edvertise

edvertise
barmer



जैसलमेर, जिला कलक्टर मीना ने सीमावर्ती ग्रामपंचायत पोछीणा में

रात्रि चैपाल में सुनी ग्रामीणों की परिवेदनाएं

पषु पालको को पषु बाडें का दिया तोहफा, बींजराज तला कटाण मार्ग से हटेगा अतिक्रमण


जैसलमेर, 09 अगस्त। जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना ने जिला मुख्यालय से लगभग 140 किलोमीटर दूर सीमावर्ती ग्रामपंचायत पोछीणा में रात्रि चैपाल के दौरान सीमावासियों की समस्याएं सुनी एवं उनके निराकरण का विष्वास दिलाया। जिला कलक्टर ने रात्रि चैपाल में 115 बीपीएल परिवारों के यहां पषुबाडा स्वीकृत कराने, बींजराज का तला से पोछीणा सीधे 3 किलोमीटर कटाण मार्ग पर किये गये अतिक्रमण को हटाने, किसानों के अनुदानित जल हौज की स्वीकृति दिलाने का तोहफा दिया। इस प्रकार पोछीणा पंचायत के वासिंदों के लिए रात्रि चैपाल राहतदायी रही।

जिला कलक्टर मीना ने रात्रि चैपाल के दौरान वार्ड पंच स्वरूपसिंह के साथ ही ग्रामीणों से मुख्य समस्याओं की जानकारी ली तो उन्होंने पोछीणा में भूमिहीन लोगों को भूमि आवंटन कराने, विषेष केटेगरी में कृषि नलकूपों को विद्युत कनेक्षन करानें, महानरेगा में रोजगार दिलाने, बींजराज तला को ग्रेवल सडक से जोंडनें, पषु चिकित्सा की सुविधा एवं पषुधन सहायक लगाने, सीमा तारबंदी के पास जिन खातेदारों की भूमि उसका हस्तान्तरण कर पोछीणा में भूमि आवंटन कराने की मांग रखी। रात्रि चैपाल में उपखण्ड अधिकारी हंसमुख कुमार, विकास अधिकारी सुखराम विष्नोई, नायाब तहसीलदार भागीरथसिंह चारण, वार्ड पंच स्वरूपसिंह, समाजसेवी खुमानसिंह, जितेन्द्र कुमार, सुमेरसिंह सोढा सहित अच्छी संख्या में ग्रामीणजन व विभागीय अधिकारी उपस्थित थें।

कटाण मार्ग से हटावें अतिक्रमण

चैपाल में ग्रामीणों ने बताया कि पोछीणा आने वाले कटाण मार्ग जो सीधे रूप से 3 किलोमीटर एवं घूमकर आने से 10 किलोमीटर वहां पर लोगों द्वारा अतिक्रमण किए जाने से विद्यार्थियों को लम्बी दूरी तय करनी पडती है। जिला कलक्टर ने इसे गंभीरता से लिया। उपखण्ड अधिकारी एवं नायाब तहसीलदार को निर्देष दिये कि वे तत्काल इसकी पैमाईष कर अतिक्रमण हटा दें। उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि राजकीय भूमि पर कही भी अतिक्रमण नहीं करें।

पषु चिकित्सा अधिकारी कैम्प लगाकर स्वास्थ्य बीमा करें पषुओं का

जिला कलक्टर ने ग्रामीणों के प्रार्थना पत्र पर पषु चिकित्सा अधिकारी म्याजलार को निर्देष दिये कि बुधवार से तीन-चार दिन पोछीणा में कैम्प कर पषुओं का पषु स्वास्थ्य बीमा योजना में बीमा करोंव, नकारा बेलों का वद्वियाकरण इसकी रिपोर्ट पेष करें। उन्होंनंे ग्रामीणों को बताया कि शीघ्र ही पषु चिकित्सा केन्द्र पर पषुधन सहायक भी लगा दिया जाएगा।

पषुवाडो की स्वीकृति का मिलें लाभ

चैपाल में जिला कलक्टर ने विकास अधिकारी एवं ग्राम सेवक को निर्देष दिये कि 115 बीपीएल परिवारों के वहां पषुवाडे की स्वीकृति कर उसका निर्माण करावें वहीं वर्मी कम्पोस्ट खाद की सुविधा दिलावें।

महानरेगा पर मिलेगा रोजगार

चैपाल में जिला कलक्टर ने ग्रामसेवक को निर्देष दिये कि 18 अगस्त के पखवाडे में कार्य स्वीकृत कर ईच्छुक व्यक्तियों को रोजगार उपलब्ध करावें। उन्होंने पंचायत को शीघ्र ओडीएफ कराने एवं जिन लोगों को शौचालय का भुगतान नहीं मिला उन्हें शीघ्र भुगतान करान, बींजराजसिंह तला की ग्रेवल सडक का निर्माण कराने के निर्देष दिये।

ढाणियों के आबादी प्रस्ताव बनावें

ग्रामीणों की मांग पर जिला कलक्टर ने नायाब तहसीलदार एवं पटवारी को निर्देष दिये कि वे मंगलसिंह की ढाणी, मोडसिंह की ढाणी, सोहनसिंह की ढाणी के आबादी के प्रस्ताव तैयार कर उसकी स्वीकृति करावें।

भूमि परिवर्तन के प्रस्ताव पेष करें

जिला कलक्टर ने सीमा तारबंदी के पास खातेदारों की भूमि है उनके परिवर्तन के मामलें में उपखण्ड अधिकारी को प्रस्ताव तैयार कर पेष करने के निर्देष दिये ताकि इस प्रकरण में राज्य सरकार से स्वीकृति कराई जा सके। उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि वे पहले राजकीय भूिम पर किए गए अतिक्रमण को हटावे तो भूमिहीनों को भूमि आंवटन की कार्यवाही के संबंध में आवष्यक कार्यवाही का विष्वास दिलाया।

नलकूप धारियों के यहां करें जल होज की स्वीकृति

जिला कलक्टर ने कृषि विभाग के अधिकारी को निर्देष दिये कि वे नलकूप धारियो के यहां अनुदानित जल हौज की स्वीकृति करोवं वहां ग्रामीणों की मांग पर वर्मी कम्पोस्ट खाद के लिए स्वीकृति कराने के निर्देष दिये।

योजनाओं का उठाएं लाभ

रात्रि चैपाल में अधिकारियों ने ग्रामीणों को राज्य सरकार कल्याणकारी एवं फ्लेगषिप योजनाओं की जानकारी दी एवं उसका भरपूर लाभ उठाने का आग्रह किया।

खुब जीम रात्रि चैपाल

पोछीणा में रात्रि चैपाल खुब जमीं एवं ग्रामीणों को इसका फायदा भी मिला है। ग्रामीणों ने सजगता के साथ अपनी समस्याओं को रखा।

------000------

बीएडीपी में 2016-17 के स्वीकृत कार्यो को 31 अक्टूबर तक पूर्ण करावें-जिला कलक्टर

कार्यो की गुणवता पर विषेष ध्यान देनें एवं पूर्णता प्रमाण पत्र पेष करने के दिये निर्देष

जैसलमेर, 09 अगस्त। जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना ने सीमा क्षेत्र विकास कार्यक्रम के कार्यो की प्रगति की विस्तार से समीक्षा करते हुए इस कार्यक्रम से जुडें लाईन डिपार्टनेन्ट के अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे वर्ष 2016-17 के बकाया कार्यो को 31 अक्टूबर तक अनिवार्य रूप से पूर्ण करावें। उन्होंनंे हिदायत दी कि बीएडीपी को गंभीरता से लें एवं सभी स्वीकृत कार्यो को समय सीमा में पूर्ण करावें। उन्होंनें कडे निर्देष दिये कि कार्य देरी को बर्दास्त नहीं किया जाएगा एवं कार्य देरी होने पर संबंधित एजेन्सी को नोटिस भी जारी किए जाएगें।

आधारभूत सुविधाएं विकसित करें

जिला कलक्टर, मीना ने बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार मे आयोजित बीएडीपी की समीक्षा बैठक में यह निर्देष दिये। उन्होंने बीएडीपी में विषेष रूप से आमजन से जुडें पेयजल, विद्युत, सार्वजनिक निर्माण विभाग को निर्देष दिए कि वे इसमें विषेष रूचि दिखाकर कार्यो को निर्धारित की गई समयसीमा में पूर्ण करावें। उन्होंनें बैठक में वर्ष 2014-15, 2015-16 एवं 2016-17 के कार्यो की प्रगति की लाईन डिपार्टमेन्ट वार विस्तार से समीक्षा की एवं कार्य देरी पर असंतोष व्यक्त किया। उन्होंनें कहा कि इस कार्यक्रम में भारत सरकार का पैसा है इसलिए समय पर आंवटित धनराषि को खर्च कर आधारभूत सुविधाएं विकसित करावें।

जिला कलक्टर ने तीनों विकास अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे वर्ष 2016-17 तक के सभी कार्यो को 31 अक्टूबर तक पूर्ण करवाकर पूर्णता प्रमाण पत्र पेष करें। उन्होंनें कार्यकारी एजेन्सी के अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे बीएडीपी के कार्यो की गुणवता पर विषेष ध्यान रखें एवं उसकी प्रभावी माॅनेटरिंग करें।







बैठक में अधीक्षण अभियंता विद्युत सी.एस.मीना, पीडब्लयूडी सुनील कालानी, विकास अधिकारी सम समिति सुखराम विष्नोई, जैसलमेर धनदान देथा, सांकड़ा नारायणलाल सुथार, जलदाय विभाग के अधिषाषी अभियन्ता पराग स्वामी, एस.डी. सोनी, दिनेष नागौरी उपस्थित थे।

---000---

सांसद एवं विधायक स्थानीय क्षेत्र विकास योजना के कार्यो

को समय पर पूर्ण करावें - जिला कलक्टर

जैसलमेर, 09 अगस्त। जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना ने सांसद एवं विधायक स्थानीय विकास योजना की प्रगति की समीक्षा करते हुए विकास अधिकारियों के साथ ही अन्य लाईन डिपार्टमेन्ट को निर्देष दिए कि वे इस योजना में वर्ष 2015-16 एवं 2016-17 तक के सभी कार्याें को शीघ्र ही पूर्ण करवा दें इसमे किसी प्रकार की षिथिलता नहीं बरतें ।

उन्होंने वर्षवार कार्यो की प्रगति की समीक्षा की तो ध्यान में आया कि कुछ कार्यो की स्वीकृति के बाद राषि प्रदान करने के बाद भी कार्य चालू नहीं हुए तो उन्होंने इसे गंभीरता से लिया एवं विकास अधिकारी जैसलमेर को निर्देष दिये कि जिन 19 मामलों में वसूली प्रस्तावित की गई है ऐसे मामलों में संबंधित ग्रामसेवक एवं सरपंच के खिलाफ कार्यवाही अमल में लावें।

उन्होंने विकास अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे इस योजना में व्यक्तिगत रूचि लेकर कार्यो को समय पर पूर्ण करावें एवं कार्यो पूर्णता प्रमाण पत्र पेष करें। उन्होंने इस योजना में कार्यो में देरी नहीं करने की हिदायत दी एवं समय पर अनुषंषित कार्यो को पूर्ण करानें पर जोर दिया। उन्होंने अधिषाषी अभियंता को निर्देष दिये कि एमपी व एमएलए लेड मे स्वीकृत कार्यो, उनकी तकनीकी स्वीकृति, वित्तीय स्वीकृति, कार्य चालू करने एवं पूर्ण करने की तिथि सहित पूरी सूचना प्रस्तुत करें। उन्होंने इस योजना में नई गाईड लाईन के अनुरूप कार्य कराने पर जोर दिया।

अधिषाषी अभियंता जिला परिषद ने सांसद एवं विधायक स्थानीय क्षेत्र विकास योजना की वर्ष वार प्रगति की जानकारी दी।

----000----

मनरेगा में श्रमिकों के खातों का आधार सीडिंग शत्-प्रतिषत करावें - जिला कलक्टर

समय पर श्रमिकों का भुगतान कराने के दिए निर्देष


जैसलमेर, 09 अगस्त। जिला कलक्टर कैलाष चन्द मीना ने महात्मा गांधी नरेगा योजना की प्रगति की विस्तार से समीक्षा करते हुए तीनों विकास अधिकारियों को निर्देष दिये कि वे महानरेगा में श्रमिकों के खातों का शत्-प्रतिषत आधार सीडिंग करावें। उन्होंनंे आधार कन्सेन्ट बैंक प्रगति की समीक्षा की एवं विकास अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे इसके लिए बैंकर्स अधिकारियों के साथ बैठक कर शत्-प्रतिषत खातों को आधार आधारित लिंकेज कराने की कार्यवाही करें।

जिला कलक्टर मीना ने कलक्टेªट सभागार में आयोजित मनरेगा एवं अन्य विकास योजनाओं की प्रगति समीक्षा बैठक ले रहे थे। उन्होंने तीनों विकास अधिकारियों को निर्देष दिए कि वे महानरेगा पर श्रमिकों के नियोजन में बढोतरी लावें।

समय पर करें श्रमिको को भुगतान

उन्होने विकास अधिकारियों को निर्देष दिये कि वे श्रमिकों को समय पर भुगतान करावें। उन्होंने यह भी हिदायत दी कि श्रमिकों को किसी भी सूरत में देरी से भुगतान न हो इस बात का विकास अधिकारी विषेष ध्यान रखें एवं विलम्ब होने पर संबंधित से क्षतिपूर्ति राषि का भुगतान करवाना सुनिष्चित करें। उन्होंनंे समीक्षा के दौरान पाया कि सांकडा समिति में 13.94 प्रतिषत विलम्ब से भुगतान होने से जिले की रैकिंग पीछे आ जाती है इसलिए निर्देष दिये कि वे भुगतान को समय पर करवाकर इस प्रतिषत को शून्य की स्थिति में लावें। उन्होंने यह भी सख्त निर्देष दिये कि जो जेटीए कार्य नहीं करते है उनके खिलाफ कार्यवाही अमल में लावें।

प्रधानमंत्री आवास योजना में तृतीय किष्त जारी करें

जिला कलक्टर ने प्रधानमंत्री आवास योजना की प्रगति की समीक्षा करते हुए तीनों विकास अधिकारियों को निर्देष दिये कि वे लाभार्थियों के जो आवास पूर्ण हो गये है उनकी तृतीय किष्त 31 अगस्त तक जारी कर दें। उन्होंने यह भी निर्देष दिये कि विकास अधिकारी उनके समिति में स्वीकृत शत्- प्रतिषत प्रधानमंत्री आवासों का मौके पर जाकर भौतिक सत्यापन करेगें।

इन्होंनें दी जानकारी

अधिषाषी अभियंता फकीरचंद ने बताया कि वर्तमान में महानरेगा के तहत 1628 कार्य चल रहें है जिन पर 22717 श्रमिक कार्यरत है। उन्होंनें बैठक के दौरान विलंबित भुगतान, बकाया दायित्वों, आधार सीडिंग, जाॅब कार्ड सत्यापन, जियो टेगिंग की प्रगति पर विस्तार से प्रकाष डाला।

----000----



0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top