edvertise

edvertise
barmer





बाड़मेर  माँ -बाप और चाचा अपनी ही बेटी से करीब पाच वर्ष तक वेश्यावृति करते रहे 

कहते है बाबुल के घर में बेटी सबसे ज्यादा सुरक्षित रहती है, जब वही रक्षक भक्षक (बाबुल) बन जाये तो बेटी फिर कई सुरक्षित नहीं हो सकती ऐसा ही एक मामला माँ-बाप के रिश्ते को शर्मसार करने वाला सामने आया है सीमावर्ती बाड़मेर जिले के धोरीमन्ना थाने में तीन माह पूर्व दर्ज हुआ था जहा माँ -बाप और चाचा अपनी ही बेटी से करीब पाच वर्ष तक वेश्यावृति करवाते थे और उसके एवज में पैसे लेते थे और जब इस दरमियान नाबालिग को पांच बार गर्भवती भी हुई लेकिन माँ बाप ने अलग-अलग हॉस्पिटल में ले जाकर बेटी का गर्भपात भी करवा दिया . बार-बार गर्भपात करवाने से उसकी बच्चेदानी बाहर आ गई और करीब एक वर्ष पहले जब उसकी शादी हुई सभोग के दोरान पति को बच्चे दानी के बारे में पता चला तब उसने पुछा तो उसने अपनी आपबीती बताई तब उसके पति ने उसके साथ देते हुए धोरीमन्ना थाने में मुकदमा दर्ज करवाया .




यह है पूरा मामला

एक बेटी ने अपने ही माता-पिता सहित चाचा पर यौन शोषण करवाने का मुकदमा दर्ज करवाया है। आरोप है कि शादी से पहले लगातार पांच साल तक उसके मां- बाप और चाचा उसको जबरदस्ती वेश्यावृति करवाते थे। इससे उसकी बच्चादानी बाहर आ चुकी है। जिंदगी व मौत के बीच जूझ रही विवाहिता ने जब शादी के बाद पति को आपबीती बताई और धोरीमन्ना थाने में मां, बाप, चाचा सहित यौन शोषण करने वाले 6-7 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है। मामले की जांच गुड़ामालानी डीएसपी कर रहे है। एफ आई आर के मुताबिक एक विवाहिता ने मामला दर्ज करवाया है कि उसकी शादी एक साल पहले खारा महेचान हुई थी। उसके मां, बाप और चाचा वर्ष 2010 से 2015 तक लगातार उसका यौन शोषण करवाते थे। इस बीच कई बार उसका गर्भपात करवाया गया। इससे उसको बच्चेदानी की परेशानी हो गई।




शादी के बाद पति को बताई आपबीती
पीडिता ने शादी के बाद सभोग के दोरान पति को आपबीती बताई। इस पर धोरीमन्ना थाना पुलिस जोगाराम, शंकराराम, विरधाराम, रेखाराम, करनाराम, राणाराम, गुमनाराम, आसूराम सहित 20-25 लोगों के खिलाफ यौन शोषण का मामला दर्ज करवाया है। मां-बाप उसे जबरदस्ती यौन शोषण करने के लिए मजबूर करते थे। वेश्यावृति के धंधे में लिप्त कर दिया। इसके लिए उसके साथ मारपीट की जाती थी, उसे कई दिनों तक भूखा-प्यासा भी रखा गया। गर्भपात करवाने से उसकी अब हालत खराब है। जिंदगी व मौत के बीच जूझ रही विवाहिता का इलाज चल रहा है।




पीडिता ने लगाईं न्याय की गुहार
पीडिता नेआप बीती  बताते हुए कहा की मामला दर्ज हुए करीब तीन माह हो गए लेकिन अभी तक न तो पुलिस ने न किसी को गिरफ्तार किया और न ही किसी प्रकार कार्यवाही की और मै आपके जरिये पुलिस प्रशासन और सरकार से माग करती हू की अपराधियों को गिरफ्तार किया जाए और और मुझे न्याय दिलवाया जाए




पुलिस अधीक्षक को दिया था ज्ञापन

पीडिता के मुताबिक बाड़मेर एसपी से मुलाकात कर पूरे मामले की जानकारी देने के बाद धोरीमन्ना पुलिस थाने में मामला दर्ज किया है, जांच गुड़ामालानी डीएसपी कर रहे हैं। विवाहिता का मेडिकल करवाया गया, और पीडिता के कोर्ट में 164 के बयान भी दर्ज हो गए




यह कहना है पुलिस अधीक्षक का ..

पहले महिला ने पुलिस जाच में मदद नहीं की थी और महिला जाँच में मदद करेगी तो पुलिस जल्द कार्यवाही करेगी

डॉ गगनदीप सिंगला पुलिस अधीक्षक, बाड़मेर

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top