edvertise

edvertise
barmer



जैसलमेर, सीमावर्ती ग्राम पंचायत भारेवाला में रात्रि चैपाल में जिला कलक्टर ने सुनी परिवेदनाएं
सहमति से मुरब्बों पर आने-जाने के रास्तें के मामलों का निस्तारण करावें-जिला कलक्टर

चैपाल में 4 ग्रेवल सडक निर्माण की ग्रामीणों को सौगात

जैसलमेर, 05 अगस्त। जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना ने जिला मुख्यालय से लगभग 170 किलोमीटर दूर सीमावर्ती ग्राम पंचायत भारेवाला में रात्रि चैपाल के दौरान ग्रामीणों की समस्याएं सुनी एवं उनके निस्तारण का विष्वास दिलाया। चैपाल के दौरान ग्रामीणों ने गांव मंे यातायात सुविधा उपलब्ध कराने के लिए ग्रेवल सडक की जिला कलक्टर से मांग की तो उन्होंने इसको जायज मानते हुए मौके पर ही ग्राम सेवक को निर्देष दिये कि वे रमजान पुरा, तीन बीडब्ल्यूएम, 14 एनओडी, 1 टीडब्ल्यूएम चक आबादियों के लिए महानरेगा में ग्रेवल सडक के प्रस्ताव लेकर तत्काल ही स्वीकृत करावें एवं इन ग्रेवल सडकों का निर्माण पूरी गुणवता के साथ कराने के ग्राम सेवक को निर्देष दिये। इस प्रकार जिला कलक्टर की चैपाल से ग्रेवल सडक की सौगात ग्रामीणों को मिली।

रात्रि चैपाल के दौरान जिला कलक्टर ने सीमा वासियों द्वारा प्रस्तुत की गई समस्याओं के एक-एक प्रार्थना-पत्र को देखा तो उसमें अधिकांष प्रार्थना-पत्र मुरब्बों में आने-जाने के लिए रास्ता नहीं होनें, कच्ची साख को पक्की साख करानें एवं खालों की मरम्मत करानें, विद्युतीकरण सर्वे से वंचित रहीं ढाणियों का सर्वे करानें, ढाणियों में पेयजल आपूर्ति के लिए पानी की सुविधा उपलब्ध करानें के संबंध में प्रार्थना-पत्र थें। जिला कलक्टर ने मुरब्बों में आने जाने के रास्ते चक प्लान करते समय नहीं होने पर गंभीरता से लिया एवं कहा कि इन आवंटियों के लिए रास्ते की नितान्त आवष्यकता है। उन्होंने चैपाल में सभी किसानों को समझाईष की कि वे अपने मुरब्बों से भूमि समर्पित करने की कार्यवाही करें तो उन्हें कटान रास्ते की सुविधा शीघ्र ही उपलब्ध करा दी जाएगी। उन्होंने इस संबंध में उपायुक्त उप निवेषन नाचना को निर्देष दिये कि वे खातेदारों से सहमति दावा प्राप्त कर पूर्ण रूप से इस संबंध में प्रस्ताव तैयार कर आयुक्त उप निवेषन को प्रेषित कर इनका समाधान करावें। चैपाल में उपखण्ड अधिकारी रणसिंह, उपायुक्त उपनिवेषन नरेन्द्रसिंह चैधरी, तहसीलदार नारायणगिरी, विकास अधिकारी धनदान देथा, सरपंच भारेवाला श्रीमती कमला देवी, उप सरपंच इन्द्राज चैधरी, पूर्व सरपंच जीवनखां के साथ ही जिलास्तरीय अधिकारी एवं अच्छी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थें।

जिला कलक्टर को रात्रि चैपाल के दौरान सरपंच, पूर्व सरपंच एवं अन्य ग्रामीणों ने भारेवाला प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में स्थाई रूप से एएनएम लगाने की मांग की तो जिला कलक्टर ने मौके पर ही चिकित्सा विभाग के अधिकारी को निर्देष दिये कि वे कल ही एएनएम के आदेष जारी कर उनको पदस्थापित कर दें। उन्होंने ग्रामीणों को परिवार कल्याण के साधन अपनाकर सीमित परिवार की पालना करने की सीख दी। उन्होंनें संस्थागत प्रसव भी अधिक से अधिक पर जोर दिया ताकि जो प्रोत्साहन मिलता है उसका वे लाभ लें सके।

उन्होंने सरपंच एवं ग्राम सेवक को कहा कि वे अगले वर्ष के पंचायत प्लान में अधिक से अधिक कार्य खाला मरम्मत, खाला कवरिंग के साथ ही कच्ची साख से पक्की साख के निर्माण के कार्यो को लें ताकि यहां के किसानों को बहुत बडी राहत मिल सकें। उन्होंने यह भी विष्वास दिलाया कि जिन विद्यालयों में षिक्षक कम है वहां शीघ्र ही लगाने की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने पंचायत के माध्यम से नहरी क्षेत्र में जो पानी की डिग्गीयां बनी है उनकी चारदीवारी के कार्य भी लेने पर जोर दिया।

चैपाल के दौरान तालबपुरा के ग्रामीणों ने बताया कि उनके यहां विद्युत के तार ढीले एवं टूटे है जिससे पषुधन की हानि भी हुई है। जिला कलक्टर ने इसको गंभीरता से लिया एवं विद्युत विभाग के सहायक व कनिष्ठ अभियंता को मौके पर भेजा व सख्त निर्देष दिये कि वे इन सभी ढीले तारों को सही करवा दें एवं जो भी ग्रामीण विद्युत की समस्या बताता है उस पर तत्काल कार्यवाही भी करें। उन्होंनें जालूवाला से आकलवाला तक विद्युत लाईन को सही कराने, मोहम्मद की ढाणी से भारेवाला तक जो 2 किलोमीटर विद्युतलाईन जोडनी है उसको जोडने के निर्देष दिये। इसके साथ ही जालूवाला में लगे लापरवाह लाईनमैन को हटाने के निर्देष दिये। उन्होंनें मुरब्बों पर बैठे किसानों से कहा कि वे सोलर प्लेट लेकर ढाणी को विद्युतीकरण करावें। उन्होंने अधीक्षण अभियंता विद्युत को निर्देष दिये कि वे लोगों को सोलर प्लेट उपलब्ध कराने की कार्यवाही करें।

जिला कलक्टर ने जलदाय विभाग के अभियंता को निर्देष दिये कि वे भारेवाला डिग्गी की सफाई करवा दें। इसके साथ ही जितनी भी डिग्गीया नहरी क्षेत्र में है उसकी सूची उपलब्ध करावें साथ ही जिन लोगों ने ढाणियों में जीएलआर बनानें के प्रार्थना-पत्र दिये उसकी जांच कर उसके प्रस्ताव बनानें, एक टीडब्ल्यूएम डिग्गी को पाईपलाईन से जोडने के निर्देष दिये।

उन्होंने विकास अधिकारी को निर्देष दिये कि जिन लोगों के प्रधानमंत्री आवास योजना में नाम वंचित रह गए है उसकी जांच कर लें ई-मित्र पर आॅनलाईन जो आवास स्वीकृत हुए है उसकी ग्रामीणों को जानकारी भी दें। उन्होंने ग्रामसेवक को निर्देष दिये कि वे 15 अगस्त व 2 अक्टूबर को ग्रामसभा का आयोजन करावें। इसके साथ ही वार्डपंचों व ग्रामीणों को इसमें अधिक से अधिक उपस्थित रहने की बात कही। रात्रि चैपाल हाकमखां व गुलामअली के लिए भी राहतदायी रही ही कि जिला कलक्टर ने इन दोनो के यहां ग्रामसेवक को शौचालय निर्माण करानें के निर्देष दिये। उन्होंने ग्रामसेवक के साथ ही आंगनवाडी कार्यक्रर्ता एवं विद्यालयों के संस्था प्रधानों को कहा कि पंचायत में जितने भी दिव्यांग है उनका ई-मित्र पर लाकर शत्-प्रतिषत पंजीयन करावें।

सरपंच भारेवाला श्रीमती कमलादेवी ने कहा कि अगले वित्तीय वर्ष में कच्ची साख एवं पक्की साख का निर्माण कराने में पूरा सहयोग किया जाएगा वहीं पंचायत में जिन घरांे में शौचालय नहीं बनें है उनके शौचालय भी बनाएं जाएगें। जिला कलक्टर ने चैपाल में नोख नायाब तहसीलदार उपस्थित नहीं रहने पर उन्हें कारण बताओं नोटिस के निर्देष दिये।

पूर्व सरपंच जीवनखां ने जिला कलक्टर द्वारा सीमावर्ती गांव के लोगों की समस्या सुननें के लिए रखी गई रात्रि चैपाल के प्रति आभार जताया एवं आषा जताई कि उनकी चैपाल से लोगों की समस्याओं का अवष्य समाधान होगा। चैपाल में ग्रामीणों ने पूरी जागरूकता दिखाई एवं अपनी व्यक्तिगत व सार्वजनिक समस्याओं को रखा। इस प्रकार देर रात तक भारेवाला में रात्रि चैपाल खुब जमीं एवं लोगों के लिए राहतदायी भी रहीं। चैपाल के दौरान अधिकारियों ने विभाग में संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं की भी पूरी जानकारी प्रदान की एवं उसका लाभ उठानें का आग्रह किया।

-----000-----



तहसीलदार 3 दिवस में सामान्य आवंटन के फोटो फाॅर्मो की

जांच कर उपनिवेषन विभाग को उपलब्ध करावें-जिला कलक्टर


जैसलमेर, 05 अगस्त। जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना ने उपनिवेषन क्षेत्र में सामान्य आवंटन के लिए प्रस्तुत किए गए फोटो फाॅर्म आवेदनों की जांच कर अभी तक राजस्व तहसीलदारों एवं नायाब तहसीलदारों द्वारा नहीं प्रस्तुत करने को गंभीरता से लिया एवं सख्त निर्देष दिये कि वे 3 तीन दिवस में उनके तहसील में उपलब्ध इन फोटो फाॅर्मों की जांच कर उप निवेषन विभाग को उपलब्ध करा दंे। उन्होंने उपनिवेषन विभाग के अधिकारियों को निर्देष दिये कि वे तहसीलदारों द्वारा प्रस्तुत किए जाने वाले फोटो फाॅर्मो का सत्यापन भी करावें। उन्होंने इस कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता से लेते हुए करने के निर्देष दिये एवं यह भी हिदायत दी कि समय पर कार्य नहीं हुआ तो संबंधित तहसीलदार, नायाब तहसीलदार के खिलाफ कार्यवाही भी अमल में लाई जा सकती है।

राजकीय भूमि पर किए गए अतिक्रमण को तत्काल हटावें

जिला कलक्टर मीना ने शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित फोटो फाॅर्म जांच की प्रगति, वृहद् मतदाता पंजीयन अभियान, स्वच्छ भारत मिषन की प्रगति की समीक्षा बैठक में यह निर्देष दिये। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर के.एल.स्वामी, उपखण्ड अधिकारी रणसिंह, हंसमुख कुमार, उपायुक्त उपनिवेषन नाचना नरेन्द्रकुमार चैधरी के साथ ही राजस्व, उपनिवेषन के तहसीलदार व नायाब तहसीलदार उपस्थित थें। जिला कलक्टर ने उपनिवेषन एवं राजस्व की सरकारी भूमि पर अतिक्रमण की चर्चा करते हुए उपनिवेषन विभाग के अधिकारियों एवं राजस्व तहसीलदारों को निर्देष दिये कि वे 3 दिवस में प्रत्येक ग्रामवार पटवारियों से राजस्व भूमि पर किए गए अतिक्रमणों की सूचना पेष करें। उन्होंने उपनिवेषन विभाग के अधिकारियों को सख्त निर्देष दिये कि वे एक विषेष अभियान चलाकर अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही गंभीरता से कर लें अन्यथा उन्हें परिणाम भुगतना पडेगा। उन्होंने यह भी हिदायत दी कि अतिक्रमण के मामलें में किसी प्रकार की गलत सूचना पाई गई तो उसके भी परिणाम भुगतनें पडेगें। उन्होंने अवैध रूप से राजस्व भूमि पर अतिक्रमण करके काष्त की है उस फसल को नष्टीकरण करने की कार्यवाही करने के निर्देष दिये। उन्होने यह भी निर्देष दिये कि अतिक्रमण के मामलों को तहसीलदार स्वयं जांच लें एवं आदतन अतिक्रमिणयांे के विरूद्व सख्त कार्यवाही करें।

अतिवृष्टि से फसल खराबें की रिपोर्ट पेष करें

जिला कलक्टर ने बैठक के दौरान राजस्व एवं उपनिवेषन विभाग के अधिकारियों को निर्देष दिये कि अतिवृष्टि के कारण जिन गांवों में फसल खराबा या अन्य हानि हुई है उसकी रिपोर्ट 15 अगस्त से पूर्व पेष कर दें।

अतिरिक्त जिला कलक्टर के.एल.स्वामी ने विभागीय अधिकारियों को निर्देष दिये कि वे अतिवृष्टि के दौरान जो भी क्षति हुई है उसकी निर्धारित प्रपत्र में सूचना शीघ्र पेष करें।

अभियान के दौरान मतदाता पंजीयन के आवेदनों का निस्तारण करें

जिला कलक्टर ने उपखण्ड अधिकारियों व तहसीलदारों को निर्देष दिये कि जिले में संचालित किए गए वृहद् मतदाता पंजीयन अभियान के दौरान फार्म नम्बर 6,7,8 के जो भी आवेदन पत्र प्राप्त हुए है उनका शीघ्र निस्तारण करें एवं निर्धारित प्रपत्र में सूचना पेष करें। उन्होंने डुप्लिेकेट मतदाताओं के नाम हटानें, ग्रामीण क्षेत्र के मतदान केन्द्रों का नायाब तहसीलदारों व शहरी क्षेत्र के नगरीय निकाय के अधिकारियों को भौतिक सत्यापन करानें के निर्देष दिए। उन्होंने यह भी निर्देष दिये कि जिन बूथ लेवल अधिकारियों ने शून्य की सूचना भेजी है उनको नोटिस भी जारी करें।

अतिरिक्त जिला कलक्टर ने अभियान के दौरान प्राप्त मतदाता पंजीयन आवेदन पत्रों की आॅनलाइन फिडिंग 10 अगस्त से पूर्व कराने के निर्देष दिये।

31 अगस्त तक जिले को ओडीएफ करावें

जिला कलक्टर ने बैठक के दौरान स्वच्छ भारत मिषन अभियान की प्रगति की समीक्षा की एवं विकास अधिकारियों को निर्देष दिये कि वे तीनों पंचायत समितियों को 31 अगस्त तक ओडीएफ करावें ताकि यह जिला इस तिथि तक ओडीएफ हो। उन्होंने विकास अधिकारियों को शौचालयों के भुगतान शीघ्र करनें एवं जिन पंचायतों में शौचालय निर्माण करानें है उनमें शीघ्र ही शौचालय निर्माण कराने के निर्देष दिये। उन्होंने नगरीय निकाय के अधिकारियों को निर्देष दिये कि वे शहरी क्षेत्रों को भी शीध्र ही ओडीएफ करावें।

उन्होंनें बैठक के दौरान विकास अधिकारियो को ग्रामीण क्षेत्रों में प्राचीन पेयजल के स्त्रोत बेरियों, बावडियों व कुओं का 15 दिवस में सर्वे करवाकर उसकी सूची ग्रामवार उपलब्ध करावें ताकि इन बेरियों को सुद्वढीकरण करवाया जा सकें।

------000-----

जिले में एक भी विषेष योग्यजन पंजीयन से वंचित नहीं रहें-जिला कलक्टर

जिले में 21 से 27 अगस्त तक दिव्यांगों के पंजीयन के लिए चलेगा सप्ताह


जैसलमेर, 05 अगस्त। जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा पण्डित दीनदयाल उपाध्याय विषेष योग्यजन षिविर-2017 के कार्यक्रम चलाया जा रहा है जिसका मुख्य उद्देष्य विषेष योग्यजनों को सषक्तिकरण करना एवं सरकार की कल्याणकारी योजनाओं से उन्हें लाभान्वित करना है। उन्होंने विषेष योग्यजन पंजीयन से जुडें सभी विभागीय अधिकारियों को सख्त निर्देष दिये कि वे पात्र विषेष योग्यजनों का चिन्ह्किरण कर शत्-प्रतिषत पंजीयन 31 अगस्त तक करवाना सुनिष्चित करें। उन्होंनें कहा कि 21 से 26 अगस्त तक दिव्यांगों के पंजीकरण के लिए विषेष अभियान चलाया जावें एवं इस दौरान अभियान से जुडे सभी विभाग पूरी रूचि दिखाते हुए जो 21 प्रकार के दिव्यांग निर्धारित किए गए है उनका अधिक से अधिक पंजीयन करवाकर प्रगति लावें।

जिला कलक्टर मीना ने कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित विषेष योग्यजन पंजीयन की प्रगति समीक्षा बैठक के दौरान यह निर्देष दिये। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर के.एल.स्वामी, उपखण्ड अधिकारी हंसमुख कुमार, रणसिंह के साथ ही षिक्षा, महिला एवं बाल विकास, नगरीय निकाय के अधिकारी उपिस्थत थें।

जिला कलक्टर मीना ने विषेष योग्यजन के पंजीयन की कम प्रगति पर असंतोष जताया एवं सख्त निर्देष दिये कि सभी अधिकारी इसमें गंभीरता से कार्य करते हुए शत्-प्रतिषत विषेष योग्यजनों का आॅनलाईन पंजीयन सुनिष्चित करावें। उन्होंने सबसे पहले जितने भी पेंषनधारी निःषक्तजन है उनका पंजीयन सुनिष्चित करें। उन्होंने विकास अधिकारियों को निर्देेष दिये कि वे अभियान के दौरान ग्रामीण क्षेत्र में जो भी निःषक्तजन विद्यालय में नहीं जा रहा है एवं न ही आंगनवाडी केन्द्र पर पंजीकृत है उन सभी के पंजीयन के लिए ग्रामसेवकों को पाबंद कर दें। उन्होंने यह भी हिदायत दी कि वे इस अभियान में ई-मित्र केन्द्र संचालक को भी पाबंद कर दें कि वे पूरी सुविधा के साथ उपस्थित रहकर उनका आॅनलाइन पंजीयन करावें।

उन्होंने नगरीय निकाय के अधिकारियों को भी निर्देष दिये कि शहरी क्षेत्र में जो भी निःषक्तजन विद्यालय में नहीं जा रहा है एवं न ही आंगनवाडी केन्द्र पर पंजीकृत है उन सभी के पंजीयन की कार्यवाही करवा दें एवं इस कार्य में किसी प्रकार की षिथिलता नहीं बरतें। उन्होंने इसके लिए वार्ड पार्षदों का भी पूरा सहयोग लेने के निर्देष दिये।

उन्होंने षिक्षा अधिकारियों को निर्देष दिये कि वे यह सुनिष्चित करें कि जितने भी विषेष योग्यजन उनके विद्यालयों में अध्ययनरत है उनका शत्-प्रतिषत पंजीयन हो जाना चाहिए एवं कोई भी पात्र विद्यार्थी विषेष योग्यजन वंचित नहीं रहें। उन्होेंने महिला एवं बाल विकास के परियोजना अधिकारियों एवं महिला पर्यवेक्षकों को भी सख्त निर्देष दिये कि जो भी विषेष योग्यजन आंगनवाडी केन्द्र में पंजीकृत है उसका शत्-प्रतिषत पंजीयन करवा दें।

उन्होंने सहायक निदेषक को निर्देष दिए कि वे अभियान के दौरान प्रभावी माॅनेटरिंग के लिए जिला स्तरीय अधिकारियों की ग्रामपंचायत वार ड्यूटी लगावें साथ ही पंचायत समिति एवं नगरीय निकाय क्षेत्र के ग्रामसेवक व महिला पर्यवेक्षक, पंचायत षिक्षा प्रसार अधिकारी का भी प्रषिक्षण निर्धारित कर उन्हें इसकी पूरी जानकारी दें एवं यह हिदायत दें कि वे पंजीयन कार्य को प्राथमिकता से करें। इस अभियान से संबंधित प्रचार सामग्री की भी ग्रामपंचायत, आंगनवाडी केन्द्र व विद्यालय स्तर पर उपलब्ध कराने के निर्देष दिये।

जिला कलक्टर ने महिला पर्यवेक्षकों को निर्देष दिये कि वे फील्ड में अधिक से अधिक भ्रमण कर आंगनवाडी केन्द्रों का सुचारू रूप से संचालन करावें एवं 8 अगस्त को सेक्टर की बैठक लेकर कार्यक्रर्ताओं को दिव्यांगों का पंजीयन ई-मित्र पर आॅनलाईन कराने के लिए पाबंद करें। उन्होंनें यह भी हिदायत दी कि जो महिला पर्यवेक्षक पंजीयन कार्य में लापरवाही बरतेगी उनको नोटिस भी उपनिदेषक जारी करें। उन्होंनंे आंगनवाडी केन्द्रों पर लगाएं गए पौधारोपण पर वृक्षों के नामकरण कर राखी बंधन कार्यक्रम भी आयोजित करने के निर्देष दिये।

सहायक निदेषक कविया ने बताया कि इस अभियान में प्रथम चरण में 24 सितम्बर 2017 तक विषेष योग्यजनों का ई-मित्र/अटल सेवा केन्द्र पर वेबसाईट ूूूण्ेेवण्तंरंेजींदण्हवअण्पद पर निःषुल्क पंजीयन किया जा रहा है इसलिए सभी अधिकारी इसमें पूरा सहयोग कर जो 21 प्रकार की निःषक्तता की श्रेणियां निर्धारित की गई उन सभी विषेष योग्यजनों का पंजीयन अवष्य करावंे। उन्होंने अब तक हुए पंजीयन की प्रगति की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस अभियान में मूलनिवास प्रमाण-पत्र, ब्लड ग्रुप इत्यादि दस्तावेजों में भी छूट दे दी है इसलिए अब आसानी के साथ पात्र दिव्यांगों का आॅनलाईन पंजीयन कर 10 अगस्त तक अच्छी प्रगति लावें। उन्होंने षिक्षा विभाग के अधिकारियों एवं महिला पर्यवेक्षकों से भी कहा कि वे पालनहार योजना के अन्तर्गत उनके वहां अध्ययनरत बच्चों के संबंध में अध्यययरत प्रमाण-पत्र सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग जैसलमेर को प्रस्तुत करें ताकि उनके आॅनलाईन फिडिंग की जा सकें।



-----000------



महिला पर्यवेक्षक रहेगी मुख्यालयों पर, आंगनवाडी केन्द्रों के संचालन में लाएगी सुधार

जैसलमेर, 05 अगस्त। जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना की बैठक के दौरान महिला पर्यवेक्षक पुष्पा जयपाल ने बताया कि वे मोहनगढ मुख्यालय पर रहती है वहीं अन्य पर्यवेक्षकों ने भी विष्वास दिलाया कि वे भी अपने मुख्यालय पर रहकर आंगनवाडी केन्द्रों का प्रभावी ढंग से संचालन कराएगी एवं निरीक्षण भी करेंगी। उन्होंनें यह भी विष्वास दिया कि वे कंधे से कंधा मिलाकर दिव्यांग पंजीयन में भी विषेष कार्य करके आंगनवाडी केन्द्रों पर जो भी पात्र दिव्यांग है उनका अवष्य ही पंजीयन कराएगी।

महिला पर्यवेक्षकों ने यह भी विष्वास दिलाया कि वे केन्द्रों पर जितने भी पौधें लगाएं है उनकी सार संभाल के लिए आंगनवाडी कार्यक्रर्ताओं को पाबंद भी करेगें एवं उन वृक्षांे का नामकरण करके उनको रक्षाबंधन के दिन राखी भी बंधवाएगी। इसके साथ ही केन्द्रों पर बच्चों को अच्छा पोषाहार मिलें एवं शालापूर्व षिक्षा मिलें इसेक लिए भी भरसक प्रयास करेगी।

-----000-----

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top