edvertise

edvertise
barmer



बालिकाएं आगे बढ़ें, सपनों को साकार करें- श्रीमती माहेश्वरी

राजकीय महिला इंजीनियरिंग काॅलेज में इनक्यूबेशन सेन्टर का शुभारम्भ


अजमेर, 01 अगस्त। उच्च एवं संस्कृत शिक्षा मंत्राी श्रीमती किरण माहेश्वरी ने कहा कि इंजीनियरिंग काॅलेजों में बनने वाले इनक्यूबेशन सेन्टर भविष्य में इंजीनियरिंग की प्रतिभाओं और उनके सपनों को पंख देंगे। यह इंजीनियरिंग कर रही बालिकाओं के लिए भी एक बड़ी सौगात है। इन केन्द्रों में नवाचारों के जरिए बालिकाएं आगे बढ़कर अपने सपनों को साकार कर सकती है।

उच्च एवं संस्कृत शिक्षा मंत्राी श्रीमती किरण माहेश्वरी ने आज राजकीय महिला इंजीनियरिंग काॅलेज में शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्यमंत्राी श्री वासुदेव देवनानी तथा महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्राी श्रीमती अनिता भदेल के साथ इनक्यूबेशन सेन्टर का शुभारम्भ किया। उन्होंने कहा कि इंजीनियरिंग काॅलेजों में स्थापित किए जाने वाले यह इनक्यूबेशन सेन्टर प्रतिभाओं को संवारने वाले साबित होंगे। इससे युवा स्वरोजगार की ओर अपने कदम बढ़ा सकेंगे।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्राी श्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्राी श्रीमती वसुन्धरा राजे चाहते है कि हमारे युवा नौकरियों के पीछे ना भागकर स्वयं नौकरी देने वाले बने। ऐसे युवाओं को प्लेटफोर्म देने के लिए यह इनक्यूबेशन सेन्टर शुरू किए जा रहे है। इन सेन्टरों को इंडस्ट्री के साथ भी जोड़ा जाएगा ताकि उनकी जरूरतों और भविष्य की योजनाओं पर काम किया जा सके। इससे राजस्थान की पूरे देश में नई पहचान बनेगी।

शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्य मंत्राी श्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि जीवन में आगे बढ़ने और सफलता हासिल करने के लिए सपनों का होना जरूरी है। यह इनक्यूबेशन सेन्टर इसी तरह के सपनों को साकार करने के लिए बनाया गया है। विद्यार्थी अनुशासन, विनम्रता, समर्पण से नए आइडिया पर काम करें तो वे अच्छे उद्यमी भी बन सकते है। कार्यक्रम में महिला एवं बाल विकास मंत्राी श्रीमती अनिता भदेल, अध्यक्ष श्री अरविंद यादव, प्राचार्य श्री अजय कुमार जेठू सहित अन्य जनप्रतिनिधि, शिक्षक व विद्यार्थी उपस्थित थे।


अरापीएससी के बाहर निषेधाज्ञा लागू
अजमेर, 01 अगस्त। जिला मजिस्ट्रेट श्री गौरव गोयल ने राजस्थान लोक सेवा आयोग के बाहर 300 मीटर की परिधि में आगामी दो माह तक निषेधाज्ञा लागू की है। इस अवधि में आयोग के बाहर किसी तरह का धरना प्रदर्शन नहीं किया जा सकेगा। जिला मजिस्ट्रेट श्री गोयल ने बताया कि आयोग के बाहर धरना प्रदर्शन आदि से कार्य संचालन में व्यवधान उत्पन्न होता है। साथ ही आयोग की गरिमा को भी ठेस पहुंचती है। निषेधाज्ञा का आदेश आगामी 2 माह तक लागू रहेगा।

अजमेर जिले में वर्षा

अजमेर 01 अगस्त । जल संसाधन विभाग के अनुसार एक जून से अब तक अजमेर में 284, श्रीनगर 220, गेगल में 165, पुष्कर में 225, गोविन्दगढ़ में 175, बूढ़ा पुष्कर में 150, नसीराबाद में 445, पीसांगन में 244, मांगलियावास में 331, किशनगढ़ में 263, बांदरसिदरी में 211.5, रूपनगढ़ में 384, अराई मंे 409, ब्यावर में 569 एम.एम. वर्षा रिकाॅर्ड की गई है।

इसी प्रकार जवाजा में 270, टाॅटगढ़ में 485, सरवाड़ में 219, केकड़ी में 325, सावर में 183, भिनाय में 253, मसूदा में 370.5, बिजयनगर में 447, नारायणसागर में 316 एम.एम. वर्षा दर्ज की गई। जिले में अब तक 307.92 एम. एम. औसत वर्षा रिकार्ड की गई है।




बांधो में पानी की स्थिति

अजमेर 01 अगस्त । जल संसाधन विभाग के अनुसार अजमेर के आनासागर में 13, फाॅयसागर में 9.4, रामसर में 2.2, शिविसागर न्यारा 7.1, पुष्कर में 6.6, राजियावास में 1.7, मकरेड़ा मे 9.9, अजगरा में 1.3, ताज सरोवर अरनिया में 4.2, पारा में 2.9, नारायण सागर खारी में 1.8, मान सागर जोताया में 2.5 तथा देह सागर बडली में 4.6 फीट पानी है।

इसी तरह भीम सागर तिहारी में 4.6, खानपुरा तालाब 2, चैरसियावास में 1.6, खीरसमंद रामसर में 2, लाकोलाव टैंक हनौतिया में 3, पुराना तालाब बलाड़ मे 3.2, जवाजा तालाब में 2.3, काली शंकर तालाब मे 2.7, देलवाड़ा तालाब मे 3.9, छोटा तालाब चाट में 4.6, बूढ़ा पुष्कर में 5.1, कोड़िया सागर अरांई में 3.9, जवाहर सागर सिरोंज में 3.4, सुरखेली सागर अरांई में 3.3, बिजयसागर लाम्बा में 4, विजयसागर फतेहगढ़ 2, बांके सागर सरवाड़ में 6.6 फीट पानी है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top