बाड़मेर  मरुधरा के किसान नेता विरमाराम बेनीवाल की वीरम गाथा का विमोचन आज 
-भगवान महावीर टाउन हाल में सुबह 10 बजे होगा विमोचन 
- जिले भर के गणमान्य नागरिक करेंगे शिरकत 


किसान नेता और अपनी जिंदगी में ज़मीन से जुड़े आंदोलनों में सक्रिय भूमिका निभाने वाले स्वर्गीय चौधरी वीरमाराम के जीवन पर आधारित पुस्तक का विमोचन रविवार को होगा। पुस्तक के लेखक सोनाराम बेनीवाल ने बताया कि जालीपा के पूर्व सरपंच और सार्वजनिक निर्माण विभाग के मिस्री स्वर्गीय विरमाराम चौधरी की जीवनी पर आधारित पुस्तक वीरम गाथा का विमोचन कार्यक्रम 18 मार्च रविवार सुबह 10 बजे स्थानीय महावीर टाउन हॉल बाड़मेर में रखा गया है । वीरमाराम चैरिटेबल सोसाइटी, वीरम नगर जालीपा की तरफ से आयोजित इस पुस्तक विमोचन समारोह में जिले के कई गणमान्य नागरिक एवम किसानों के हितों से जुड़े लोग भाग लेंगे। विमोचन समारोह में विभिन्न वक्ता किसान नेता स्वर्गीय विरमाराम चौधरी से जुड़े अपने संस्मरण साझा करने के साथ उनकी जीवनी पर व्याख्यान भी देंगे।गौरतलब है कि किसान नेता और युग पुरुष स्वर्गीय विरमाराम की अमिट छवि पश्चिमी राजस्थान के जर्रे ज़र्रे में है। 25 वे अकाल के दौरान उनके कार्यो को आज भी बाड़मेर - जैसलमेर के बड़े बुजुर्ग याद करते है। किसानों के हितों की बात को हर वक़्त अपनी पहली प्राथमिकता रखने वाले स्वर्गीय विरमाराम का भूमि आवप्ति आंदोलन के दौरान किया गया संघर्ष बरसो तक लोगो को याद रहेगा। महज 10 हजार रुपये बीघा पर किसानों की जमीन आवाप्त करने का सबसे पहला विरोध स्वर्गीय विरमाराम बेनीवाल ने ही किया था। किसानों के हितों में माननीय उच्च न्यायालय में जनहित याचिका के जरिये इन्होंने जनता की मांग पर सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया था। इनका संघर्ष 10 नवम्बर 2009 की रोज एक सड़क दुर्घटना की वजह से थम गया लेकिन आज भी विरमाराम चौधरी लाखो लोगो के दिलो में अहम स्थान रखते है। स्वर्गीय विरमाराम बेनीवाल की जीवनी को किताब के रूप में सभी के सामने रखने वाली वीरम गाथा का विमोचन रविवार की रोज एक समारोह के साथ किया जाएगा।वीरमाराम चैरिटेबल सोसाइटी, वीरम नगर जालीपा ने पुस्तक विमोचन में अधिक से अधिक संख्या में आने की अपील की है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top