edvertise

edvertise
barmer



उदयपुर.सनसनीखेज घटना: कुएं में मिला लापता युवक का हाथ-पांव बंधा शव, हत्या का केस दर्ज

सनसनीखेज घटना:  कुएं में मिला लापता युवक का हाथ-पांव बंधा शव, हत्या का केस दर्ज
सायरा थाना क्षेत्र के ब्राह्मणों को कलवाना में 15 दिन पूर्व घर से लापता युवक का शव कुएं में मिला। उसके हाथ-पांव बंधे थे तथा सिर पर प्लास्टिक का कट्टा लटका था। संभवत: हत्या कर शव कुएं में फेंका गया था। एफएसएल टीम ने साक्ष्य उठाए, वहीं पुलिस ने मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम के लिए शव उदयपुर एमबी चिकित्सालय में रखवाया। सोमवार को पोस्टमार्टम के बाद ही मृत्यु के कारणों का खुलासा हो पाएगा। फिलहाल सायरा पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज किया है।

पुलिस ने बताया कि ब्राह्मणों का कलवाना निवासी पुष्कर (28) पुत्र बंशीलाल जोशी गत 30 अप्रेल से घर से लापता हो गया। सुबह गांव में एकांत में स्थित खेतों पर आम खाने गए बच्चों ने कुएं में शव देखकर ग्रामीणों को सूचना दी। सूचना पर सैकड़ों ग्रामीण वहां जमा हो गए, सायरा थानापुलिस के अलावा उपाधीक्षक ओमकुमार भी मौके पर पहुंचे।

पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से शव को बाहर निकाला तो वह सड़ गल चुका था तथा बुरी तरह से दुर्गन्ध मार रहा था। शव बाहर निकलते ही सभी ने देखते ही मृतक के पुष्कर होने की शिनाख्त कर दी।

साड़ी की कतरनों से बांधा था

पुष्कर के हाथ-पांव साड़ी की पट्टियों से बंधे थे। सिर पर प्लास्टिक का कट्टा बंधा था। पुलिस का मानना है कि हत्या के बाद शव कुएं में फेंका गया। कट्टे में पत्थर भी बांधे ताकि शव ऊपर न आ सके। हालांकि पत्थर कुएं में ही गिर गए। पुलिस ने एफएसएल टीम को बुलाया। टीम प्रभारी अभयप्रताप सिंह ने अशोक व सुरेश के साथ साक्ष्य लिए। पुलिस ने शव को सायरा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचाया लेकिन चिकित्सकों ने शव की स्थिति को देखकर उसे मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम के लिए उदयपुर भिजवा दिया।शादी में गया था परिवार

पुलिस के अनुसार पुष्कर परिवार के साथ सूरत में रहता था। पत्नी मुंबई में पीहर में है। कुछ दिनों पहले वह सूरत से गायब हो गया। परिजनों ने तलाश की लेकिन वह गांव में मिला। गत 29 अप्रेल को गांव में सामूहिक विवाह होने से पूरा परिवार ब्राह्मणों का कलवाना आया था। पुष्कर के पिता बंशीलाल जोशी के समाज के अध्यक्ष होने से सभी वैवाहिक समारोह में ही व्यस्त थे लेकिन पुष्कर की मानसिक स्थिति ठीक नहीं होने से वह घर पर अकेला ही रहा।




29 को जब वह घर पर नहीं मिला तो सभी शादी में होना जानकार ध्यान नहीं लगाया, अगले दिन तक नहीं आने उसकी पड़ताल की। 6 मई तक परिजन आस-पास के गांव व सूरत में उसे ढूंढ़ते रहे, कहीं नहीं मिलने पर मिलने पर 7 मई को थाने में उसके लापता होने की रिपोर्ट दर्ज करवाई।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top