edvertise

edvertise
barmer

बाड़मेर। भूख हड़ताल पर बैठे परिवार की हालत बिगड़ी, अस्पताल में किया भर्ती , न्याय के लिये भूख हड़ताल जारी ,जिला कलेक्टर ने उचित कार्यवाही का दिया आष्वासन , 23 वे दिन भी धरना जारी 



बाड़मेर। जिला मुख्यालय पर 23 दिन बीत से दलित आदिवासी संघर्ष समिति बैनर तले कई लोगो खेताराम भील के हत्यारों की गिरफ्तारी माँग को लेकर धरने पर बैठे है। प्रशासन की ओर अभी तक कोई सक्रिय कार्यवाही नहीं की गई जिसके चलते मृतक की वृद्ध माता पिता व पत्नी पिछले चार दिनों से भूख हड़ताल पर बैठा था.ऐसे में शुक्रवार शाम मृतक खेताराम के वृद्ध माता- पिता व पत्नी की तबीयत खराब हो गई. जिसके बाद उनके राजकीय चिकित्सालय में दाखिल कराया गया। जहां उनका उपचार चल रहा है। चिकित्सालय में भर्ती होने के बावजूद भी वहा पर भी भूख हड़ताल जारी है और धरना स्थल पर उनके स्थान पर जुमाराम निवासी बंधड़ा ने भुख हड़ताल शुरू कर दी है। भूख हड़ताल से मृतक की वृद्ध माता पिता व पत्नी का कुछ भी हो सकता है। अगर समय रहते प्रशासन ने कोई उचित कार्यवाही नहीं की तो आने वाले समय में खामीयाजा भुगतना पड़ सकता है।





मुख्यमंत्री के  नाम दिया ज्ञापन 


दलित आदिवासी संघर्ष समिति के प्रतिनिधि मण्डल ने आज को खेताराम हत्याकाण्ड प्रकरण के नामजद आरोपियों को गिरफ्तार कर पिडि़त परिवार को न्याय व आर्थिक सहायता दिलाने की मांग को लेकर प्रतिनिधि मण्डल ने जिला कलेक्टर बाड़मेर को मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन सौपा।



जिला कलेक्टर ने उचित कार्यवाही का दिया आष्वासन
जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते ने उचित कार्यवाही करवाने का आष्वासन दिया, शुक्रवार की देर शाम एसडीएम बाड़मेर, डिप्टी ओपी उज्जवल बाड़मेर व चिकित्सालय की टीम धरना स्थल पर पहुंचे । मृतक खेताराम के वृद्ध माता- पिता व पत्नी की हालत नाजुक देखते हुए उनको राजकीय अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहां उनका उपचार चल रहा है। अस्पताल में भी उनकी भूख हड़ताल जारी रखे हुऐ है।



आज धरने पर ये मौजूद रहे 


समिति संयोजक दानाराम वाघेला, खमाणाराम हापो की ढाणी, मजनाराम, मूलाराम मेघवाल मेघवाल परिषद, बाड़मेर, सोहन मंसूरिया, मगाराम बंधड़ा, सगताराम, फगलूराम मंगलिया, रूपाराम बंधड़ा, कालूराम रेडाणा, बंधुआ मुक्ति मोर्चा अध्यक्ष कैलाष रावत, प्रेमाराम जैसलमेर, राजूदास महाराज, जेठाराम, सताराम लूणू, कस्तुराराम, चौखाराम बक्से का तला,अर्जुनराम, ओमाराम उपस्थित रहे।



समिति संयोजक दानाराम वाघेला ने बताया कि पिडि़त परिवार को न्याय दिलाने हेतूु उक्त जांच अधिकारी को बदलकर जोधपुर संभाग के किसी अन्य जिले के ईमानदार निष्पक्ष पुलिस अधिकारी को दी जावें नही तो उग्र आन्दोलन किया जायेगा। तथा भूख हड़ताल से मृतक के माता पिता व पत्नी का कुछ भी हो होता है तो उसकी समस्त जिम्मेदारी सरकार व जिला प्रषासन व पुलिस प्रषासन की होगी।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top