edvertise

edvertise
barmer



जैसलमेर पर्यावरण शुद्विकरण के लिए अधिकाधिक पौधारोपण करावें-जिला कलक्टर

पाॅलिथीन उपयोग पूर्णतया प्रतिबंधित कराने के दिये निर्देष

जिला पर्यावरण समिति की बैठक में विविधि पहलुओं पर चर्चा

जैसलमेर, 21 मार्च। जिला कलक्टर मातादीन शर्मा ने जिले में पर्यावरण शुद्विकरण के लिए अधिक से अधिक पौधारोपण करने पर विषेष जोर दिया। उन्होंनें नगरीय निकाय के अधिकारियों को निर्देष दिये कि वे शहरी क्षेत्रों में पाॅलिथीन उपयोग के रोकथाम के लिए सख्ताई से कार्यवाही करावें एवं इसके लिए उपखंड अधिकारी एवं पुलिस का पूरा सहयोग लेवें। उन्होंनंे इस संबंध में पर्यावरण संरक्षण अधिनियम के तहत कार्यवाही करने पर भी विषेष जोर दिया।

जिला कलक्टर शर्मा ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित जिला स्तरीय पर्यावरण समिति की बैठक में यह निर्देष दिये। बैठक में उप वन संरक्षक डीडीपी डाॅ.ख्याति माथुर, इगानप श्रीमती सुदीप कौर, उपखंड अधिकारी रणसिंह के साथ ही संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। जिला कलक्टर ने आयुक्त नगरपरिषद को निर्देष दिये कि वे पर्यावरण संरक्षण के संबंध में शहर में जहां पर्यटको की आवाजाही ज्यादा रहती है वहां पर ‘‘ डू एण्ड डोन्ट डू ‘‘ के होर्डिग्स व साईन बोर्ड लगाने की व्यवस्था करावें।

उन्होंनंे मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं प्रमुख चिकित्सा अधिकारी को निर्देष दिये कि वे पर्यावरण को दूषित करने वाले बायोकेमिस्ट अपषिष्ठ का निस्तारण सुचारू ढंग से कराने की व्यवस्था सुनिष्चित करावें। उन्होंनें उप वन संरक्षक को निर्देष दिये कि वे वनों की कटाई किसी भी सूरत में नहीं हो इसके लिए वन विभाग के अधिकारियों को पूर्ण चैकसी बरतने के लिए पाबंद करावें।

उन्होंनें महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र को निर्देष दिये कि वे रीको एवं खनिज अधिकारियों के साथ रीको क्षेत्र में भ्रमण कर वहां यह सुनिष्चित करावें कि पत्थर की सुखी कटिंग कहीं पर भी नहीं हो वहीं रीकों क्षेत्र में पर्यावरण अधिनियम के अनुरूप पालना की जा रही है या नहीं उसकी भी जांच करावें। उन्होंनें अवैध खनन की रोकथाम के लिए प्रभावी कार्यवाही करने के खनिज अभियंता को निर्देष दिये।

जिला कलक्टर ने गजरूप सागर फिल्टर प्लांट पर पानी का क्लोरीनेषन सही मात्रा में करानें, उसकी समय समय पर सफाई करानें, पानी के सेम्पल जांच लेने एवं जीएलआर की सफाई कराने के नगरीय निकाय एवं जलदाय विभाग के अधिकारियों को निर्देष दिये। उन्होंनें नगरीय निकाय के अधिकारियों को कचरे का सही ढंग से निस्तारण कराने पर जोर दिया। उन्होंनंे अधिकारियों के निर्देष दिये कि बैठक में जो दिषा निर्देष दिये गए है एवं जो निर्णय लिए गये है उनकी समय पर पालना सुनिष्चित कर रिपोर्ट प्रस्तुत करावें।

सदस्य सचिव एवं उप वन संरक्षक डाॅ.ख्याति माथुर ने बैठक में जिले की पर्यावरण सुधार एवं संरक्षण के बारे में विभिन्न विभागों द्वारा किये जाने वाले कार्याे की जानकारी दी वहीं गत बैठक की पालना रिपोर्ट प्रस्तुत की। उन्होंनंे पर्यावरण अधिनियम की पालना सुनिष्चित करने, पर्यावरण जागरूकता के लिए विद्यालयों में कार्यक्रम संचालित करने की आवष्यकता जताई।

-----000-----

गर्मी ऋतु शुरू होते ही पेयजल आपूर्ति पर विषेष ध्यान दें

जलदाय विभाग के अधिकारी-जिला कलक्टर

राजश्री का भुगतान शून्य की स्थिति में लाने के दिये निर्देष
जैसलमेर, 21 मार्च। जिला कलक्टर मातादीन शर्मा ने जलदाय विभाग के अधिकारियों ने निर्देष दिये कि वे गर्मी ऋतु प्रारंभ होने के साथ पेयजल आपूर्ति पर विषेष ध्यान देना शुरू कर दें वहीं अधीनस्थ स्टाॅफ को इसके प्रति सजग रहने के लिए पाबंद कर दें। उन्होंनें लोगों को समय पर पीने के पानी की आपूर्ति सुचारू रूप से हो इसकी व्यवस्था करें एवं इसकी प्रभावी माॅनेटरिंग करने पर जोर दिया।

जिला कलक्टर शर्मा ने मंगलवार को कलेक्टेªट सभागार में आयोजित पानी बिजली की साप्ताहिक समीक्षा बैठक में यह निर्देष दिये। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर के.एल.स्वामी, के साथ ही संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। जिला कलक्टर ने जलदाय विभागों के अधिकारियों को निर्देष दिये कि वे जहां से भी पानी की समस्या की सूचना मिलती है वहां तत्काल पेयजल आपूर्ति करावें। उन्होंनंे अभियान चलाकर खराब हैण्डपंप की मरम्मत करानें की व्यवस्था करने पर भी विषेष जोर दिया ताकि कहीं पर भी जलापूर्ति व्यवस्था बाधित न हों। उन्होंनंे डांगरी में पेयजल आपूर्ति करने के निर्देष दिये।

उन्होंनें अधीक्षण अभियंता विद्युत को निर्देष दिये कि जलदाय विभाग के नलकूपों को अगले सप्ताह तक विद्युत कनेक्षन कराने की कार्यवाही करावें। उन्होंनंे आंधियों में विद्युत व्यवधान आने पर उसको कम से कम समय में सही कराने के लिए विषेष टीम का गठन करने के निर्देष दिये। उन्होंनें अधीक्षण अभियंता विद्युत को राजस्व विभाग के बकाया राषि को 25 मार्च तक जमा कराने की कार्यवाही पर विषेष जोर दिया।

उन्होंनें मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी व प्रमुख चिकित्सा अधिकारी को निर्देष दिये कि पुराने राजश्री के भुगतान के जो मामले है उनमें व्यक्तिगत रूचि लेकर उनका भुगतान करवाकर शून्य की स्थिति में लावें व आगे समय पर भुगतान की व्यवस्था हो इस बात का विषेष ध्यान रखें। उन्होंनें प्रमुख चिकित्सा अधिकारी को भामाषाह स्वास्थ्य बीमा योजना में मरीजों के उपचार का जो बीमा क्लेम बनता है उनको बीमा कम्पनी से सम्पर्क कर वसूली की कार्यवाही करने पर विषेष जोर दिया।

उन्होंनें आयुक्त नगरपरिषद को निर्देष दिये कि वे शहर में सफाई व्यवस्था में सुधार लावें वहीं किसी भी सूरत में नाले का गंदा पानी ओवरफ्लों न हों उनके पुख्ता प्रबंध करावें। उन्होनंे शहर में पाॅलिथीन उपयोग पर प्रतिबंध लगाने के लिए विषेष अभियान चलाकर उसकी धरपकड की कार्यवाही करने एवं संबंधित व्यक्ति के खिलाफ चालान बनाने के निर्देष दिये। उन्होंनंे शहर में 24 घण्टें के अन्तराल में पानी आपूर्ति कराने पर विषेष जोर दिया।

जिला कलक्टर ने सहायक निदेषक पषुपालन को पशुओं में कर्रा रोग के उपचार की उचित व्यवस्था करने एवं इस रोग के बचाव के लिए किये जाने वाले उपायों के संबंध में पशुपालकों में जन जागरूकता कार्यक्रम चलाने, सभी पशु चिकित्सा केन्द्रों पर पर्याप्त मात्रा में दवाईयों की उपलब्धता रखने एवं समय पर पशुपालकों को उपलब्ध कराने के निर्देष दिये।

उन्होंनंे अधीक्षण अभियंता पीडब्ल्यूडी को निर्देष दिये कि वे जैसलमेर शहर में गौरव पथ का निर्माण कार्य शीघ्र चालू करें एवं मार्च तक द्वितीय चरण के 8 गौरव पथ का निर्माण कार्य पूरा करावें।

बैठक में अधीक्षण अभियंता विद्युत एम.आर.जाट, पीडब्ल्यूडी सुनील कालानी, अधिषाषी अभियंता जलदाय, पराग स्वामी, एस.डी.सोनी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.एन.आर.नायक, पीएमओं डाॅ. जे.आर.पंवार, आयुक्त नगरपरिषद राजीव कष्यप, सहायक निदेषक पशुपालन एन.आर.चावडा उपस्थित थें एवं विभागीय गतिविधियों पर प्रकाष डाला।

-----000-----

नहरबन्दी से पूर्व पीने के पानी का पर्याप्त मात्रा में भण्डारण करावें
जैसलमेर, 21 मार्च। हरिके हैडवर्कस की मरम्मत एवं पुनः निर्माण के लिए 27 मार्च से 16 अपै्रल(21 दिवस) तक राजस्थान फीडर/इन्दिरा गांधी मुख्य नहर में नहरबन्दी लिया जाना विभागीय स्तर पर प्रस्तावित है। अधीक्षण अभियंता द्वितीय चरण वृत तृतीय इगानप जैसलमेर ने एक विज्ञप्ति जारी कर जैसलमेर संभाग के समस्त कृषकों से अपील की है कि वे नहरों में पीने के लिए दिये जाने वाले पानी का उपयोग केवल पीने के लिए ही करें तथा सिंचाई के लिए पानी का उपयोग नहीं करें।

अधीक्षण अभियंता ने नहरी क्षेत्र के सभी किसानों से आग्रह किया है कि वे नहरबन्दी से पूर्व पीने के पानी की व्यवस्था करने के लिए अपनी डिग्गियों/जोहड/कुण्ड इत्यादि में पानी का पर्याप्त मात्रा में भण्डारण कर लेवें। उन्होंनें जलदाय विभाग के अधिकारियों से आग्रह किया कि वे भी आगामी नहरबन्दी से पूर्व पीने की पानी की समुचित व्यवस्था अपने अधीन रिजरवायर/जल स्त्रोंतो में किया जाना सुनिष्चित करावें।

-----000-----

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top