edvertise

edvertise
barmer

दादी ने सलवार से बांधे थे लड़की के पैर, अंदरूनी अंग में डाला था गर्म काेयला

दादी ने सलवार से बांधे थे लड़की के पैर, अंदरूनी अंग में डाला था गर्म काेयलासमालखा.बाल संरक्षण आयोग और बाल कल्याण समिति के सदस्यों के सामने आरोपी सुनील के छह साल के बेटे ने 11 साल की लड़की के साथ हुई बर्बरता के ऐसे खुलासे किए हैं, जो रूह कंपा दे। आरोपी के बेटे ने टीम को बताया कि वारदात वाले दिन दादी ने लड़की के पैरों को पहले उसकी सलवार से बांधा और फिर गर्म कोयला चिमटे से उसके अंदरूनी हिस्से में डाल दिया। लड़की बुरी से तड़प गई। मगर दादी को उस पर जरा भी तरस नहीं आया। इसके बाद दादी ने उसे धमकाया कि अगर इस बारे में बाहर किसी को बताया तो उसे जान से मार देंगे। लड़की की होती थी रोज पिटाई...

- बच्चे ने बताया कि लड़की घर में खाना बनाने से लेकर सभी अन्य काम करती थी और कभी अगर कहीं कोई जरा सी भी कमी रह जाती थी तो उसे रोज पीटा जाता था।

- बाल सरंक्षण आयोग की सदस्य सुनीता देवी ने आरोप लगाया कि पुलिस ने लड़की को लावारिस समझ नॉर्मल मेडिकल कराकर आश्रम में छोड़कर पल्ला झाड़ लिया।

- उन्होंने बताया कि मामले मेंं शुरुआत से ही लापरवाही बरती गई। लड़की के माता-पिता को पुलिस तलाश तक न कर सकी।

- वहीं, बाल कल्याण समिति सदस्य सरोज आट्टा ने बताया कि आरोपी के घर व आसपास जानकारी जुटाने पर पता चला है कि लड़की यहां के एक स्कूल में पढऩे के लिए गई थी।

- मगर जब एक दिन पिता उसे लेने के लिए गया तो आरोपी कमला ने उसके साथ मारपीट की और लड़की का स्कूल जाना छुड़वा दिया।

- उन्होंने बताया कि शहीदी दिवस पर स्कूल की छुट्टी होने के चलते टीम स्कूल से जानकारी नहीं जुटा सकी।

नशे की हालत में दिखा लड़की का पिता

- बाल कल्याणा समिति सदस्य किरण मलिक ने बताया कि आरोपियों के घर से टीम के जांच कर लौटने के कुछ समय बाद ही उनके पास फोन आया कि लड़की का पिता कालोनी में आया हुआ है।

- चौकी पुलिस प्रभारी अत्तर सिंह को भेजा तो वह नहीं मिला। बताया गया कि पिता नशे में था इसलिए उसे किसी ने नहीं राेका।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top