-पाक अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर स्थित जैसलमेर जिले के समस्त जिलेवासियों से अपील की जाती है कि वह अपनी दूकान पर फर्जी सिम का विक्रय ना करे तथा अपनी स्वयं के नाम की सिम किसी अन्य व्यक्ति को उपयोग करने हेतु न देवे। अगर किसी व्यक्ति द्वारा अन्य किसी की आईडी से सिम क्रय करने की कोशिश की जावे तथा आपकों बांधित करे तो उसकी सुचना अपने नजदीकी थाना/चैकी, पुलिस कंट्रोल रूम नम्बर 100, 252100 व 250747 एवं पुलिस के वाट्सएप नम्बर 9530438560 व पुलिस की फैसबुक आईडी, ट्वीटर एकाउण्ट पर देवे। आपकी सजगता ही जिले की सुरक्षा है तथा आपका साथ ही पुलिस का मजबूत आधार हैं।




0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top