edvertise

edvertise
barmer

जेडीए अध्यक्ष ने किया शहर का तूफानी दौरा


कई अभियन्ताओं को कारण बताओ नोटिस जारी करने के दिए आदेश

जोधपुर। जोधपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष प्रो. राठौड़ ने पीडब्ल्यूडी चौराहे से रेल्वे स्टेडियम रोड, रेल्वे स्टेडियम रोड से डीआरएम ऑफिस रोड, डीआरएम ऑफिस रोड से शास्त्रीनगर होते हुए पाल रोड डीपीएस सर्कल, डीपीएस सर्कल से बोरानाड़ा रोड, बोरानाड़ा रोड से सांगरिया पुलिया, सांगरिया पुलिया से शताब्दी सर्कल व पाली रोड़, पाली रोड़ से रिक्तियां भैरूजी ओवरब्रिज, रिक्तियां भैरूजी ओवरब्रिज से भाटी चौराह सर्किट हाउस होते हुए सारण नगर आरओबी, सारण नगर आरओबी से आरटीओ ऑफिस तक का तूफानी दौरा जोधपुर विकास आयुक्त दुर्गेश कुमार बिस्सा, निदेशक अभियांत्रिकी डीके मीणा, सुखराम चौधरी व उनकी टीम के साथ किया।
पीडब्ल्यूडी चौराहे से रेल्वे स्टेडियम व डीआरएम ऑफिस के सामने स्थित सडक़ों को बार-बार मरम्मत करने पर भी टूटने से नाराजगी जताते हुए अध्यक्ष ने सवाल किया कि यह रोड किसने बनाई है? उस संवेदक के प्रति दायित्व का निर्धारण करते हुए शीघ्र ही सडक़ को मोटरेबल करते हुए तत्काल जनता को राहत प्रदान कराई जाएं। प्रो. राठौड़ ने कहा कि सडक़ ही विकास का दर्पण है। प्रो. राठौड़ ने उक्त सडक़ का स्थायी समाधान करने के संबंध में जानकारी लेते हुए कहा कि आईन्दा शहर की सडक़ों की मरम्मत व स्थायी समाधान मानसून आने से पूर्व ही किया जाएं। जनता के दर्द का हवाला देते हुए प्रो. राठौड़ ने कहा कि पानी की निकासी, ड्रेनेज की व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं।
डीपीएस चौराहे पहुंचने पर प्रो. राठौड़ आमजन से रूबरू होते हुए उनकी तकलीफों को ध्यान से सुना। प्रो. राठौड़ ने सडक़ों के हालात तुरन्त ठीक करने के निर्देश प्रदान करते हुए धीमी गति व गुणवत्ता से कार्य न करने वाले अभियन्ताओं को कारण बताओं नोटिस जारी करने के निर्देश प्रदान किए गए। प्रो. राठौड़ ने सारण नगर आरओबी को गति प्रदान करते हुए दोनों तरफ की सर्विस रोडों को तुरन्त सीसी सडक़ बनाने के निर्देश प्रदान करते हुए आरटीओ आरओबी की ड्राईंग तैयार कर निविदा आमंत्रित करने, रेल्वे क्रासिंग के पास वैकल्पिक मार्ग को तुरन्त दुरूस्त कराने के दिए निर्देश। अध्यक्ष के कठोर रूख को देखते हुए आज प्राधिकरण के अभियन्ताओं ने विभिन्न स्थानों पर चल रहे सडक़ मरम्मत कार्यों को गति प्रदान करते हुए अपने कार्यों से संबंधित फोटो प्राधिकरण के वाट्स ऐप ग्रुप में भेजते हुए अपनी-अपनी क्षमताओं का परिचय दिया। प्रो. राठौड़ ने अभियन्ताओं को स्पष्ट निर्देश प्रदान किए कि तीन दिवस के भीतर-भीतर शहर के हालात बदलने चाहिए। तीन दिवस बाद अध्यक्ष अथवा आयुक्त द्वारा दौरा किए जाने के उपरान्त शहर की तमाम मुख्य सडक़ें मोटरेबल नहीं पाई गई तो अभियन्ताओं के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएंगी। प्रो. राठौड़ ने स्पष्ट रूप से कहा कि जनता के दर्द से समझौता नहीं किया जाएगा।
उच्चाधिकारियों से की वार्ता
प्राधिकरण अध्यक्ष प्रो. राठौड़ द्वारा दौरे के दौरान पीडब्ल्यूडी, एनएच, नगरनिगम, विद्युत विभाग, सहित विभिन्न विभागों के उच्च अधिकारियों के साथ उनके कार्य क्षेत्र में यातायात में आ रही बाधाओं के बारे में अवगत कराते हुए कहा कि प्राधिकरण युद्धस्तर पर अपने कार्य करने को कृत संकल्प हो चुका है। जिसका रिजल्ट आगामी तीन माह में जोधपुर शहर में दिखायी पड़ेगा। प्रो. राठौड़ ने विभिन्न एजेंसियों को अपने-अपने कार्यक्षेत्र के कार्य प्राधिकरण से समन्वय करते हुए पुन:गठित कर राजधर्म निभाते हुए आमजन को राहत प्रदान करने में भागीदारी निभाने के लिए आमंत्रित किया।

जेडीए ने हटाया अतिक्रमण, यातायात हुआ सुगम
जोधपुर विकास प्राधिकरण दस्ते द्वारा मंगलवार को उच्च न्यायालय के आदेशों की अनुपालना में अणदाराम स्कूल से डालीबाई मन्दिर चौराहे तक अतिक्रमण हटाए गए। अतिक्रमियों द्वारा कई टीनशेड लगाकर कच्ची व पक्की दुकानें, केबीन, कच्चे पक्के मकान, साईन बोर्ड, छपरे, दुकानों के बाहर चबूतरियां इत्यादि लगाकर अतिक्रमण किया गया था जिसे प्राधिकरण के अतिक्रमण निरोधक दस्ते द्वारा ध्वस्त कर हटाया गया। अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही सुबह 11 बजे से शुरू की गई जो शाम 7 बजे तक चली। मौके पर अतिक्रर्मियों द्वारा अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही का विरोध भी किया गया जिसे उच्च अधिकारियों द्वारा समझाइश कर शांत किया गया। अतिक्रमण हटाते समय अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एवं मुख्य नियंत्रक रघुनाथ गर्ग, प्रवर्तन अधिकारी प्रवीण गहलोत, प्रवर्तन निरीक्षक अनिल शर्मा, अतिक्रमण निरोधक दस्ता एवं हाउसिंग बोर्ड थाना के प्रभारी अधिकारी तनसिंह पुलिस जाब्ता सहित मौके पर मौजूद थे। 2 जेसीबी 8 टै्रक्टर की सहायता से सडक़ मार्ग में बाधक अतिक्रमणों को बड़ी मात्रा में ध्वस्त किया गया। प्राधिकरण के अधिकारियों द्वारा मौके से अतिक्रमण ध्वस्त करने के दौरान करीब 70 ट्रोली मलबा हटाया गया। आम निवासियों में खुशी की लहर छा गई। प्राधिकरण द्वारा अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही निरन्तर जारी रहेगी।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top