बाड़मेर, गांवांे मंे उचित स्थान के चयन के लिए संयुक्त सर्वे करने के निर्देश
बाड़मेर, 11 अगस्त। ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज मंत्री राजेन्द्र सिंह राठौड ने मुख्यमन्त्री जल स्वावलम्बन अभियान के अन्तर्गत तीसरे चरण में चयनित गांवों में उचित स्थान के चयन के लिए सभी सम्बन्धित विभागों को संयुक्त रूप से सर्वेक्षण करने के निर्देश दिए है।

ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री राठौड ने अभियान की प्रगति की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए बताया कि अभियान के दूसरे चरण में 4 हजार 213 गांव 6 हजार 966 शहरों में एक लाख 33 हजार से अधिक जल संरक्षण के कार्य करवाए गए है। उन्होंने कहा कि अभियान के अन्तर्गत निर्मित जल संरचनाओं में एकत्र जल राशि के उपयोग के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर जल उपयोग समितियां बनाई जाएगी। ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज मंत्री ने अभियान में लगाए जा रहे पौधों के रख-रखाव के लिए 150 पौधों पर एक व्यक्ति को नियुक्त करने के निर्देश दिए है। उन्होंने पौधारोपण में जन सहभागिता पर जोर देते हुए अभियान में चयनित क्षेत्र में पौधारोपण एवं रख रखाव के लिए वन विभाग को नई कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने अभियान के तृतीय चरण में मरूस्थलीय जिलों में 50 हजार लीटर क्षमता का एक-एक टाका पाइलेट प्रोजक्ट के रूप में बनाने के निर्देश भी दिए है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top