edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर.अब बाड़मेर शहर में कचरा पात्र गूगल मेप पर नजर आएंगे


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से चलाए गए स्वच्छ भारत अभियान के तहत नगर परिषद बाड़मेर अब डिजिटल इंडिया से जुड़ कर हाइटेक होती नजर आ रही है। नगर परिषद की पहल से शहर के कचरा पात्र गूगल मेप पर नजर आएंगे। इसकी तैयारियां पूर्ण कर ली है। इसके लिए शहर के प्रमुख स्थानों पर कचरा पात्र लगा वहां जीपीएस सिस्टम लगाया जाएगा। उसके माध्यम से प्रभावी मॉनीटरिंग होगी। नगर परिषद क्षेत्र में कचरे के ढेऱ लगने से सफाई व्यवस्था चरमरा जाती है। ऐसे में नाली व नालों में में कचरा निकालने के बाद भी कई दिनों तक कचरा पड़ा रहता है। जिसके चलते यह कदम उठाया गया है।




शहर में 102 स्थानों पर लगेंगे कचरा पात्र

नगर परिषद क्षेत्र के 40 वार्डों में 102 स्थान चिन्हित किए गए हैं जहां 102 कचरा पात्र लगाए जाएंगे। प्रत्येक कचरा पात्र पर जीसीएस सिस्टम लगाया जाएगा। इसकी नगर परिषद प्रभावी मॉनीटरिंग करेगी। इसके चलते शहर में जगह-जगह कचरे के ढेर नहीं नजर आएंगे।




घर बैठे ढूंढ़ पाएंगे कचरा पात्र

नगर परिषद की ओर से गूगल मैप के जरिए लिंक बनाया जाएगा। इसमें गूगल के जरिए घर के नजदीक लगाया गया कचरा पात्र आसानी से ढूंढ़ पाएंगे। गूगल मैप से कचरा पात्र जुडऩे से आमजन में डिजिटल इंडिया को लेकर जागरूकता पैदा होगी।




कर्मचारियों पर रहेगी नजर

कचरा पात्र में जीपीसी लगने के बाद कचरा उठाने वाले वाहनों को भी इस सिस्टम से जोड़ा जाएगा। इसके चलते नगर परिषद कर्मचारियों पर भी नजर रहेगी। इसमें कचरा उठाने वाले कर्मचारियों को कचरा पात्र के पास वाहन नहीं रोकने व उठाने की लापरवाही बरतने पर जीपीसी सिस्टम से पता चल जाएगा। इस सिस्टम से कर्मचारियों पर पांबदी रहेगी। वहीं वार्डो में बोर्ड लगाए जाएंगे। जिस किसी भी कचरा पात्र से कचरा नहीं उठा तो उस नम्बर पर आमजन सम्पर्क कर सकेगा।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top