जैसलमेर 

जैसलमेर निदेशालय स्तरीय दो दिवसीय संबलन अभियान सम्पन्न*- 


2015 से कक्षा एक से पांच तक के बच्चों के लिए राज्य सरकार की गुणवत्ता शिक्षण हेतु एक पहल के रुप में "स्टेट इनिशिएटिव फॉर क्वालिटी एज्यूकेसन कार्यक्रम" ( एसआईक्यूई) संचालित है जिसमें माध्यमिक शिक्षा निदेशालय बीकानेर, प्रारम्भिक /माध्यमिक शिक्षा परिषद् राजस्थान, एसआईआरटी उदयपुर,बोध शिक्षा समिति जयपुर ओर यूनिसेफ मिलकर साझा प्रयासों के तहत संयुक्त काम कर रहे हैं। राज्य के सभी जिलों में पिछले तीन वर्षों से इस कार्यक्रम पर विभाग का पूरा ध्यान केंद्रन है। उद्देश्य यह है कि शिक्षा की नींव मजबूत हो सके, इसके अंतर्गत समय- समय पर साझा टीम द्वारा अधिकारी /प्रतिनिधि जिलों के विद्यालयो में आते हैं ओर संबलन देते रहते हैं। इसी क्रम में जैसलमेर जिले में दिनांक 6 से 7 फरवरी तक कुल दो दिवसीय द्वितीय संबलन अभियान निदेशालय माध्यमिक शिक्षा बीकानेर के प्रतिनिधित्व से क्रियान्वित किया गया जिसमें सहायक निदेशक ओर संपादक शिविरा मुकेश व्यास तथा जिले के एसआईक्यूई, जिला समर्थन अध्येता,ओम प्रकाश सरगरा, ने प्रथम दिन सम ब्लॉक के राउमावि भू, राउमावि नरसिंहो की ढाणी, चेलक तथा राउमावि देवङा को सघन रुप संबलन प्रदान किया। इसमें देवङा ओर भू विद्यालयो में श्रेष्ठ कार्य होता हुआ पाया गया। बाकी दो विद्यालयो को आवश्यक सुझाव देकर एक सप्ताह में स्थितियो में परिवर्तन करके अनुपालना रिपोर्ट देने हेतु निर्देशित किया। इसी दिन सांय 4:30 बजे से डाईट जैसलमेर में "डीसीसी ओर डीएजी" बैठक की गई जिसमें जिले के शिक्षा अधिकारियों, मुख्य संदर्भ व्यक्तियो , ब्लाक रिसोर्स विद्यालयो के प्रधानाचार्यो ओर डाईट संकाय के सदस्यों ने भाग लिया। बैठक में सहायक निदेशक व्यास द्वारा जिले में संयुक्त प्रयासो से समन्वयन करते हुये बेहतरीन प्रदर्शन करने करने के लिए निर्देश दिये। उन्होंने जिले के 29 विद्यालयों में स्कूल सर्टिफिकेसन ओर फिडबैक कार्य में रेकिंग वृद्धि पर गम्भीरता से काम करने के लिए आग्रह किया । उक्त सम्बलन अभियान के द्वितीय दिन पोकरण ब्लॉक के ब्लॉक रिसोर्स विद्यालय लंवा, राउमावि रामदेवरा, राउमावि खेतोलाई, राउमावि चाचा का सघन अवलोकन किया गया। चाचा, खेतोलाई, रामदेवरा ओर लंवा में बच्चों का शैक्षिक स्तर उत्तम पाया गया है। इन विद्यालयो में शिक्षक पूरी मुस्तैदी से काम कर रहे हैं। राउमावि लंवा में सभा सत्र, कक्षा कक्षों में चल रहे "विशेष समर्थन कार्यक्रम", बेहतरीन प्रिंट रिच, श्रेष्ठ दस्तावेजीकरण संधारण, पोर्टफोलियो संधारण, आदि कार्यों में शिक्षको के समर्पित प्रयासो की प्रशंसा की। सहायक निदेशक ने कक्षा कक्षों में बच्चों का स्तर जांचा ओर बालकेंद्रित गतिविधियों का डेमोस्ट्रेसन करके भी बताया। प्रधानाचार्या , वरिष्ठ शिक्षक मेहराज सिंह, हेड शिक्षक और प्रारम्भिक कक्षाओं के शिक्षकों की बैठक ली ओर अनुभव सुने। दो दिवसीय निरीक्षण /अवलोकन में दो ब्लॉक के 8,विद्यालय देखे गये जिनमें समेकित रुप से विद्यालयो के संस्था प्रधानो से साप्ताहिक अवलोकन, दस्तावेजों का सत्यापन, स्व - आंकलन, मासिक समीक्षा बैठक ओर समुदाय संपर्क आदि कामों में ओर अधिक प्रयास करने अपेक्षा की गई । जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक मनाराम मीणा, कार्यवाहक एडीपीसी दलपत सिंह, एडीपीसी एसएसए कान सिंह, प्रधानाचार्या डाईट लक्ष्मी देवी,वरिष्ठ व्याख्याता बराईदीन, एसआईक्यूई कार्यक्रम अधिकारी उम्मेदाराम, डीएसएफ ओम प्रकाश सरगरा सभी को जिले में राज्य सरकार के इस महत्वपूर्ण कार्य में शत प्रतिशत योगदान देकर बेहतर परिणाम देकर जैसलमेर जिले को अव्वल करने हेतु संकल्पित किया।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top