बाड़मेर,अतिवृष्टि इलाकांे मंे होगा डोर-टू-डोर सर्वे, नियंत्रण कक्ष स्थापित,
-ग्रामीणांे की समस्याआंे को प्राथमिकता से निस्तारण करने के लिए स्थानीय स्तर पर नियंत्रण कक्ष स्थापित
बाड़मेर, 02 अगस्त। जिले के धोरीमन्ना एवं गुड़ामालानी इलाके मंे अतिवृष्टि से प्रभावित इलाकांे मंे आमजन की समस्याआंे का प्राथमिकता से निस्तारण करने के लिए जिला प्रशासन की ओर से भाखरपुरा एवं अरणियाली मंे नियंत्रण कक्ष स्थापित किए गए है। जहां पर आमजन की समस्याआंे को प्राथमिकता से निस्तारण करने की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा चिकित्सा विभाग की टीमंे घर-घर पहुंचकर मौसमी बीमारियांे संबंधित सर्वे करेगी।

जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते ने बताया कि अरणियाली एवं भाखरपुरा मंे स्थापित किए गए नियंत्रण कक्ष मंे चिकित्सा एवं पशुपालन विभाग की टीमंे उपलब्ध रहेगी। जहां सूचना मिलने पर संबंधित इलाकांे मंे पहुंचकर आमजन की समस्याआंे का समाधान करेगी। नियंत्रण कक्ष मंे बिजली,पानी एवं मौसमी बीमारियांे संबंधित सूचना दी जा सकती है। जिला कलक्टर नकाते ने बताया कि प्रभावित परिवारांे को जिला प्रशासन की ओर से तैयार किया गया खाद्य सामग्री का किट उपलब्ध कराया गया है। इसमंे 5 किलो आटा, 2 किलो चावल, एक किलो दाल, तेल, मसाले, शक्कर एवं चाय की पत्ती तथा अन्य आवश्यक खाद्य सामग्री शामिल हैं। उन्हांेने बताया कि अतिवृष्टि प्रभावित इलाकांे मंे घर-घर सर्वे के लिए चिकित्सा विभाग की ओर से दस टीमांे का गठन किया गया है। यह टीमंे अतिवृष्टि प्रभावित इलाकांे अरणियाली, आलेटी, पुरावा, पादरड़ी, सिघासवा चौहान, रतनपुरा, भाखरपुरा, डेडावास, खारवा समेत आसपास के गांवांे मंे घर-घर सर्वे करेगी।

फसलांे मंे हुए नुकसान के सर्वे के लिए कमेटी गठितः जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते ने खड़ी फसलांे मंे बाढ़ अथवा जल भराव से होने वाले उपज के नुकसान की संभावित क्षतिपूर्ति निर्धारित करने के लिए कमेटी गठित करने के आदेश जारी किए है। इसके तहत राजस्व विभाग का प्रतिनिधि संबंधित भू-अभिलेख निरीक्षक, कृषि विभाग का प्रतिनिधि संबंधित सहायक कृषि अधिकारी एवं बीमा कंपनी का प्रतिनिधि बजाज एलाइंस जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड शामिल होगा। इस कमेटी को जिले के प्रभावित इलाकांे का संयुक्त रूप से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना खरीफ 2017 के तहत अधिसूचित फसलांे का तत्काल सर्वेक्षण एवं फसल क्षति का आंकलन कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए है। इस कार्य का पर्यवेक्षण कृषि विभाग के उप निदेशक किशोरीलाल वर्मा करेंगे।

गुड़ामालानी एवं सिणधरी क्षेत्र मंे विद्युत आपूर्ति बहालः बाड़मेर जिले के गुड़ामालानी उपखंड के 7 जीएसएस से जुड़े 41 गांवांे एवं सिणधरी के 2 जीएसएस से जुड़े 13 गांवांे मंे मंगलवार देर रात्रि से विद्युत आपूर्ति बहाल कर दी गई है। यहां लूणी नदी मंे टावर एवं विद्युत पोल गिरने से विद्युतापूर्ति बाधित हो गई थी। डिस्काम के अधीक्षण अभियंता मांगीलाल जाट ने बताया कि धोरीमन्ना, गुड़ामालानी एवं शिव क्षेत्र मंे अतिवृष्टि से बाधित हुई विद्युतापूर्ति को बहाल कर दिया गया है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top