बाड़मेर सौर उर्जा लाइट वितरित कर रोशन किये आशियाने
बाड़मेर जिले के वे ग्रामीण इलाके जहाँ आज भी बिजली का अभाव है और लोग अँधेरे में जीवन यापन करने को मजबूर है वहां पर ग्रामीण विकास एवं चेतना संस्थान, बाड़मेर व चिराग संस्थान ने नि:शुल्क सौर उर्जा लाइट वितरित कर ग्रामीणों के अँधेरे जीवन में रोशनी भरने का कार्य किया | संस्थान सचिव विक्रम सिंह ने बताया की संस्थान बिजली से वंचित परिवारों का सर्वे कर उन्हें लाइट प्रदान करने का कार्य कई वर्षों से कर रहा है, जिसके तहत संस्थान ने इस बार बूठ, बावड़ी, देदुसर, मते का तला, मिठाड़ाऊ, नवातला, इसरोल, रानीगांव, तारातरा, सनावड़ा, बाछाडाऊआदि गांवों में सौर उर्जा लाइट वितरण का कार्य किया |

ग्रामीणों को प्रदान की जाती है निशुल्क लाइट – वह प्रत्येक परिवार जिनके पास बिजली कनेक्शन नहीं है उन्हें संस्थान द्वारा बहुउपयोगी सौर उर्जा लाइट सेट प्रदन किया जाता है जिसमें बड़ी व छोटी दो सौर उर्जा से चार्ज होने वाली लाइट, दो सौर उर्जा पेनल व मोबाइल चार्जर प्रदान किये जाते है | यह लाइट रेगिस्तानी इलाके के लिए काफी उपयोगी होती है जिसे आसानी से कहीं भी लाया ले जाया जा सकता है | यह लाइट कई साल तक ख़राब नहीं होती है और सूर्य की मद्धम रौशनी में भी चार्ज हो जाती है |

संस्थान अध्यक्ष रुमा देवी ने बताया की ग्रामीण इलाकों में जहाँ बिजली की सुविधा उपलब्ध नहीं है वहां पर ग्रामीणों को रात्रि को आवश्यक कार्य करने और बच्चों को पढने में बहूत दिक्कत आती है और चिमनी के प्रयोग से आग लगने का खतरा रहता है | संस्थान द्वारा प्रदान की जा रही इस लाइट से जिले के हजारों परिवार रोशन हुए है | बड़ी लाइट से कशीदाकारी कार्य करने वाली महिलाऐं रात में कार्य कर अपनी आजीविका को बढ़ा सकती है और छोटी लाइट से पढाई करने वाले विद्यार्थी रात को बिना किसी परेशानी के पढाई कर सकते है |लाइट वितरण कार्यक्रम में संस्थान के कार्यकर्ता, गणेश कुमार बोसिया, गौरव चौधरी, देराराम, अजय चौधरी, धन सिंह भाटी, मोहनलाल, गीता चौधरी आदि का सक्रिय योगदान रहा | इस अवसर पर कई ग्रामीण महिला व पुरुष उपस्थित रहे जिन्हें संस्थान द्वारा सौर उर्जा लाइट प्रदान की गई |

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top