edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर धार्मिक स्थानों को जनसंख्या के बजाय जनभावनाओं के आधार पर सड़कों से जोड़ेःमानवेन्द्र



विधानसभा में बोलते हुए शिव विधायक ने धार्मिक स्थानों पर सड़क सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए जनसंख्या को आधार बनाने के बजाय जनभावनाओं से जोड़कर देखने का सुझाव दिया। सिंह ने कहा कि सामान्यतः धार्मिक स्थानों पर जनसंख्या घनत्व कम रहता है, ऐसे में यह स्थान सड़क मार्ग से वंचित रह जाते है और लोगों को वहां आने-जाने में बड़ी कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है।

राजस्थान बजट में बाड़मेर-जैसमेलर जिलों के लिए सड़कों की घोषणा का स्वागत करते हुए मानवेन्द्र सिंह ने सुझाव दिया कि धार्मिक स्थानों को सड़क से जोड़ने में जनसंख्या के बजाय जनभावनाओं को महत्व देने से लोगों को सहुलियत रहेगी। उन्होनें कहा कि बाड़मेर में राणी भटियाणी माता मंदिर, जैसलमेर में जोगीदास धाम जैसे ऐसे कई स्थान है जहां हजारों श्रद्धालु आते है, लेकिन सड़क मार्ग के अभाव में उन्हे कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। उन्होनें कहा कि उनके विधानसभा क्षेत्र शिव के गागरिया में एक मजार है, जिस पर दोनों जिलों के हिन्दू-मुस्लिम समुदाय के लोग आते है। उन्होनें कहा कि सरकार उनके सुझाव पर गौर कर यदि ऐसे स्थानों को जनसंख्या के बजाय जनभावनाओं के आधार पर सड़क सुविधा मुहैया करवाएगी तो लोगों को सहुलियत मिलेगी।


0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top