edvertise

edvertise
barmer



जालोर जिला कलेक्टर ने कार्यालय की व्यवस्थाओं को बेहत्तर बनाये रखने के दिए निर्देश
जालोर 15 मई - जिला कलेक्टर एल.एन. सोनी की अध्यक्षता में सोमवार को जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक सम्पन्न हुई जिसमें राजकीय कार्यालय की व्यवस्थाओं को बेहत्तर बनाने के लिए कार्य व्यवस्था, निष्पादन प्रक्रिया, भ्रमण कार्य एवं निरीक्षण व्यवस्थाओं आदि के लिए आवश्यक निर्देश दिये।

जिला कलेक्टर एल.एन. सोनी ने सोमवार को कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में आयोजित जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिले में राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप जन समस्याओं एवं विकास कार्यो का बेहत्तर तरीके से क्रियान्वयन करने के साथ ही कार्यालय की व्यवस्थाओं में किसी भी स्तर पर ढ़िलाई नही बरती जाये। उन्होनें कहा कि भविष्य में प्रत्येक माह के प्रथम सोमवार को सभी जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक आयोजित की जायेगी जबकि शेष अन्य सोमवारों को जलदाय, विद्युत, सार्वजनिक निर्माण, चिकित्सा, शिक्षा, पुलिस एवं नगर परिषद आदि विभागों की ही समीक्षा की जायेगी। उन्होनंे कहा कि भविष्य में कोई भी जिला स्तरीय अधिकारी बिना अनुमति के जिले के बाहर नही जायेगे तथा आवश्यक होने पर लिखित या मोबाईल से सूचना के बाद ही प्रस्थान करेगें। सभी राजकीय कार्यालयों में मूवमेन्ट रजिस्ट्रर का व्यवस्थित रूप से संधारण करने के साथ ही मुख्यालय छोडने के पूर्व मूवमेन्ट रजिस्ट्रर में अनिवार्य रूप से अंकन करना होगा, इसी प्रकार ऐसे कार्यालय जहां पर मात्रा एक ही अधिकारी या कर्मचारी है वह अपने कार्यालय के बाहर सूचना पट्ट पर स्थान छोडे जाने का कारण आदि चस्पा कर प्रस्थान करेगें वही ग्रामीण क्षेत्रों में जहाॅ पर किसी का कार्यालय नही वहाॅ पर अधिकारी व कर्मचारी अटल सेवा केन्द्र पर सूचना चस्पा करेेंगे।

उन्होनें बैठक में निर्देशित किया कि फील्ड आफिसर मंगलवार एवं गुरूवार को अपने-अपने मुख्यालय पर ही रहेगे लेकिन यदि किसी के पास दो क्षेत्रों को प्रभार है तो मंगलवार को प्रथम प्रभार व गुरूवार को द्वितीय प्रभारवाले स्थानों पर रहेगें। उन्होनें बैठक में प्रमुख अधिकारियों को नवीन निरीक्षण प्रपत्रा की प्रति देते हुए निर्देशित किया कि भविष्य में अब इसी के अनुरूप प्रभावी निरीक्षण कर उसकी रिपोर्ट भिजवानी होगी । उन्होनें निर्देशित कि राजस्थान सम्पर्क पोर्टल के तहत लम्बित प्रकरणों की जानकारी प्रत्येक गुरूवार को सम्बन्धित अधिकारी को ई-मेल व एसएमएस से दी जायेगी तथा सम्बन्धित अधिकारी को प्रत्येक सोमवार को लम्बित मामलों का शत प्रतिशत निस्तारण कर उसकी पालना भिजवानी होगी।

जिला कलेक्टर ने बैठक में विद्युत विभाग के अधिशाषी अभियन्ता को निर्देशित किया कि जालोर शहर में पानी की आपूर्ति के दौरान विधुत कटौती करें साथ ही जले या खराब हुए ट्रान्सफार्मरों को 72 घंटे के भीतर पुनः स्थापित कर इस कार्य का संधारण प्राथमिकता एवं व्यवस्थित रूप से करें। उन्होने विधुत विहीन 38 उत्कृष्ट विद्यालयों में इसी माह के दौरान विधुत कनेक्शन से जोडने के भी निर्देश दियें। उन्होनें जालोर नगर परिषद के आयुक्त को निर्देशित किया कि वे अपने स्तर से जारी होने वाली निविदाओें एवं वित्तीय कार्यो में किसी भी स्तर पर लापरवाही नही बरते तथा जालोर नगर परिषद के मुख्य द्वार के पास व सामने नोन वेडिंग जोन क्षेत्रा की पालना भी सुनिश्चित करें। उन्होनेे जिला रसद अधिकारी को निर्देशित किया कि पाॅस मशीनों से शत प्रतिशत राशन सामग्री का वितरण करने के अतिरिक्त अन्नपूर्णा भंडारों व उचित मूल्य की दुकानों पर दर सूची अनिवार्य रूप से लगी हुई होनी चाहिए तथा जिले में रिक्त चल रही उचित मूल्य की दुकानों के लिए आवश्यक कार्यवाही करें। उन्होनें महिला एवं बाल विकास विभाग की उप निदेशक श्रीमती सती चैधरी को निर्देशित किया कि प्रचेताओं के रिक्त पदों को भरने के लिए सेवानिवृत्त महिला कर्मचारी की नियमानुसार नियुक्ति करें तथा इसमें सम्बन्धित क्षेत्रा के जन प्रतिनिधियों का भी सहयोग ले। उन्होनें कहा कि आंगनवाडी कार्यकत्र्ताओं व सहायिकाओं के घरों में कार्यरत शौचालय की सुनिश्चितता के लिए आवश्यक निरीक्षण भी करें।

बैठक में अतिरिक्त जिला कलेक्टर नरेश बुनकर एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी हरिराम मीना ने भी विभागीय कार्यो के सम्बन्ध में जानकारी दी। इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पी.डी. धानिया, सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियन्ता एन.के.माथुर, जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियन्ता कमलजीत, वाटर शेड के अधीक्षण अभियन्ता दिलीप वर्मा, उप वन संरक्षक हनुमानाराम, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. जी.एस. देवल, प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डा. एस.पी. शर्मा एवं जालोर नगर परिषद आयुक्त त्रिकमदान चारण सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थें।

----000---

रात्रि चैपाल के पूर्व अधिकारी जन समस्याओं का चिन्हीकरण करेंगे
जालोर 15 मई - जिला कलेक्टर द्वारा होने वाली रात्रि चैपालों में अब सम्बन्धित अधिकारी प्रातः 10.00 बजे पहुंचकर ग्राम में भ्रमण कर विभागीय जन समस्याओं का आंकलन व चिन्हीकरण करते हुए निराकरण के लिए आवश्यक कार्य करेंगें।

जिला कलेक्टर एल.एन. सोनी ने जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि रात्रि चैपालों के तहत सम्बन्धित उपखण्ड अधिकारी, तहसीलदार एवं ब्लांक स्तरीय अधिकारी निर्धारित ग्राम में प्रातः 10.00 बजे से दोपहर 2.00 बजे तक अनिवार्य रूप से ग्राम का भ्रमण कर उपलब्ध व्यवस्थाओं व जन समस्याओं का आंकलन करेंगे तथा सांयकाल 5.30 बजे से 7.30 तक आयोजित रात्रि चैपाल में चिन्हित जन समस्याओं के समाधान की दिशा में उनके द्वारा किये गये कार्यो की जानकारी देगे तत्पश्चात रिव्यू बैठक भी होगी। उन्होनें निर्देशित किया कि विशेष परिस्थितियों में वित्तीय प्रावधानों व नियमों के मामलों को छोडकर शत-प्रतिशत जन समस्याओं का निराकरण प्रथम प्राथमिकता होनी चाहिए।

----000---

पूर्व सैनिकों की समस्या समाधान के लिये शिविर 19 को
जालोर 15 मई - सैनिक कल्याण विभाग द्वारा जालोर जिले के पूर्व सैनिकों, वीरांगनाओं एवं उनके आश्रितों के कल्याणार्थ जालोर नगर परिषद भवन में 19 मई को प्रातः 11.30 बजे शिविर का आयोजन किया जायेगा।

जिला सैनिक कल्याण अधिकारी पाली कर्नल डी.एस.भाटी ने जानकारी देते हुए बताया कि जालोर जिले के पूर्व सैनिकों, वीरांगनाओं एवं उनके आश्रितों के कल्याणार्थ कार्य के लिए जालोर नगर परिषद भवन में 19 मई को प्रातः 11.30 बजे शिविर का आयोजन किया जायेगा जिसमें उनकी समस्याओं का समाधान किया जायेगा। उन्होंने बताया कि शिविर में भूतपूर्व सैनिक, वीरांगना व उनके आश्रित समस्या समाधान के लिए सेवा मुक्ति प्रमाण पत्रा, परिचय पत्रा, पी.पी.ओ. प्रति एवं बैंक पास बुक साथ लेकर आवे।

---000---

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top