एक अप्रेल से शुरू होगी समर्थन मूल्य पर गेंहू की खरीद
रजिस्ट्रेशन शुरू, 1735 रूपए प्रति क्विंटल की दर पर होगी खरीद


अजमेर, 05 मार्च।  आगामी रबी विपणन वर्ष 2018-19 सत्र में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेंहू खरीद का कार्य एक अप्रेल 2018 से शुरू किया जाएगा। भारतीय खाद्य निगम, अजमेर के अधीनस्थ बिजयनगर खरीद केन्द्र में पूर्व वर्षाें की भांति इस वर्ष भी गेंहू खरीद का कार्य भारत सरकार द्वारा निर्धारित मापदण्डों के आधार पर मंडी प्रांगण में किस्म निरीक्षक द्वारा किया जाएगा। खरीद का मूल्य 1735 रूपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है।

     जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल ने बताया कि किसानों को उनकी फसल के मूल्य का भुगतान प्रभारी द्वारा आरटीजीएस के माध्यम से किया जाएगा। मंडी में खाद्यान्न की लोडिंग एवं अनलोडिंग (हैंडिलिंग कार्य) तथा परिवहन कार्य हेतु हैंडिलिंग एवं परिवहन एजेंट की नियुक्ति की प्रक्रिया ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से की जा रही है। रबी विपणन वर्ष 2018-19 में गेंहू की एमएसपी रूपए 1735/- प्रति क्विंटल निर्धारित की गयी है । मंडी में खरीद कार्य हेतु पर्याप्त बारदाने की व्यवस्था की जा चुकी है।

किसानों को करवाना होगा रजिस्ट्रेशन

     जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल ने बताया कि किसानों को ई मित्र द्वारा अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा । रजिस्ट्रेशन एक मार्च 2018 से शुरू कर दिया गया है। किसानों को इस विषय में आवश्यक जानकारी देने के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार हेतु भी पर्याप्त व्यवस्था की जा रही है।

खरीद के लिए विभिन्न दस्तावेजों की आवश्यकता

     उन्होंने बताया कि खरीद हेतु किसानों को विभिन्न दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। किसान गिरदावरी की मूल प्रति, फोटो पहचान पत्र या फोटो युक्त अन्य दस्तावेज यथा राशन कार्ड, जॉब कार्ड वाहन ड्राइविंग लाइसेंस, किसान क्रडिट कार्ड, पासपोर्ट, आधार कार्ड आदि मे से एक दस्तावेज, बैंक पासबुक या कैंसिल चैक की प्रति भुगतान हेतु प्रस्तुत कर सकते हैं।



विभागीय योजनाओं के क्रियान्वयन में गंभीरता बरतें  अधिकारी

साप्ताहिक समीक्षा बैठक में विभिन्न मुद्दाें पर चर्चा

रसद, स्थानीय निकाय, पुलिस एवं चिकित्सा विभाग को अलर्ट रहने के निर्देश
अजमेर, 5 मार्च। जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल के निर्देश पर आयोजित साप्ताहिक समीक्षा बैठक में आज विभिन्न विभागों की योजनाओं की क्रियान्वयन की समीक्षा की गई। अधिकारियों को राज्य सरकार की फ्लेगशिप योजनाओं के क्रियान्वयन में गंभीरता बरतने के निर्देश दिए गए ।  ब्यावर दुखांतिका के दृष्टिगत प्रशासन, रसद विभाग, ऑयल कम्पनियां, पुलिस, स्थानीय निकाय विभाग, चिकित्सा एवं अन्य विभागों को हमेशा अलर्ट पर रहने के लिए कहा गया।
     अतिरिक्त जिला कलक्टर प्रथम श्री कैलाशचन्द शर्मा, अतिरिक्त जिला कलक्टर द्वितीय श्री अबू सूफियान चौहान सहित अन्य अधिकारियों ने फ्लेगशिप योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि  विभाग नियमित समय पर निरीक्षण एवं नियमों की पालना सुनिश्चित करें ताकि ब्यावर दुखान्तिका जैसे हादसों की आशंका को टाला जा सके। अधिकारी पूरी गम्भीरता के साथ अपने कर्तव्य का निर्वहन करें।
     बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि वे एलपीजी सिलेंडर डीलर्स, गोदाम, गैस वितरण कैम्प, समारोह स्थल, अवैध रूप से होने वाली गैस रीफिलिंग, वाहनों में अवैध रूप से लगाए जाने वाले गैस किट आदि पर रोकथाम के लिए नियमित रूप से निरीक्षण करें। इसी तरह गोदाम, एलपीजी वितरकों के पास नियमों की पूरी पालना सुनिश्चित हो। उनके पास सभी सुरक्षा उपकरण उपलब्ध होने चाहिए। परिवहन विभाग पुलिस के साथ मिलकर अवैध गैस किट से संचालित वाहनों के खिलाफ कार्यवाही करें।
     स्थानीय निकाय विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि नगर निगम, नगर परिषद एवं नगर पालिका क्षेत्रों में समारोह स्थल, धर्मशाला एव ंसामुदायिक भवन जो विवाह एवं अन्य समारोह के लिए काम आते हों, उनकी सघन जांच की जाए। उनके लाइसेंस, रजिस्ट्रेशन एवं अन्य मापदण्डों की पालना सुनिश्चित की जाए। विभाग कार्यवाही के साथ-साथ समझाईश एवं प्रचार -प्रसार भी करें ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग जागरूक हो सके।
     चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को स्वाइन फ्लू, डेंगू, मलेरिया एवं अन्य मौसमी बीमारियों की रोकथाम के लिए भी प्रभावी कार्यवाही के निर्देश दिए गए। उनसे कहा गया कि चिकित्सा विभाग लगातार सर्वे आदि की कार्यवाही करे। साथ ही जहां आवश्यक हो वहां फोगिंग एवं अन्य उपाय भी किए जाए।
     बैठक में मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान, स्वच्छ भारत मिशन, अन्नपूर्णा योजना, बिजली, पानी, सड़क एवं अन्य मुद्दो पर भी कामकाज की समीक्षा की गई। बैठक में उप निदेशक स्थानीय निकाय विभाग श्री किशोर कुमार, जिला परिषद के एसीईओ श्री भगवत सिंह राठौड़, नगर निगम उपायुक्त ज्योति ककवानी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

राष्ट्रीय पोषण मिशन
जिला स्तरीय राष्ट्रीय पोषण मेला आयोजित
 अजमेर, 05 मार्च।  प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा राष्ट्रीय पोषण मिशन के  शुभारम्भ की पूर्व तैयारियों के रूप में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के संयुक्त तत्वावधान में सोमवार को वैशाली नगर स्थित अरबन हाट में जिला स्तरीय राष्ट्रीय पोषण मेला आयोजित किया गया। मेले का शुभारम्भ पुलिस महानिरीक्षक श्रीमती मालिनी अग्रवाल ने किया।

     श्रीमती अग्रवाल ने कहा कि राष्ट्रीय पोषण मिशन के अन्तर्गत बच्चों और महिलाओं को स्वस्थ रखने के लिए कार्य किया जाएगा। पर्याप्त पोषण मिलने से बच्चे स्वस्थ तथा सामान्य होंगे। इन बच्चों में रोग प्रतिरोधक क्षमता अधिक होने से बीमारी से दूर रहेंगे। स्वस्थ परिवार देश निर्माण में अपेक्षाकृत अधिक योगदान प्रदान करता है। वर्तमान समय में जागरूकता बढ़ी है। इस कारण बेटी के जन्म पर भी खुशियां मनाने की परम्परा विकसित हुई है।

     उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा आरम्भ किए जा रहे इस मिशन का उद्देश्य प्रत्येक व्यक्ति को स्वस्थ बनाना है। परिवार में गर्भवती एवं धात्री महिलाओं के पौष्टिक आहार का पूर्ण ध्यान रखा जाना आवश्यक है। इससे नवजात शिशु कुपोषण से दूर रहेंगे।

     शुभारम्भ समारोह में जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल ने कहा कि राष्ट्रीय पोषण मिशन एक निश्चित समयावधि में देश को कुपोषण मुक्त करने के लिए चलाया जा रहा है। भारत युवाओं का देश है। व्यक्ति, परिवार एवं समाज के स्वस्थ होने से भारत शीघ्र ही विश्व शक्ति बन जाएगा। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित आंगनबाड़ी कार्मिकों का आह्वान किया कि आपका योगदान महत्वपूर्ण है। इसी से जिला कुपोषण रहित होकर एक उपलब्धि कायम करेगा। अपनेे कार्यक्षेत्र के बच्चों  को अपने बच्चे की तरह मानकर कार्य करें। समाज तथा देश की सेवा करेन के लिए हम सभी को अपना कर्तव्य ईमानदारी से निर्वहन करना चाहिए। सभी के सम्मिलित प्रयासों से भारत की पूरी पीढ़ी स्वस्थ होगी।

     उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय पोषण मिशन से जन्म के समय बच्चों में कम वजन संबंधी समस्याओं का प्रत्येक वित्तीय वर्ष में 2 प्रतिशत की कमी आएगी। देश में इस वित्तीय वर्ष के दौरान 315 इसके पश्चात 235 तथा अन्त में समस्त जिलों में लागू किया जाएगा।

     मेले में बाल विकास परियोजना अधिकारी, महिला पर्यवेक्षक, आंगनबाड़ी कर्मियों द्वारा पोषक आहार के संबंध में प्रदर्शनी लगायी गयी। कृषि विज्ञान केन्द्र तबीजी, खुशी संस्थान तथा ग्रामीण एवं सामजिक विकास संस्थान ने भी पोषक पदार्थों का प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शनी में कम कीमत में स्वादिष्ट एवं पौष्टिक आहार तैयार करने की विधि तथा लाभ भी बताए गए। तैयार व्यंजनों का अवलोकन किया गया। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जांच एवं उपचार शिविर लगाया गया।

     मेले में 6 माह के 14 बच्चों का अन्नप्राशन संस्कार किया गया। इसके साथ ही 23 गर्भवती महिलाओं की गोदभराई रस्म आयोजित की गई। यह कार्यक्रम परम्परागत रीति रिवाज के साथ आयोजित किए गए। मेले में धनलक्ष्मी योजना के लाभार्थियों के चैक वितरित किए गए।

     मेले में विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताएं आयोजित की गई। स्वच्छता एवं पर्यावरण विषय पर आयोजित चित्रकला प्रतियोगिता में भावना साहू ने प्रथम, रश्मि ने द्वितीय तथा नेहा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। इसी प्रकार पेाषण रेसिपी प्रतियोगिता में माया महावर को प्रथम, कान्ता चौहान को द्वितीय तथा विजया बंसीवाल को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ। विजेताओं को पुरस्कार वितरित किए गए।

     इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास विभाग की उपनिदेशक श्रीमती अनुपमा टेलर, आरसीएचओ डॉ. रामलाल चौधरी, बाल विकास परियोजना अधिकारी श्री नितेश यादव सहित बड़ी संख्या में महिलाएं उपस्थित थी।



पारा में रात्रि चौपाल 9 मार्च को
 अजमेर, 05 मार्च।  जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल द्वारा केकड़ी पंचायत समिति की पारा ग्राम पंचायत में  शुक्रवार 9 मार्च को रात्रि चौपाल आयोजित की जाएगी। यह जानकारी जिला परिषद के मुख्यकार्यकारी अधिकारी श्री अरूण गर्ग ने दी।



बोर्ड परीक्षाओं के लिए माइक्रो आब्जर्वर नियुक्त
 अजमेर, 05 मार्च।  जिले में आयोजित हो रही माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाओं के लिए माइक्रो आब्जर्वर नियुक्त किए गए हैं।

     जिला मजिस्ट्रेट श्री गौरव गोयल ने बताया कि जिले में 8 मार्च से 2 अप्रेल के मध्य आयोजित होने वाली बोर्ड परीक्षाओं के लिए विशेष चिन्हित संवेदनशील, अतिसंवेदनशील एवं निजी विद्यालय परीक्षा केन्द्रों पर माइक्रो आब्जर्वर नियुक्त किए गए है। मिशन माध्मकि विद्यालय नसीराबाद, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बघेरा एवं रामसर के संवदेनशील तथा राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय दुर्गावास के अतिसंवदेनशील होने पर माइक्रो आब्जर्वर लगाए गए हैं। इसी प्रकार अजमेर के आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय पड़ाव, गुजराती, डीएवी, रामेश्वरम विद्यापीठ, सेंट फ्रासिंस, मथुरा प्रसाद गुलाब देवी बालिका, आर्यपुत्री बालिका, सरस्वती बालिका तथा मिशन बालिका, किशनगढ़ की श्री सागर जैन धानमण्डी, गंगा विद्या मन्दिर, सेंट स्टीफन मदनगंज, आदर्श विद्या मन्दिर चैनपुरिया तथा अग्रवाल बालिका, ब्यावर की मौहम्मद अली, सनातन धर्म शाहपुरा, गोदावरी आर्य बालिका तथा मिशन बालिका एवं केकड़ी की पटेल आदर्श वीर निकेतन विद्यालय में भी माइक्रो आब्जर्वर नियुक्त किए गए है। इसके साथ ही आरक्षित माइक्रो आब्जर्वर भी नियुक्त किए गए है।



सेवानिवृत होने वाले कार्मिकों को देने होंगे परिपक्वता प्रपत्र
 अजमेर, 05 मार्च।  वित्तीय वर्ष 2018-19 में सेवानिवृत होने वाले राज्य कर्मचारियों को परिपक्वता स्वत्व प्रपत्र देने होंगे।

     राज्य बीमा एवं प्रावधायी निधि विभाग के संयुक्त निदेशक ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2018-19 में सेवानिवृत होने वाले कर्मचरियों की राज्य बीमा पॉलिसी एक अप्रेल को परिपक्व होगी। इन्हें अपना परिपक्वता स्वत्व प्रपत्र विभाग की वैबसाइट पर ऑनलाइन भरना होगा इस प्रपत्र की हार्डकॉपी एवं स्व प्रमाणित बैंक पासबुक की प्रति जिला कार्यालय में तत्काल जमा करानी होगी। साथ ही इनकी बीमा कटौतिया बंद करवानी होगी। इन कर्मचारियों को बीमा पॉलिसी के परिपक्व दावों का भुगतान संबंधी प्रपत्र एक अप्रेल को जारी किए जाएंगे।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top