edvertise

edvertise
barmer



बाड़मेर पानी भराव वाले स्थानांे पर एंटी लार्वा गतिविधियां,सड़क मार्ग होने लगे दुरस्त

-बाड़मेर जिले मंे अतिवृष्टि के कारण क्षतिग्रस्त हुई सड़कांे को प्राथमिकता से दुरस्त करवाया जा रहा है।

बाड़मेर, 02 अगस्त। बाड़मेर जिले मंे जल भराव वाले स्थानांे पर चिकित्सा विभाग की ओर से एंटी लार्वा गतिविधियां चलाई जा रही है। जल भराव वाले स्थलांे पर मलेरियल लार्विसिडल आयल डाला जा रहा है। इसके अलावा क्षतिग्रस्त सड़कांे को दुरस्त कर यातायात व्यवस्था सुचारू की गई है।

जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते ने बताया कि चिकित्सा विभाग की ओर से जिले मंे एंटी लार्वा एक्टिविटिज चलाने के लिए जिला मुख्यालय पर दो, पांच मोबाइल टीमें एवं हर ब्लाक पर एक-एक रेपिड रेपोन्स टीम का गठन किया गया है। इसके अलावा धोरीमन्ना क्षेत्र मंे चार अतिरिक्त टीमें गठित की गई है। यहां अरणियाली, भाखरपुरा, भेडाणा, पीपराली, गांधवखुर्द अस्पताल के कार्मिकांे की ओर से घर-घर जाकर सर्वे करने के साथ एंटी लार्वा गतिविधियां संचालित की जा रही है। अतिवृष्टि प्रभावित क्षेत्रांे मंे चिकित्सा विभाग की मोबाइल टीम ग्रामीणांे का उपचार कर रही है। वहीं पशुपालन विभाग की टीम भी पशुआंे के उपचार मंे जुटी है। गुड़ामालानी क्षेत्र मंे उपखंड अधिकारी नाथूसिंह राठौड़, धोरीमन्ना मंे विजयसिंह नाहटा के निर्देशन मंे आपदा प्रबंधन गतिविधियां संचालित की जा रही है।

विभिन्न मार्गाें पर यातायात हुआ प्रारंभः सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता जी.आर.जीनगर ने बताया कि गुड़ामालानी क्षेत्र मंे ओगाला-बोड़ा संपर्क सड़क, मूढसर-भीमथल संपर्क सड़क एवं धोरीमन्ना क्षेत्र मंे खारी-बाछला संपर्क डामर सड़क क्षतिग्रस्त हो गई थी। इनकी मरम्मत करवाकर यातायात प्रारंभ कर दिया गया है। इसी तरह धोरीमन्ना क्षेत्र मंे संपर्क सड़क रडू से अरणियाली मुख्य सड़क पर पानी भराव से यातायात बाधित हो गया था। इसको करीब 400 मीटर ग्रेवल सड़क का बाईपास बनाकर यातायात शुरू करवाया गया। अधीक्षण अभियंता जीनगर ने बताया कि सनावड़ा बांड गुड़ामालानी सड़क मार्ग मोखाबा के पास टूट गया था। इसकी मरम्मत करवा दी गई है। उन्हांेने बताया कि चवा-सिणधरी सड़क मार्ग की मरम्मत का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है।

प्रभावित लोगांे को राहत पहुंचाने के प्रयास जारीः अतिवृष्टि से प्रभावित लोगांे को प्राथमिकता से राहत पहुंचाने के प्रयास जारी है। जिला प्रशासन के साथ विभिन्न संगठनांे की ओर से भी खाद्य सामग्री, टेंट, तिरपाल वगैरह उपलब्ध कराए जा रहे है। जनप्रतिनिधियों के साथ प्रशासनिक अधिकारी एवं कार्मिक प्रभावित इलाकांे मंे पहुंचकर प्रभावित लोगांे को राहत पहुंचा रहे हैं। फसल एवं अन्य खराबे का आकलन करवाया जा रहा है ताकि लोगों को शीघ्र सहायता दी जा सके। बारिश से बाधित कई मार्गों पर यातायात सुचारू हो गया है।

पूरे जिले मंे सामान्य विद्युतापूर्ति सामान्यः डिस्काम के अधीक्षण अभियंता मांगीलाल जाट ने बताया कि पूरे बाड़मेर जिले मंे विद्युतापूर्ति सामान्य है। अतिवृष्टि प्रभावित इलाकांे मंे भी सुचारू विद्युतापूर्ति की जा रही है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top