edvertise

edvertise
barmer

जयपुर में डबल मर्डर से इलाके में हड़कंप, पिता-पुत्र को बेरहमी से उतारा गया मौत के घाट


मानसरोवर थाना इलाके में मंगलवार रात एक मकान में दोहरे हत्याकांड का सनसनीखेज मामला सामने आया है। हत्या के शिकार पिता-पुत्र बताए जा रहे हैं। प्रथम दृष्टया दोनों की हत्या पत्थर से सिर पर वार कर किए जाने के साक्ष्य मिले हैं। बदबू आने पर पड़ोसियों ने पुलिस को सूचना दी।


जयपुर में डबल मर्डर से इलाके में हड़कंप, पिता-पुत्र को बेरहमी से उतारा गया मौत के घाट




मौके पर पहुंची पुलिस के मुताबिक शव दो दिन पुराने हो चुके हैं। प्रथम दृष्टया दोनों की हत्या पत्थर से सिर पर वार कर किए जाने के साक्ष्य मिले हैं। एफएसएल टीम की जांच के बाद शव को मुर्दाघर में रखवाया गया है।







डीसीपी मनीष अग्रवाल ने बताया कि वारदात रजत पथ स्थित मकान संख्या 55/33 में हुई। यहां पर सरकारी सेवा से सेवानिवृत्त राजनारायण सक्सैना (72) और उनका बेटा सौरभ सक्सैना (43) रहता था। मंगलवार को मकान में से बदबू आने पर पड़ोसियों ने पुलिस को सूचना दी।







मौके पर पहुंची पुलिस ने देखा कि ग्राउंड फ्लोर पर राजनारायण सक्सैना की फूली हुई लाश पड़ी थी। जांच-पड़ताल करने पर दूसरी मंजिल पर बेटे सौरभ की भी लाश मिली। सौरभ के हाथ बंधे हुए थे। दोनों के सिर पर एक पत्थर के टुकड़े से हमला किया गया था, जिसे पुलिस ने मौके से ही बरामद कर लिया है।







पड़ोसियों ने पुलिस को बताया कि मकान में सिर्फ पिता-पुत्र ही रहते थे। उनके कुछ रिश्तेदारों की जानकारी मिलने पर पुलिस ने उन्हें सूचना देकर मौके पर बुलवाया है।




एफएसएल ने उठाए नमूने

पुलिस ने बताया कि दो से तीन दिन पुराने हो जाने से शव फूल गए हैं और उनसे दुर्गंध भी आने लगी है। सिर में चोट के निशान है। प्रारंभिक साक्ष्यों से लग रहा है कि बदमाशों ने सौरभ को बंधक बनाकर राजनारायण से कोई सौदा करने का प्रयास किया होगा। सौरभ के चोट लगने पर राजनारायण ने भागने की कोशिश की तो उस पर ग्राउंड फ्लोर पर हमला कर दिया हो। फिलहाल पुलिस इस बारे में ज्यादा जानकारी देने से बच रही है।




कृषि विभाग से रिटायर्ड हैं पिता

हत्या का शिकार राजनारायण सक्सेना (70) कृषि विभाग से रिटायर्ड हैं। जबकि उनके बेटे सौरभ सक्सेना (40) का कई साल पहले पत्नी से तलाक हो चुका है। सौरभ की मां की भी पहले मौत हो चुकी है। मकान में राजनारायण व सौरभ ही रहते थे।




मकान का चल रहा था काम

पड़ोसी और सूचना पर पहुंचे रिश्तेदारों ने बताया कि पिता-पुत्र मकान में होटल खोलने की योजना बना रहे थे। घर को होटल का लुक देने के लिए काम भी चला रखा था। कमरों में सीलिंग और पीओपी करवाई जा रही थी।




प्रॉपर्टी विवाद को लेकर हत्या!

पुलिस हत्या के पीछे मकान में काम करने वाले मजदूरों की पहचान कर रही है। आशंका जताई गई है कि पिता-पुत्र के पास नोट देख किसी मजदूर ने साजिश रची। या फिर पिता-पुत्र का किसी परिचित से प्रॉपर्टी को लेकर विवाद चल रहा हो।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top