फसल खराबे के कृषि आदन-अनुदान की राषि का

भुगतान तत्काल करावें-जिला कलक्टर

बकाया एवं चालू राजस्व वसूली कराने के दिए निर्देष


जैसलमेर, 23 फरवरी। जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना ने राजस्व एवं उप निवेषन अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे फसल खराबे के कृषि आदान-अनुदान राषि का तत्काल भुगतान कराने की कार्यवाही करें। उन्होंनंे कहा कि इस कार्य में देरी को किसी भी सूरत में बर्दास्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने राजस्व नक्षों के डिजिटाईजेषन का कार्य भी तहसीलदारों को शीघ्र करवाकर आॅनलाईन कराने के सख्त निर्देष दिए। उन्होंने बैठक में बकाया एवं चालू राषि वसूली भी कम होने को गंभीरता से लिया एवं निर्देष दिए कि वे लक्ष्य के अनुरूप राजस्व वसूली करवाना सुनिष्चित करावें। उन्होंने कहा कि जो पटवारी सही ढंग से कार्य नहीं करते है उनके खिलाफ कार्यवाही अमल में लावंे।

राजस्व रिकाॅर्ड में भूमि का अंकन करें

जिला कलक्टर मीना ने कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित राजस्व एवं उप निवेषन अधिकारियों की बैठक में यह निर्देष दिए। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर के.एल.स्वामी, उपखण्ड अधिकारी जैसलमेर हंसमुख कुमार, पोकरण रैणु सैनी, उपायुक्त उपनिवेषन जैसलमेर मोहनदान रतनू, नाचना नरेन्द्र कुमार चैधरी के साथ ही राजस्व एवं उप निवेषन तहसीलदार उपस्थित थें। जिला कलक्टर ने राजस्व अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे ओरण, चारागाह एवं वन विभाग की जो भूमि घोषित है एवं अभी तक राजस्व रिकाॅर्ड में दर्ज नहीं हुई है उनको राजस्व रिकाॅर्ड में दर्ज करावें एवं साथ ही उसकी अनुपालना रिपोर्ट भेजें एवं संबंधित विभाग को भी प्रतिलिपि उपलब्ध करावें।

उन्होंने राजस्व अधिकारियों को निर्देष दिए कि सरकारी भूमि पर जहां नाजायज काष्त की गई है उसके नष्टीकरण व नीलामी की कार्यवाही गंभीरता से करावें। उन्होंने राजस्व अधिकारियों को ये भी निर्देष दिए कि वे अपने क्षेत्र में हर घटना के प्रति पूर्ण रूप से चैकस रहें।

किसी भी सूरत में नहीं हो राजकीय भूमि पर अतिक्रमण

उन्होंनें धारा 91 के बकाया प्रकरणों के संबंध में गंभीरता के साथ कार्यवाही करने के निर्देष दिए एवं यह भी हिदायत दी कि वे पटवारियों को पाबंद कर दें कि राजस्व भूमि पर किसी भी सूरत में अतिक्रमण नहीं हो।

राजस्व न्यायालयों में दर्ज प्रकरणांे का समय पर करें निस्तारण

उन्होंनें सम्पर्क पोर्टल पर दर्ज प्रकरणों का समय पर निस्तारण करने, डिजिटल इण्डिया के तहत राजस्व भूमियों के डिजिटेषन के कार्य को समय पर आॅनलाईन कराने के निर्देष दिए। उन्होंनें तहसीलदारों को निर्देष दिए कि वे डिजिटल प्रमाण पत्र को समय पर जारी करावें एवं यह सुनिष्चित करें कि कम से कम डिजिटल प्रमाण पत्र बकाया रहें। उन्होंनें उपखण्ड एवं तहसीलदारों को राजस्व न्यायालयों में दर्ज प्रकरणों का समय पर निस्तारण करने के निर्देष दिए। उन्होंनें बकाया म्यूटेषन को भी समय पर दर्ज कराने के निर्देष दिए।

उन्होंनंे यह भी निर्देष दिए कि वे किसानों को पासबुक के महत्व के बारे में अवगत कराते हुए अधिक से अधिक किसानों को पासबुक जारी करने की कार्यवाही करें। उन्होंनंे मुख्यमंत्री कार्यालय, लोकायुक्त कार्यालय, राज्य महिला आयोग के साथ ही अन्य आयोगों से प्राप्त प्रकरणों का भी समय पर निस्तारण करने पर जोर दिया।

दी जानकारी

बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर स्वामी ने बैठक में एजेण्डेवार बिन्दुओं को रखा एवं राजस्व अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे डिजिटाईजेषन के मामले में गंभीरता से कार्य करें। बैठक में तहसीलदार जैसलमेर वीरेन्द्रसिंह, पोकरण हनुमानाराम चैधरी, फतेहगढ मुकेष मीणा, भणियाणा गुलाबसिंह ने राजस्व के प्रकरणों के मामलें में प्रगति से अवगत कराया।

-----000-----

राजस्थान स्थापना दिवस समारोह-2018

जिला मुख्यालय पर विषाल ‘ रन फोर राजस्थान मैराथन मषाल दौड ‘ का आयोजन

अतिथियों ने मषाल प्रज्जवलित कर एवं दौड को हरी झण्डी दिखाकर किया रवाना


जैसलमेर, 23 मार्च। राजस्थान स्थापना दिवस समरोह- 2018 के कार्यक्रमों की कडी में जैसलमेर जिला मुख्यालय पर इन्दिरा इन्डोर स्टेडियम से ‘‘ रन फोर राजस्थान मैराथन मषाल दौड ‘‘ आयोजित हुई। जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना, पुलिस अधीक्षक गौरव यादव, जिला प्रमुख श्रीमती अंजना मेघवाल, नगरपरिषद सभापति श्रीमती कविता खत्री ने मषाल को प्रज्जवलित कर इस मैराथन मषाल दौड को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलक्टर के.एल.स्वामी, उप अधीक्षक मांगीलाल राठौड, आयुक्त नगरपरिषद झब्बरसिंह चैहान, सहायक पर्यटन अधिकारी खेमेन्द्रसिंह जाम, खेल अधिकारी लक्ष्मणसिंह तंवर, बाल कल्याण समिति के सदस्य मांगीलाल, समाजसेवी कंवराजसिंह चैहान के साथ ही जिलाधिकारी एवं संभागी उपस्थित थें।

स्टेडियम से इस मषाल को लेकर जिला कलक्टर मीना, पुलिस अधीक्षक यादव, जिला प्रमुख श्रीमती मेघवाल, नगरपरिषद सभापति श्रीमती खत्री, समाजसेवी कंवराजसिंह चैहान के साथ ही के साथ ही जिला बास्केट बाॅल अकादमी जैसलमेर के खिलाडी, पुलिसकर्मी, सीमा सुरक्षा बल 56, 68, 119, आर्टी रेजीमेन्ट के अधिकारी एवं जवान, खेल संघों व क्रीडा परिषद के प्रतिनिधि, व अन्य संभागी दौडते हुए उत्साह के साथ रवाना हुए। पुलिस अधीक्षक गौरव यादव ने इण्डोर स्टेडियम से जोधपुर चुंगीनाका रोड तक लगभग 8 किलोमीटर आयोजित इस मषाल दौड में दौड लगाते हुए संभागियों का उत्साहवद्र्वन किया।

जिला कलक्टर ने राजस्थान स्थापना दिवस पर सभी को बधाई दी एवं कहा कि इस दौड का मुख्य उद्देष्य राजस्थान के विकास में सभी को एकता दिखानी है एवं प्रदेष को अग्रणीय प्रदेषों की पंक्ति में लाना है। जिला प्रमुख अंजना मेघवाल ने कहा कि राजस्थान स्थापना दिवस के उपलक्ष में आयोजित दौड से प्रेम एवं भाईचारे की भावना जाग्रत होती है। नगरपरिषद सभापति श्रीमती कविता खत्री ने स्थापना दिवस की बधाई दी एवं कहा कि सभी लोग मिलकर प्रदेष के विकास में अपनी अहम भूमिका अदा करें। जिला पुलिस अधीक्षक ने भी कहा कि सभी लोग प्रतिदिन इस प्रकार से दौड लगाते रहें ताकि वे सदैव स्वस्थ रहें। प्रदेष की एकता एवं अंखडता के लिए सभी को मिलजुल कर काम करना है।

यह मषाल दौड स्टेडियम से होती हुई होटल रंगमहल, गोरबन्ध पैलेस पंहुची जहां पर होटल के पदाधिकारियों ने मषाल को अपने हाथों में ली एवं दौडते हुए सीमा सुरक्षा बल की 56 बटालियन तक पंहुचें जहां पर सीमा सुरक्षा बल के अधिकारियों ने मषाल को लेकर दौडते हुए पुलिस लाईन तक पंहुचें। पुलिस लाईन पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जयनारायण के साथ ही पुलिस कर्मियों ने मषाल को प्राप्त किया दौडते हुए विजय स्तम्भ चैराहें पर पंहुचें जहां पर मूमल टूरिस्ट बंगलों के पदाधिकारियों एवं सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियों ने मषाल को प्राप्त कर कलेक्टर कार्यालय पंहुचें जहां पर अतिरिक्त जिला कलक्टर स्वामी, उपखंड अधिकारी हंसमुख कुमार, तहसीलदार वीरेन्द्रसिंह भाटी ने मषाल अपने हाथों में ली एवं अमर शहीद सागरमल गोपा राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय व हनुमान चैराहा पंहुचें।

हनुमान चैराहा पर मषाल को मीडिया प्रतिनिधियों के साथ ही पूर्व नगरपरिषद अध्यक्ष अषोक तंवर, समाजसेवी कंवराजसिंह चैहान ने प्राप्त किया एवं दौडते हुए गांधी चैक पंहुचें। यहां से संभागी जिन्दानी चैक, मुख्य बाजार होते हुए गोपा चैक पंहुचें जहां पर पूर्व मरूश्री ने विजय बल्लाणी के साथ ही आयुक्त नगरपरिषद चैहान एवं अन्य जनप्रतिनिधियों ने मषाल को प्राप्त किया एवं सालमसिंह हवेली तक पहुंचंे वहां पर पर्यटन विभाग के कार्मिको ने मषाल को प्राप्त किया ।

वहां से संभागी मषाल को लेकर आसनी रोड पर पहुंचे जहां पर जिला फोटोग्राफी संघ के अध्यक्ष आर.के.व्यास ने मषाल को प्राप्त किया एवं दौडते हुए सत्यदेव व्यास सर्किल तक पंहुचें जहां पर जिला बाॅस्केट बाॅल संघ के अध्यक्ष आषाराम सिंधी ने मषाल को प्राप्त किया एवं दौडते हुए गडीसर चैराहे तक पहुंचें। यह मषाल दौड बाडमेर चैराहें से रेलवे स्टेषन, सीमा सुरक्षा बल मुख्यालय से होती हुई जोधपुर चुंगीनाका तक पंहुची।

मषाल दौड के धावक पूरे मार्ग में ‘‘ जय-जय राजस्थान एवं भारत माता की जय ‘‘ का उदघोष करते हुए आमजन को संदेष दिया कि वे राजस्थान एवं देष के विकास में अपनी अहम भूमिका अदा करें।

खेल अधिकारी लक्ष्मणसिंह तंवर के निर्देषन में आयोजित हुई इस दौड में शारीरिक षिक्षकों, अकादमी के खिलाडियों एवं प्रषिक्षक राकेष विष्नोई का सराहनीय सहयोग रहा। स्टेडियम में खेल अधिकारी तंवर ने सभी अतिथियों का हार्दिक स्वागत किया।

-----000----

सभी विद्यालयों मंे गुणवता पूर्वक मिले विद्यार्थियों को पोषाहार - जिला कलक्टर

ब्लाॅक षिक्षा अधिकारियों को विद्यालयों में खेल मैदान के प्रस्ताव भिजवाने के दिए निर्देष
जैसलमेर, 23 मार्च। जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना ने ब्लाॅक षिक्षा अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे सभी विद्यालयांे में पर्याप्त मात्रा में पोषाहार की व्यवस्था सुनिष्चित करें तथा यह ध्यान में रखें कि उसकी गुणवता बनी रहें। उन्होंने यह भी निर्देष दिए कि वे भ्रमण के दौरान बच्चों के साथ मिड-डे-मिल पोषाहार को खाएं। उन्होंने यह भी हिदायत दी कि पोषाहार की उपलब्धता नहीं होने के संबंध में किसी भी प्रकार का समाचार प्रकाषित होता हो तो तत्काल ही जांच कर आवष्यक कार्यवाही करें।

जिला कलक्टर मीना ने कलेक्ट्रेट सभागार में आयाेिजत राष्ट्रीय पोषाहार कार्यक्रम की जिल स्तरीय समीक्षा बैठक में यह निर्देष दिए। बैठक में अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी रामेष्वरलाल मीणा, जिला षिक्षा अधिकारी प्रारम्भिक रामधन जाट, समिति सदस्य श्रीमति गवरो देवी के साथ ही ब्लाॅक षिक्षा अधिकारी उपस्थित थें। जिला कलक्टर ने कहा कि पोषाहार के दौरान अब विद्यार्थियों को 3 दिवस दूध भी प्रदान किया जाएगा, इसके लिए अभी से ही ब्लाॅक षिक्षा अधिकारी पूरी कार्य योजना बना दें।

उन्होंने ब्लाॅक षिक्षा अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे प्रत्येक विद्यालय में खेल मैदान के लिए प्रस्ताव तैयार कर पेष करें। वहीं जिन विद्यालयो मे पानी की सुविधा के लिए टांका, शौचालय या अन्य सुविधा की जरूरत हो उसकी भी विद्यालयवार सूची बनाकर पेष करें ताकि इस संबंध में भी आवष्यक कार्यवाही की जा सकें। उन्हांेने संकल्प से षिक्षा कार्यक्रम के तहत ब्लाॅक षिक्षा अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे शहरी क्षेत्र में कच्ची बस्तीयों में ऐसे बच्चे जो विद्यालय से ड्राॅप आउट है या स्कूल नहीं जा रहें है ऐसे बच्चों का सर्वे कर चिन्ह्किरण करके उनको विद्यालय में प्रवेष दिलाने की कार्यवाही करें।

उन्होंने कुक कम हेल्पर का भुगतान आॅनलाईन समय पर कराने के निर्देष दिए वहीं विकास अधिकारी सांकडा नारायणलाल सुथार को निर्देष दिए कि वे जिन विद्यालयांे में रसोई घर नहीं है उनमें रसोई घर का निर्माण करवा दें। इस संबंध में विकास अधिकारी ने बताया कि समिति क्षेत्र में 23 विद्यालय ऐसे है जहां पर रसोईघर नहीं है उनके निर्माण कार्य प्रगति पर है। जिला कलक्टर ने ब्लाॅक षिक्षा अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे विद्यालयांे की षिक्षा के स्तर के संबंध में भी विषेष रूप से ध्यान रखें।

जिला षिक्षा अधिकारी प्रारम्भिक जाट ने बैठक में बताया कि सभी विद्यालयांे में पोषाहार की उपलब्धता है। इसके साथ ही उन्होंने एजेण्डेवार बिन्दुओं को बैठक में रखा।

----000----



0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top