BNT

BNT



बाड़मेर, ग्रामीण विकास मंे पारदर्शिता एवं सबकी सहभागिता जरूरीःगोयल

- ग्रामीण विकास योजनाआंे से अधिकाधिक लोगांे को लाभांवित करने के निर्देश


बाड़मेर, 8 जुलाई। ग्रामीण विकास योजनाआंे से अधिकाधिक लोगांे को लाभांवित करें। व्यक्तिगत कार्याें को प्राथमिकता से स्वीकृत किया जाए। प्रगतिरत विभिन्न परियोजनाआंे को समय पर पूर्ण करने के लिए प्रभावी कार्य योजना बनाई जाए। ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज तथा जिले के प्रभारी मंत्री सुरेन्द्र गोयल ने शुक्रवार को जिला मुख्यालय पर कलेक्ट्रेट कांफ्रेस हाल मंे विकास योजनाआंे की समीक्षा बैठक के दौरान यह बात कही।

प्रभारी मंत्री गोयल ने कहा कि जन प्रतिनिधि एवं अधिकारी आपसी समन्वय तथा पारदर्शिता से विकास कार्याें का क्रियान्वयन करवाएं। फ्लैगशीप योजनाआंे मंे व्यक्तिगत रूचि लेने के साथ स्वच्छ भारत मिशन के तहत बाड़मेर जिले को मार्च 2018 तक ओडीएफ घोषित करवाना है। उन्हांेने कहा कि विकास के लिए राज्य सरकार के पास धन की कोई कमी नहीं है। उन्हांेने जन प्रतिनिधियांे से विकास योजनाआंे के प्रभावी क्रियान्वयन एवं पानी की एक-एक बूंद को बचाने के लिए वृहद स्तर पर भागीदारी निभाने का आहवान किया। उन्हांेने अधिकारियांे को जन प्रतिनिधियांे की ओर से दिए गए सुझावांे पर अमल करने के निर्देश दिए। उन्हांेने इस दौरान प्रगतिरत पेयजल प्रोजेक्टांे को समय पर पूरा कराने के लिए कमेटी गठित कर जिला कलक्टर को प्रत्येक 15 दिन मंे समीक्षा बैठक लेने के निर्देश दिए। उन्हांेने कहा कि महात्मा गांधी नरेगा योजनान्तर्गत प्रत्येक ग्राम पंचायत मंे एक वर्ष मंे 1 करोड़ 91 लाख के करवाए जा सकते है। इसके लिए 10 लाख रूपए का अन्य मद मंे कन्र्वेजेन्स करवाना होगा। समीक्षा बैठक के दौरान ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री सुरेन्द्र गोयल ने विभागीय योजनाआंे की समीक्षा करते हुए महात्मा गांधी नरेगा योजनान्तर्गत एवं मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत बाड़मेर जिले मंे हुए उल्लेखनीय कार्याें के लिए जिला प्रशासन की टीम को बधाई दी। प्रभारी मंत्री गोयल ने विकास अधिकारियांे को स्वच्छ भारत मिशन के तहत प्रत्येक घर मंे शौचालय निर्माण करवाने के कार्य को गंभीरता से लेने के निर्देश दिए। उन्हांेने बारिश के मौसम के मददेनजर चिकित्सा विभाग के अधिकारियांे को मौसमी बीमारियांे की रोकथाम के लिए पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश दिए।

इस दौरान राजस्व राज्य मंत्री अमराराम चौधरी ने कहा कि प्रदेश मंे आमजन को राहत दिलाने एवं लंबित प्रकरणांे का निस्तारण करने के लिए न्याय आपके द्वार अभियान चलाया गया। इसके उत्साहजनक परिणाम सामने आए है। उन्हांेने न्याय आपके द्वार अभियान के तहत वाद रहित घोषित की गई प्रत्येक ग्राम पंचायत को 10-10 लाख रूपए विधायक कोष से देने की घोषणा की। उन्हांेने कहा कि अन्य विधायकगण भी इस तरह की पहल करें, ताकि दूसरी ग्राम पंचायतें भी वाद रहित होने के लिए प्रोत्साहित हो सके। इस दौरान संसदीय सचिव लादूराम विश्नोई एवं चैहटन विधायक तरूण राय कागा ने मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के द्वितीय चरण मंे जन प्रतिनिधियांे के सुझावांे पर अमल करने एवं जनोपयोगी कार्याें को शामिल करने करने की जरूरत जताई। संसदीय सचिव लादूराम विश्नोई ने पीपी मोड पर चल रहे गुड़ामालानी के चिकित्सालय मंे अस्वस्थाएं होने एवं डूंगरपूर तथा बांसवाड़ा मंे कार्यरत बाड़मेर जिले के चिकित्साकर्मियांे के तबादला करने का भी मामला उठाया। समीक्षा बैठक के दौरान बाड़मेर विधायक मेवाराम जैन, सिवाना विधायक हमीरसिंह भायल, जिला प्रमुख श्रीमती प्रियंका मेघवाल, जिला कलक्टर सुधीर शर्मा, पुलिस अधीक्षक गगनदीप सिगला, अतिरिक्त जिला कार्यक्रम समन्वयक सुरेश कुमार दाधीच समेत जन प्रतिनिधि एवं विभिन्न विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। इस दौरान जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम.एल.नेहरा ने ग्रामीण विकास योजनाआंे की प्रगति की विस्तार से जानकारी दी। उन्हांेने बताया कि मुख्य मंत्री जल स्वावलंबन अभियान के तहत प्रगतिरत कार्याें को 20 जुलाई तक पूर्ण कर लिया जाएगा। अधीक्षण अभियंता जलग्रहण हीरालाल अहीर ने मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन अभियान के द्वितीय चरण के बारे मंे विस्तार से जानकारी दी। उन्हांेने बताया कि बाड़मेर जिले मंे जलग्रहण अभियान के तहत 75 परियोजनाआंे के लिए 675 करोड़ की राशि स्वीकृत हुई थी। इसमंे अब तक प्राप्त 233 करोड़ मंे से 218 करोड़ रूपए व्यय किए जा चुके है। इस दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा.एस.के.एस.बिष्ठ ने भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के बारे मंे विस्तार से जानकारी दी। उन्हांेने बताया कि प्रत्येक पंचायत समिति मंे एक-एक आदर्श पीएचसी का चयन किया गया है। जहां पर समस्त सुविधाएं मुहैया कराई जाएगी। समीक्षा बैठक के दौरान बाड़मेर विधायक मेवाराम जैन ने शहर एवं आसपास के इलाकांे मंे नहरी पानी की आपूर्ति नहीं होने से पेयजल संकट उत्पन्न होने एवं पाइप लाइन बिछाने के लिए ग्राम पंचायतांे को अनापति प्रमाण पत्र जारी करने की बात कही। सिवाना विधायक हमीरसिंह भायल ने कहा कि वास्तविक लोगांे को सरकारी योजनाआंे का फायदा मिले। इसके लिए प्रयास किए जाए। उन्हांेने बीपीएल सूची की समीक्षा करवाने की जरूरत जताई। सिवाना प्रधान गरिमा राजपुरोहित ने पास मशीन से रसद सामग्री देने की प्रक्रिया के बारे मंे अधिकाधिक प्रचार-प्रसार करवाने की बात रखी। जिला रसद अधिकारी राकेश शर्मा ने पास मशीन से रसद सामग्री वितरण एवं अन्नपूर्णा भंडार की प्रगति रिपोर्ट से अवगत कराया। समीक्षा बैठक के दौरान महात्मा गांधी नरेगा योजनान्तर्गत 100 दिवस का रोजगार प्राप्त कर चुके परिवारांे को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए प्रोजेक्ट लाइफ के तहत किए जा रहे प्रयासांे पर आधारित डाक्यूमेट्री नई रोशनी दिखाई गई। ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री गोयल ने बाड़मेर जिले मंे किए गए जा रहे इस तरह के प्रयासांे की सराहना की।

राज्य सरकार के स्तर से होगा जनता जल योजना का भुगतान

बाड़मेर, 8 जुलाई। प्रदेश मंे ग्राम पंचायत स्तर पर पेयजल उपलब्ध कराने के लिए संचालित की जा रही जनता जल योजनाआंे के विद्युत बिल संबंधित भुगतान राज्य सरकार के स्तर से होगा। इसके लिए मुख्यमंत्री को प्रस्ताव भेजा गया है। ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री सुरेन्द्र गोयल ने बाड़मेर प्रवास के दौरान यह बात कही।

ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री गोयल ने बताया कि जनता जल योजनाआंे के तहत संचालित हो रही पेयजल परियोजनाआंे के रख रखाव के लिए प्रति नियुक्ति से कार्मिक लिए जाने पर भी विचार किया जा रहा है। उन्हांेने बताया कि मुख्यमंत्री स्वच्छता अभियान के तहत ओडीएफ घोषित होने वाली ग्राम पंचायतांे मंे प्रत्येक 150 परिवारांे पर दो सफाईकर्मी उपलब्ध कराने का प्रावधान किया गया है। इसी तरह नाली निर्माण एवं अन्य कार्यांे के लिए प्रोत्साहन स्वरूप 150 परिवारांे के लिए 7, 300 परिवारांे के लिए 12, 500 के लिए 15 एवं 700 परिवारांे के लिए 20 लाख रूपए का अतिरिक्त बजट भी उपलब्ध कराने का प्रावधान किया गया है। उन्हांेने ग्राम पंचायतांे मंे अधिकाधिक कार्याें को करवाने के लिए महात्मा गांधी नरेगा योजनान्तर्गत कन्वर्जेन्स करवाने की जरूरत जताई। उन्हांेने बताया कि नव सृजित ग्राम पंचायतों मंे महात्मा गांधी नरेगा योजनान्तर्गत ग्राम पंचायतांे के भवन निर्माण करवाने के निर्देश दिए गए है। इसके अलावा जिन ग्राम पंचायतांे मंे विद्यालयांे के भवन खाली है,उनको भी प्राथमिकता से ग्राम पंचायत भवन के लिए आवंटित करने को कहा गया है।

बाड़मेर डायरी सराहनीय पहल
बाड़मेर, 8 जुलाई। ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री सुरेन्द्र गोयल ने बाड़मेर जिले मंे ग्रामीण विकास योजनाआंे,महत्वपूर्ण दूरभाष एवं सूचना संकलन के लिए बनाई गई बाड़मेर डायरी के प्रकाशन की सराहना की।

सर्किट हाउस मंे आईईसी मैनेजर मदन बारूपाल ने ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री सुरेन्द्र गोयल को बाड़मेर डायरी भेंट की। प्रभारी मंत्री गोयल ने बाड़मेर डायरी का विस्तार से अवलोकन करने के उपरांत कहा कि यह जन प्रतिनिधियांे, अधिकारियांे एवं आमजन के लिए खासी मददगार साबित होगी। उन्हांेने ऐसे प्रकाशन की सराहना करते हुए राज्य स्तर से ऐसा प्रयास करवाने का भरोसा दिलाया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Note: Only a member of this blog may post a comment.

 
Top