edvertise

edvertise
barmer



अन्तर मंत्रालयिक केन्द्रीय अध्ययन दल नें

अभावग्रस्त एंव सूखाग्रस्ति क्षेत्र का लिया जाएजा

जनप्रतिनिधियों एवं ग्रामीणों से ली सूखे की जानकारी

जैसलमेंर, 17 फरवरी। अतंर मंत्रालयिक केन्द्रीय अध्ध्ययन दल के निदेषक पुनीत कुमार मित्तल, सहायक आयुक्त सुजीत नायक, डी.जी.एम. अनिल ढिल्लन, सहायक निदेषक राकेष कुमार ने ष्षुक्रवार को जिलेें के अभावग्रस्त एंव सूखाप्रभावित क्षेत्र के गंावोें का भ्रमण कर अभाव की स्थिति का जायजा लिया एंव जनप्रतिनिधियों व ग्रामीणों से रूबरू होकर उनसे अकाल की स्थिति के बारे मंे विस्तार से जानकारी ली एवं उनसे राहत प्रबंधन के लिए क्या गतिविधियां की जानी चाहिए उसके बारे में भी पूरा फीडबैक लिया।

केन्द्रीय अध्ययन दल नें ग्राम पंचायत दामोदरा, रूपसी पंचायत के ग्राम लोद्रवा तथा लाठी पंचायत के गावं भादरिया का भ्रमण कर सुूखे की स्थिति की विस्तार से समीक्षा की एंव जानकारी ली। इस दौरान जिला कलक्टर मतादीनष्षर्मा, जैसलमेंर विधायक छोटू सिंह भाटी, पोकरण विधायक शैतान सिंह राठौड, अतिरिक्त जिला कलक्टर के.एल.स्वामी साथ में थे। दामोदरा एवं लोद्रवा में जैसलमेंर विधायक भाटी ने बताया की यहां के लोगो की मुख्य आजीविका का साधन पषुधन है एवं इस बार अकाल पडनें से यहां के पषुपालकों की स्थिति अच्छी नही है।

उन्होनें केन्द्रीय अध्ययन दल के निदेषक एवं अन्य सदस्यों को बताया कि इस अभाव की स्थिति मे पषुधन संरक्षण के लिए जितना जल्दी हो सके केन्द्र सरकार के माध्यम से पषु षिविर एवं गौषालाओं के साथ ही चारा डिपो खोलनें की व्यवस्था करावे वही लोगो को पीने के पानी के लिए पेयजन परिवहन की सुविधा भी उपलब्ध करावे।

केन्द्रीय अध्ययन दल नें दामोदरा में अटल संेवा केन्द्र में ग्रामीणो की बैठक लेकर उनसे अभाव की स्थिति की जानकारी ली। अध्ययन दल को सरपंच श्रीमति संगीता, कनोई सरपंच चुतर्भुज पालीवाल, खाबा के सज्जन सिंह, डेढा के सरपंच करमाली खंा के साथ ही अन्य ग्रामीणो ने बताया कि अकाल की स्थिति होने के कारण वें अपने पषुधन को बचाने में असमर्थ है इसलिए केन्द्र सरकार से ष्षीघ्र ही स्वीकृति प्रदान करावे। दल को लोद्रवा में सरपंच रूप सिंह, आम सिंह भाटी के साथ छत्रेल के मेघे खां, लोद्रवा के अर्जुन सिंह, पदम सिंह, बाबू सिंह, मताराराम ने भी पषुधन को बचाने के लिए पषु षिविर खोलनें की मांग की।

अध्ययन दल के निदेषक मित्तल ने बताया कि जिले की अभाव की स्थिति की रिेपोर्ट केन्द्र सरकार को प्रस्तुत करेंगें। अध्ययन दल नें लोद्रवा के पास का खेत-खलिहान का भी अवलोकन किया जहां पर अभाव कि स्थिति मंे किसी प्रकार की फसल नही हुई थी।

केन्द्रीय अध्ययन दल नें भादरिया गौषाला का भी अवलोकन किया एवं वहां श्री जगदम्बा सेवा समिति द्वारा पषुओं के संरक्षण के लिए की जा रही व्यवस्थाएं देखी। उन्होनंे भादरिया के सभा भवन में ग्रामीणों के साथ बैठक की इस दौरान पोकरण विधायक षैतान सिंह राठौड भी उपस्थित थे। पोकरण विधायक राठौड ने भी कहा कि पोकरण क्षेत्र में भी अकाल की स्थिति गंभीर है एंव ऐसे में लोगो के पषुधन को बचाना एवं उन्हे समय पर पीने का पानी उपलब्ध कराना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता रहेगी इसलिए उन्होनें अध्ययन दल से कहा कि वें केन्द्र सरकार के माध्यम से अतिषीघ्र पषुषिविर खोलने की स्वीकृति प्रदान करावें ताकि यहंा के पषुधन को बचाया जा सके।

इस दौरान श्री जगदम्बा सेवा समिति के व्यवस्थापक जुगल किषोर आसेरा नें गौषाला में किये जा रहे पषुधन संरक्षण की जानकारी दी एवं कहा कि गौषाला को केन्द्र सरकार से अनुदान सहायता राषि प्रदान करावें ताकि वे इन हजारो असहाय एंव आवारा पषुओं के लिए चारे पानी की पुख्ता व्यवस्था कर सके। यहां पर सत्यनारायण पालीवाल, केसर सिंह, चुतर सिंह ने भी अकाल की अपने मुंह से बयां कर अध्ययन दल को अवगत कराया।

इस दौरान लोद्रवा एवं दामोदरा में तहसीलदार जैसलमेंर वीरेन्द्र सिंह भाटी, विकास अधिकारी सुखराम विष्नोई, विकास अधिकारी धनदान देथा तथा संबधित पंचायत के सरपंच एंव भादरिया में उपखंड अधिकारी पोकरण मूल सिंह राजावात, तहसीलदार नारायण गिरी, विकास अधिकारी टीकमाराम चैधरी उपस्थित थे। अध्ययन दल का ग्रामीणों ने हार्दिक स्वागत किया। लोद्रवा जैन मंदिर में जैन ट्रस्ट के सहमंत्री नेमीचंद जैन एवं मुख्य व्यवस्थापक चेतन बंब ने भी हार्दिक स्वागत किया।

------------------------

भूतपूर्व सैनिकों, विधवाओं एवं आश्रितों के कल्याण

के लिए षिविर आगामी 2 मार्च को पोकरण में

जैसलमेर, 17 फरवरी। जिला सैनिक कल्याण अधिकारी जैसलमेर का भूतपूर्व सैनिकों, विधवाओं एवं आश्रितों के कल्याणार्थ एक दिवसीय षिविर आगामी 2 मार्च को प्रातः 11 बजे पोकरण स्थित सैनिक विश्राम गृह में आयोजन किया जाएगा।

जिला सैनिक कल्याण अधिकारी जैसलमेर कर्नल भोजराजसिंह राठौड ने बताया कि वे स्वंय एवं अन्य सैन्य अधिकारीगण के साथ ही पूर्व सैनिकों, विधवाओं, और आश्रितों की समस्याओं का समाधान के लिए सैनिक विश्राम गृह पोकरण में आवष्यक योजनाओं तथा आधार कार्ड व जीवन प्रमाण पत्र सहित और अन्य लाभकारी जानकारी के लिए इस षिविर में यथासमय उपस्थित रहेंगें।

गौरतलब है कि इस संदर्भ में सभी पूर्व सैनिकों, विधवाओं तथा आश्रितों का आवष्यक दस्तावेजों में पूर्व सैनिक पहचान-पत्र, डिस्चार्ज बुक व पीपीओं, राषनकार्ड, बैंक डायरी व अन्य जरूरी दस्तावेज के साथ ही भारत निर्वाचन आयोग का पहचाना-पत्र अवष्य ही अपन साथ लेकर षिविर में उपस्थित होना सुनिष्चित कर इस षिविर में सैन्य दल व अधिकारी और गणमान्य बुजुर्ग विषेष तौर पर मौजूद होंगें।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top