खरतरगच्छाधिपति आचार्य श्री जिन मणिप्रभसूरिश्वर जी म.सा. का धवल सेना के साथ बाड़मेर नगर प्रवेश 9 फरवरी शुक्रवार को
बाड़मेर: खरतरगच्छाचार्य आचार्य जिन श्री कान्तिसागर सूरिश्वर म.सा. के प्रधान शिष्य वर्तमान खरतरगच्छाधिपति आचार्य श्री जिन मणिप्रभसूरिश्वर म.सा. का आचार्य पदारोहण के पश्चात् प्रथम बार खरतरगच्छ के प्रमुख गढ़ थार नगरी बाड़मेर शहर में भव्य मंगल प्रवेश उपाध्याय प्रवर मनोज्ञसागर म.सा. आदि ठाणा व परम पूज्य साध्वीवर्या विधुतप्रभाश्रीजी आदि ठाणा,साध्वीवर्या कल्पलताश्री म.सा. आदि ठाणा के साथ भव्य नगर प्रवेश शुक्रवार को प्रातः 9 बजे चैहटन चौराहा से भव्य सोमैया के साथ होगा। खरतरगच्छ चार्तुमास कमेटी के रतनलाल संखलेचा ने बताया कि बाड़मेर के इतिहास में एक ही गुरू के दोनों शिष्यों का एक साथ प्रवेश कई वर्षों बाद हो रहा है। आचार्य श्री बीकानेर से विहार कर फलोदी, बालोतरा, सिणधरी, नाकोड़ाजी ,माण्डवला ,चितलवाना ,सांचैर ,रामजी का गोल ,गुड़ामालानी ,धोरीमन्ना ,चैहटन ,कुशल वाटिका होते हुए बाड़मेर नगर में लगभग 4 साल बाद पदापर्ण हो रहा है। उपाध्याय प्रवर जैसलमेर से उग्रविहार करके देवीकोट, फतेहगढ़, शिव ,भाडखा होते हुए पधार रहे है।साध्वीवर्या श्री कल्पलताश्रीजी जैसलमेर से देवीकोट फतेहगढ़, शिव ,भाडखा होते हुए पधार रहे है।

1. भव्य रूप से होगा ऐतिहासिक प्रवेशः- चातुर्मास कमेटी के सदस्य खेतमल तातेड़ ने बताया कि आचार्य पदारोहण के बाद पहली बार देश के प्रमुख खरतरगच्छ की राजधानी मरूधरा की तपती भूमि बाड़मेर में पहली बार आगमन एवं पर्दापण होने से सम्र्पूण जैन समाज में हर्ष एवं खुशी की लहर है। सम्र्पूण जैन समाज प्रवेश की तैयारियों में जोरो शोर से लगा हुआ है।

2. ये होंगे शोभायात्रा के मुख्य आर्कषण- चार्तुमास कमेटी के सदस्य केवलचन्द छाजेड़ ने बताया कि आचार्यश्री एवं उपाध्याय प्रवर के प्रवेश का स्वागत सोमेया शोभायात्रा में ऊंट,घोड़ा,सुप्रसिद्ध बैण्ड,ढोल केशरियां साफा एवं गले में दुपटे् पहने पुरूष,सर पर कलश लिए रंगीन परिधानो में महिलाए,विविध प्रकार की झांकिया,सनावडा की सुप्रसिद्ध गैर नृत्य,बालिका मण्डल,युवा मण्डल,नन्हे मुन्नो द्वारा हाथो में जैन ध्वज प्रवेश शोभायात्रा के आकर्षण का केन्द्र होगे।

3. विविध मार्गो से गुजरेगी शोभायात्रा- चार्तुमास कमेटी के सदस्य ओमप्रकाश भन्साली एवं पवन छाजेड़ ने बताया कि आचार्यश्री की प्रवेश शोभायात्रा चैहटन चैराहा से आरम्भ होकर चैहटन रोड़,रेल्वे फाटक,महाबार रोड़,करमुजीकी गली, दरियागंज,जैन न्याति नोहरे,साधना भवन,पीपली चैक,लक्ष्मी बाजार,जवाहर चैक,छोटी ढाणी,नेमीचन्द्र गोलेच्छा की गली,कल्याणपुरा होती हुई महावीर चैक स्थित चिन्तामणी पाश्र्वनाथ एवं दादा गुरूदेव के दर्शन वन्दन कर वहां स्थित विशाल पडाल में धर्मसभा में परिर्वतित हो जायेगी। जहां बाहर से पधारे हुए मेहमानो का स्वागत और आचार्यश्री का अभिनन्दन के बाद मांगलिक प्रवचन होगा।

4. इन्द्र नगरी की तरह सजेगे मार्ग- चार्तुमास समिति के सदस्य रमेश धारीवाल एवं मदन धारीवाल ने बताया कि कुशल वाटिका से महावीर चैक के मार्ग में आचार्यश्री के स्वागत में प्रवेश द्वार,तोरणद्वार,होडिग्स,बैनर जैन धर्म की ध्वज पताका, जगह- जगह रंग बिरंगी रंगोली से सजाने की तैयारियां जोरो पर चल रही है।

5. देश भर से आ रहे है गुरूदेव के भक्त- चार्तुमास कमेटी के सदस्य सम्पतराज बोथरा एवं प्रकाश बरडिया ने बताया कि आचार्यश्री के मंगल प्रवेश के पावन प्रंसग पर देशभर के कौने-कौने से गुरूभक्त एवं प्रवासी बाड़मेर के जैन बन्धु पधार रहे है एवं कई संघ एवं संघो के अध्यक्षो के साथ साथ जनप्रतिनिधी सहित देशभर कई हस्तियां पहुंचने के समाचार है।

6. प्रवेश के रूट की ट्रैफिक यातायात व्यवस्था- चार्तुुमास कमेटी के सदस्य पारसमल भन्साली ने बताया कि शौभायात्रा के प्रवेश पर यातायाज की विशेष व्यवस्था पुलिस प्रशासन,नगर परिषद् एवं स्थानीय मण्डलो के सहयोग से शानदार की जायेगी।

7. इस प्रवेश को ऐतिहासिक एवं भव्य बनाने के लिए बाड़मेर जैन श्री संघ की सभी संस्थाएं,खरतरगच्छ संघ,चार्तुमास कमेटी,युवा परिषद्,महिला परिषद्,विहार ग्रुप,बालक-बालिका मण्डलो द्वारा प्रवेश की जौरो से तैयारियां की जा रही है। सभी से निवेदन है कि पुरूष सफेद वस्त्र पहनकर एवं महिलाएं राजस्थानी चुन्दीया कैसरियां साडी पहनकर शोभायात्रा में पधारे।







0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top