बाड़मेर फकीरा खेता एण्ड पार्टी केन्या से बाड़मेर लौटा
08.03.2018

नोरेबी कैन्या से 15 दिवसीय यात्रा कर फकीरा खेता एण्ड ग्रुप बाड़मेर पहुंचा। अन्तर्राष्ट्रीय कथा वाचक मुरार बापू के साथ फकीरा खान खेता खान एण्ड ग्रुप एवं बसरा खान लोक संगीत संस्थान बाड़मेर के लोक कलाकारों ने नोरेबी में आयोजित रामचरित्र मानुस मैं 9 दिवसीय कथा वाचक मुरारी बापू के कथा में पुरे भारत के 200 कलाकारों ने अपनी प्रस्तुति दी। जिसमें भजन वाणी, दौहा, लोक संगीत, फिल्मी संगीत, गुजराती लोक संगीत भवाई नृत्य, कथक नृत्य, गजल गायक पारस्परिक लोक एवं साहित्यकारों ने अपनी 9 दिन तक प्रस्तुती दी और फकीरा खेता एवं उनके साथी कलाकारों ने 2 मार्च को अपनी लोक कला का प्रदर्षन कर सभी हिन्दुस्तानियों एवं केनिया की जनता को डान्स करने पर मजबूर कर दिया जिसमें होली के गीत फागुन भजन दोहे और सुफीयाना कलाम व गजलों सुनाई जिसमें बापु मुरारी ने कहा कि आज मौज, आनंद आगया वाह आपकी वैष-भूषा और लोक वाद्य है और क्या सुर लय, ताल है आदमी मौज मस्ती में झूमने लगता है और अगली कथा में फकीरा खेता एण्ड ग्रुप बिषाला बाड़मेर को बुलाने का न्यौता दिया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top