अब जैसलमेर में भीबनेगी नेकी की दीवार

जैसलमेर, 01 अगस्त। जिला मुख्यालय पर नगर परिषद द्वारा बुधवार को नेकी की दीवार स्थापित की जाएगी। जिसके माध्यम से जरूरतमंदों द्वारा आवष्यकता से अधिक या अनुपयोगी सामग्री वितरित हो सकेगी।

आयुक्त नगर परिषद झब्बरसिंह चैहान ने बताया कि वस्त्रांे, खिलौने, बरतन एवं अन्य सामान जो आपके द्वारा उपयोग में नहीं लिया जा रहा हो उसे नेकी की दीवार में भंेट किया जा सकता है। लोगों द्वारा सम्मानपूर्वक सप्रेम भेंट की गई कोई भी वस्तु किसी भी प्राणी के काम आ सके तो यह बहुत ही सम्मानजनक बात होगी। उन्होंने बताया कि नेकी की दीवार स्थल पर किये जाने वाला आयोजन शहरवासियों के लिये बडी गर्व की बात है। उन्होंने समस्त नगरवासियों से आग्रह किया है कि वे ज्यादा से ज्यादा संख्या में पधारकर आयोजन को सफल बनाने मे नगर परिषद का सहयोग करें। नगर परिषद जैसलमेर द्वारा नेकी की दीवार हनुमान चैराहा रेन बसेरा पर बुधवार, 2 अगस्त को प्रातः 10 बजे कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। सभी आम एवं खास नागरिक बंधुओं, गैर सरकारी संस्थानो, जिला स्तरीय अधिकारी, समस्त कर्मचारियो से आग्रह किया जाता है कि ज्यादा से ज्यादा संख्या में पधारकर कार्यक्रम को सफल बनाएं।



----000----

रल्ली के स्वयं सहायता समूह

को सुदृढ करने को प्रषिक्षण


जैसलमेर 01 अगस्त। उप वन संरक्षक, इन्दिरा गांधी नहर परियोजना स्टेज-ाा जैसलमेर के अधीन कार्यरत रल्ली बनाने वाले स्वयं सहायता समूहों तथा वन विभाग के अधिकारियों/ कर्मचारियों द्वारा जैसलमेर में मण्डल कार्यालय में ’’हस्त षिल्प’’ को अन्तर्रान्ट्रीय बाजार की मांग के अनुरुप बनाने के लिए उप वन संरक्षक, इन्दिरा गांधी नहर परियोजना स्टेज-ाा के प्रागंण में ग्रामीण विकास एवं चेतना संस्थान बाड़मेर के श्रीमती रुमा देवी अध्यक्षा सचिव विक्रमसिंह चैधरी तथा द्वारा ’’हस्त षिल्प’’ पर वार्ता एवं विचार विमर्ष किया गया। जिसमें रल्ली बाजर मूल्य बढ़ाने के लिए रल्ली की साईज बड़ी बनाने तथा अच्छी गुणवता का कपड़ा काम में लेने की सलाह दी ।

उप वन संरक्षक इन्दिरा गांधी नहर परियोजना स्टेज-ाा सुदीप कौर ने बताया कि इस मौके पर श्रीमती सुदीप कौर, भारतीय वन सेवा ने अपने अनुभवों से प्रतिभागियों को लाभन्वित करवाया। इसी क्रम में उप वन संरक्षक, इन्दिरा गांधी नहर परियोजना स्टेज-ाा जैसलमेर द्वारा रल्ली के विक्रय के लिए विभिन्न प्रदर्षनियों एवं आयोजनों के माध्यम से महिलाओं को प्रोत्साहित किया जा रहा है। 16 नवम्बर 2015 एवं 22 दिसंबर 2015 से 27 दिसंबर 2015 को सोनार किला जैसलमेर के परिसर में प्रदर्षनी का आयेाजन किया गया 16 जून 2016 को आफरी जोधपुर में भी स्टाॅल लगाकर रल्ली को प्रदर्षित किया गया।

उन्होंने बताया कि राज्य स्तरीय झालावाड़ में दिनांक 21 जुलाई को स्वयं सहायता समूह द्वारा प्रदर्षनी में भाग लेकर हस्त निर्मित उत्पादों को प्रदर्षन किया गया तथा 10 जुलाई 2017 राज्य स्तरीय वन महोत्सव जयपुर में भी हस्तषिल्प उत्पाद को प्रदर्षित किया गया । स्वयं सहायता समूह की महिलाओं द्वारा हस्त निर्मित 10 जनवरी 2017 से 13 जनवरी को फ्रॅकफर्ट, जर्मनी में आयोजित होने वाले अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार मेले ;भ्मपउ ज्मगजपसमद्ध में किया गया। विभाग द्वारा ग्रामीण विकास एवं चेतना बाड़मेर के सहयोग से समय-समय पर प्रषिक्षण एवं सुधार के लिए सुझाव लिये जाते है।

विक्रम चैधरी द्वारा स्वयं सहायता समूह के अक्सपोजर विजिट के लिए तथा रल्ली गुणवता बढाने के लिए विचार विमर्ष करने के लिए बाड़मेर में आने के लिए सभी को निमंत्रित किया।

-----000-----





पालनहार योजना में लाभान्वितों

का बायोमैट्रिक से सत्यापन होगा


जैसलमेर 01 अगस्त। पालनहार योजना का लाभ प्राप्त कर रहे पालनहारो व बच्चो का बायोमैट्रिक से भौतिक सत्यापन होने पर एसजेएमएस से एसएसओ पार्टल पर सिफटिंग होने के बाद ही भुगतान होगा। सहायक निदेषक सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग हिम्मतसिंह कविया ने बताया कि पालनहार योजना में लाभ प्राप्त कर रहे पालनहारों का बायोमैट्रिक मषीन से सत्यापन का कार्य होने के बाद ही उसे माह मार्च 2017 से बकाया किस्त का भुगतान एसएसओ पोर्टल से किया जायेगा ।

पालनहार योजना का लाभ प्राप्त कर व्यक्तियों से आग्रह है कि वे ई-मित्र के माध्यम से अपना व बच्चों का बायोमैट्रिक मषीन से एस0एस0ओ0 पोर्टल पर 5 अगस्त तक सत्यापन करा लेवें अन्यथा किसी प्रकार का भुगतान देय नहीं होगा । उन्होने बताया कि सत्यापन के लिए पालनहारो का ई-मित्र पर भामाषाह कार्ड, बच्चो के आधार , अध्ययनरत प्रमाण पत्र, बैक खाता पास बुक, ले जाना अनिवार्य होगा । इस संबंध में अधिक जानकारी कार्यालय से प्राप्त की जा सकती है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top